World Aids Day:  क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड एड्स दिवस ? यहां से जाने

World Aids Day: नमस्कार मित्रों! आज के इस आर्टिकल में हम आपको World Aids Day के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं. यदि आप भी HIV ( हुमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस) के द्वारा होने वाली वैश्विक महामारी एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम के बारे में विस्तार से जानकारी चाहते हैं. तो आपके लिए हमारे इस पोस्ट में World Aids Day history से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य उपस्थित है. जिसकी जानकारी हम आप तक पहुंचा रहे हैं. उसी के साथ हम आप सभी को यहां पर World Aids Day activity के बारे में जानकारी देंगे. ताकि आप एचआईवी वायरस के कारण होने वाले वैश्विक महामारी aids को लेकर जागरूक रह सके. आप हमारे साथ अंत तक बनी रहे. ताकि आप विश्व स्वास्थ्य संगठन राष्ट्रीय, स्थानीय सरकारों तथा अंतरराष्ट्रीय संगठनों के द्वारा व्यक्तिगत सूचनाओं के आदान-प्रदान को aids के प्रति सुविधाजनक बनाया जा सके. इसके संबंध में हम यहां पर आपको World Aids Day in india की जानकारी मिलेंगे.

World Aids Day 

World Aids Day के बारे में बात करें, तो यह एक वैश्विक स्तर की महामारी है. जिसके बारे में जागरूकता हेतु वार्षिक पालन एड्रेस( एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम) तथा HIV वायरस के बारे में व्यक्तिगत स्तर पर सूचनाओं को सुविधाजनक बनाना है. 1 दिसंबर को प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है. अंतर्राष्ट्रीय संगठनों तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा पहला World Aids Day 1988 को मनाया गया था. जब लगभग 90,000 से लेकर 150,000 लोग HIV से ग्रसित थे. यही नहीं जी सभी संक्रमित होने के कारण एड्स का कारण बने दो दशकों के अंतर्गत लगभग 33 मिलियन से भी ज्यादा एचआईवी संक्रमित व्यक्ति संक्रमण के साथ जीवन यापन करते हैं. और जो देखा गया, कि 1981 में इसका पहला मामला प्रत्यक्ष सामने आया  तब लगभग 25 मिलियन इस बीमारी से ग्रसित होकर मर चुके थे. जिसके परिणाम स्वरूप अंतरराष्ट्रीय संगठनों के द्वारा लोगों में aids के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए 1 दिसंबर को हर वर्ष World Aids Day के तौर पर मनाया जाता है.

इन्हें भी पढ़ें-

World Aids Day Activity

World Aids Day: आप सभी की जानकारी के लिए बता दें, कि World Aids Day activity का मूल उद्देश्य एड्स के प्रति प्रत्येक लोगों में सूचना का वितरण करना है. जिसके अंतर्गत प्रत्येक देश विश्व भर में World Aids Day पर स्वयं का एजेंडा बनाते हैं. और कई जगहों पर World Aids Day activity तक आयोजन करवाया जाता है. अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य  विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा अंतरराष्ट्रीय विभिन्न संगठन World Aids Day activity को शुरू करने की कार्य में अग्रसर रहते हैं. यही नहीं उदाहरण के लिए संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में राष्ट्रीय वार्षिक उद्घोषणा 1 दिसंबर को प्रत्येक वर्ष करवाया जाता है. ताकि लोगों में एड्स के प्रति जागरूकता फैलाई जा सके  और एड्रेस के खिलाफ लड़ने के लिए लोगों को जन जागरूकता बनाया जा सके यही नहीं भारत में भी World Aids Day in india  विभिन्न शहरों और कस्बों में आयोजित करवाया जाता है. सप्ताह भर तक World Aids Day theme का आयोजन करवाया जाता है. जिसका मूल उद्देश्य लोगों को एड्स के प्रति जागरूक बनाना है.

World Aids Day
World Aids Day

World Aids Awareness campaign

World Aids Day को अभी तो भारत में ही नहीं बल्कि विश्व भर में मनाया जाता है. जिसके चलते  स्वास्थ्य संगठन तथा अंतरराष्ट्रीय संगठनों के द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन से व्यक्तिगत जागरूकता वर्ल्ड ऐड्रेस महामारी को लेकर फैलाना है. कहीं जगह पर यह कार्यक्रम 1 दिसंबर को सप्ताह तक चलता है. जिसके अंतर्गत विद्यालयों तथा कॉलेजों  आदि परिसरों में विद्यार्थियों के द्वारा World Aids Day theme, World Aids Day slogan, World Aids Day poster & World Aids Day important के संबंध में जानकारियां दी जाती है. इसके साथ ही वर्ल्ड एड्स डे पर ही नहीं अपितु अन्य कई बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक बनाने के लिए कई सारे अभियान सरकारों तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चलाए जाते हैं  पर्यावरण स्वास्थ्य सार्वजनिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में विश्व के प्रत्येक नागरिक को जन्म जागरूक बनाया जाता है.

World Aids Day History 

WHO ( विश्व स्वास्थ्य संगठन) के द्वारा विश्व भर में World Aids Day का आयोजन करवाया गया. संयुक्त राष्ट्र कार्यक्रम के तहत 1997 में यूएएन बनाया गया और वही WHO के द्वारा World Aids Day के प्रति जागरूकता बढ़ाने हेतु इसकी जानकारी को एकत्रित करके 2005 में WAC स्वतंत्रता के तौर पर बनाया गया. जो केपटाउन, S.Af. और एम्स्टर्डम, Neth मैं स्थित होकर समर्थक आंदोलन के रूप में कार्य कर रही है. वहीं अगर World Aids Day theme बात करें, तो विश्व में जब प्रथम World Aids Day मनाया गया तब एड्स दिवस की प्रथम थीम ‘संचार’ रखी गई थी. और वहीं वर्ष 2005 से 2022 के मध्य WAC के द्वारा ‘स्टॉप एड्स’ विषय पर जोर दिया गया. यही नहीं इसके माध्यम से केवल 1 दिसंबर को ही नहीं अभी तो विश्व भर में World Aids Day को वर्ष भर जागरूकता के साथ प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया बढ़ाया भी गया. जिसके बेहतर परिणाम देखने को मिले हैं. आज कई ऐसे लोग हैं, जो  World Aids Day को 1 दिसंबर के दिन बनाते हैं. और  काफी हद तक किस से होने वाली बीमारी के बारे में भी जानते हैं.

Join
PH Home Page Click Here