गर्मी का कहर – टूट रहा 122 साल का रिकॉर्ड: स्कूल कॉलेज बंद करने के आदेश?

Weather Report Today 2022 – गर्मी का कहर टूट रहा 122 साल का रिकॉर्ड: यूपी में 47 तो महाराष्ट्र-राजस्थान में पारा 46 पार, बुजुर्गों व बच्चों के लिए एडवाइजरी जारी – 

Weather Report Today 2022

नमस्कार दोस्तों गर्मी के मौसम से हम परिचित है अक्सर हमारे देश में गर्मी का मौसम अप्रैल से शुरू होकर मई जून तक रहता है जून के महीने में बर्षा हो जाने से थोड़ी राहत मिल जाती है दोस्तों क्या आप जानते है इस बर्ष का गर्मी के मौसम का हाल गर्मी इस बर्ष सभी रिकॉर्ड तोड़ रही है तापमान 45 से ऊपर जा रहा है ऐसे में बच्चे और बि=उजुर्गो के लिए एडवाइजरी जारी कर दी गई है जिससे की वे सुरक्षित रह सके और बीमार न हो दोस्तों बता से की इस मौसम में  डायरिया, फूड पॉय‍जनिंग आदि होने की संभावना बहुत अधिक रहती है. यही नहीं, इस मौसम ही तेज धूप और पसीने की वजह से हीट स्‍ट्रोक, डिहाइड्रेशन आदि से भी लोग बीमार हो सकते हैं.

भीषण गर्मी का कहर जारी, तापमान लगातार बड रहा है जाने देश का हाल 

देश के विभिन्न हिस्सों में गर्म हवाएं चल रही है और महाराष्ट्र के चंद्रपुर में तापमान 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. जिससे आप अंदाजा लगा सकते है की गर्मी कितनी तेज है राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अधिकतम तापमान 43.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया . यह इस महीने का सबसे अधिकतम तापमान था. वहीं न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्यिस दर्ज किया गया था, जो कि सामान्य से दो डिग्री सेल्यियस नीचे था.अप्रैल 2022 में उत्तर पश्चिमी और मध्य भारत में औसत अधिकतम तापमान पिछले 122 सालों में क्रमशः 35.90 डिग्री सेल्सियस और 37.78 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे अधिक है. पश्चिम-मध्य और उत्तर-पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों और उत्तर-पूर्व भारत के उत्तरी हिस्सों में सामान्य से अधिक अधिकतम तापमान की संभावना है.

आसमान से बरस रही है ‘आग’

भीषण गर्मी और लू के प्रकोप के कारण आम जनजीवन प्रभावित हुआ है. देश में इस बार लगभग तमाम राज्य लू और गर्मी की चपेट झेल रहे हैं. लगभग सभी राज्यों में गर्मी रिकॉर्ड तोड़ रही है. मौसम विभाग ने दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए चेतावनी जारी की है. कई प्रदेशों में तापमान 46 डिग्री तक पहुंच चुका है. भीषण गर्मी की वजह से लोगों की परेशानी बढ़ गई है. शहर चिलचिलाती धूप में तप रहा है. लोग गर्मी से राहत पाने के लिए तरस रहे हैं इस बर्ष गर्मी पिछले बर्षो की तुलना में अधिक पड़ रही है जो लोगो की समस्या का कारण बन रही है.गर्मी का आलम यह है कि यह पिछले 122 साल का रिकॉर्ड तोड़ रही है।

पारा 45 पार, टूटा 23 साल पुराना रिकॉर्ड, जानें कब होगी बारिश

भू-वैज्ञानिकों ने कहा कि पारा और चढ़ने से इनकार नहीं किया जा सकता। हालांकि, आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता कहते हैं कि हवाओं के पैटर्न में हल्के बदलाव के आसार हैं इससे पारा थोड़ा नीचे जा सकता है । अगले हफ्ते में 44 डिग्री के आसपास चढ़ता उतरता रहेगा। उन्होंने कहा कि आमतौर पर अप्रैल में पानी तो बरसता है लेकिन इस बार अप्रैल सूखा ही रह जाएगा।

देश के कुछ राज्यों में तापमान का हाल 

दिल्ली 41 डिग्री सेल्सियस
सफदरजंग वेधशाला 43 डिग्री सेल्सियस
उत्तर प्रदेश 46 डिग्री सेल्सियस
राजस्थान 46.4 डिग्री
बीकानेर 46.8 डिग्री सेल्सियस
खजुराहो 47.2 डिग्री सेल्सियस
47.2 डिग्री सेल्सियसहिमाचल प्रदेश 43 डिग्री सेल्सियस
जम्मू 42.8 डिग्री सेल्सियस
मध्य प्रदेश 44.8 डिग्री सेल्सियस
तेलंगाना 44.8 डिग्री सेल्सियस
झारखंड 45.8 डिग्री सेल्सियस
Weather Report Today 2022
Weather Report Today 2022

 

मानसून की रफ्तार भी अच्छी

बता दे की मौसम विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार इस बर्ष मानसून की रफ्तार भी अच्छी है. मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के कुछ शहरों में आने वाले दिनों में बारिश भी हो सकती है. जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है. 29 मई तक मानसून के केरल पहुंचने के आसार हैं. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक इस बार पिछले साल की तुलना में अच्छी बारिश हो सकती है.

क्या रहेगा आपके यहां का तापमान 

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में आज न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहेगा तो अधिकतम तापमान 44 डिग्री तक रहेगा। गुजरात में पारा 45 डिग्री तक जाएगा। वहीं मध्य प्रदेश में अधिकतम तापमान 43 डिग्री रहने की संभावना है। उत्तराखंड में पारा 40 डिग्री तक पहुंच सकता है। उत्तर प्रदेश में न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तो अधिकतम तापमान 44 डिग्री तक जाने की संभावना है। बिहार में पारा 39 डिग्री तो झारंखड में 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। 

तेज गर्मी के कारन कोरोना से ज्यादा लू की चिंता सता रही है 

इस बर्ष समय से पहले पड़ रही तेज गर्मी के कारण भारत सहित पूरे दक्षिण एशिया पूरी आबादी भयंकर गर्मी और लू की चपेट में है। वैज्ञानिकों ने इस प्रचंड मौसम का कारण जलवायु परिवर्तन बताया है। डॉक्टरों का बताते है कि फिलहाल कोरोना की चौथी लहर से ज्यादा चिंता लू है। लोग तेज गर्मी के कारण ज्यादा बीमार पड़ रहे हैं। देश के विभिन्न क्षेत्रो में गर्मी तेजी से पड़ रही है जिसके कारण लोगो को लू की चिंता सता रही है. 

Telegram Group Click Here
PH Home Page Click Here