मध्यप्रदेश ताजा खबर

तीन जनवरी से बच्चों को लगेगी को-वैक्सीन: स्कूल बनेंगे सेंटर | Vaccination of children in their school center

पीएम की घोषण के बाद जबलपुर में तीन जनवरी से बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू होगा। 15 से 18 की उम्र के जिले में सवा लाख बच्चे चिन्हित किए गए हैं। इसमें 93 हजार स्कूलों में पढ़ने वाले शामिल हैं। इस कारण स्कूलों को ही सेंटर बनाया जाएगा। बच्चों की स्कूल आईडी, उनका आधार या पिरवार का आधार, समग्र आईडी से स्पाॅट और ऑनलाइन दोनों तरह से रजिस्ट्रेशन होगा। बच्चों सहित हेल्थ वर्कर्स और 60 प्लस गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों के वैक्सीनेशन की पूरी प्रक्रिया बता रहे हैं जिला वैक्सीनेशन अधिकारी एसएस दाहिया|

तीन जनवरी से बच्चों को लगेगी को-वैक्सीन: स्कूल बनेंगे सेंटर, सवा लाख बच्चों क वैक्सीनेशन की जानें पूरी

Join

बच्चों का रजिस्ट्रेशन शुरू : 1 जनवरी से बच्चों को रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन शुरू होगा। पर वैक्सीनेशन के दिन ऑन द स्पाॅट रजिस्ट्रेशन का भी विकल्प मिलेगा।

जिले में बच्चों को चिन्हित करने का आधार

स्कूल शिक्षा विभाग से प्राइवेट और सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों की कुल संख्या 93 हजार बताई गई है। वहीं विभिन्न एज ग्रुप में स्कूल छोड़ने वालों की संख्या 30 हजार के लगभग है।

बच्चों को को-वैक्सीन लगाने का कारण

इस वैक्सीन का बच्चों पर ट्रायल सफल रहा है। डीसीजीआई ने मंजूरी दी है। दूसरा इसका दूसरा डोज 28 दिन के अंतराल पर लगता है। फरवरी में तीसरी लहर की आशंका है। उससे पहले बच्चों को सुरक्षा कवच देने की तैयारी है।

Vaccination of children in their school center
Vaccination of children in their school center

बच्चों को वैक्सीन लगाने से पहले करना होगा यह काम

93 हजार स्कूली बच्चे हैं। इस कारण स्कूलों को सेंटर बनाएंगे। स्कूल की आईडी, वहां दर्ज उनके आधार या समग्र आईडी से रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। साथ में अभिभावकों की सहमति पत्र देना जरूरी होगा।

बच्चों के वैक्सीनेशन से उनके स्वास्थ्य में कोई दुष्प्रभाग नहीं होगा

परीक्षण में ये वैक्सीन पूरी तरह से सेफ बताई गई है। 18 से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगी है। फिर भी वैक्सीनेशन के बाद बुखार की दवा दी जाएगी। इमरजेंसी के लिए एम्बुलेंस भी उपलब्ध रहेगी। मेडिकल में इसका एक वार्ड बनाया गया है।

रजिस्ट्रेशन के लिए मोबाइल नंबर देना होगा जरूरी

एक मोबाइल नंबर पर परिवार के चार सदस्यों का रजिस्ट्रेशन हो सकता है। परिवार के किसी एक सदस्य का मोबाइल नंबर को बताना होगा।

हेल्थ वर्कर्स के तीसरी डोज लगाने के लिए यह करें

जिले में 24 हजार हेल्थ वर्कर्स पहले से चिन्हित हैं। उनका पूरा डिटेल हमारे पास उपलब्ध है। 10 जनवरी से मैसेज भेजकर बुलाया जाएगा। बस उन्हें दूसरी डोज का सर्टिफिकेट दिखाना होगा। उसी अनुसार को – वैक्सीन या कोवीशील्ड लगाई जाएगी।

जिल में अभी लगभग 55 हजार लोग दूसरा डोज नहीं लगवा पाए

जिले में 55 हजार लोगों को दूसरी डो अभी लगनी है। गर्भवती, स्तनपान और 18 से 45 की उम्र वाले ही बचे हैं। जिले में 19.80 लाख पात्र लोगों में 19.25 लाख लोग दोनों डोज लगवा चुके हैं।

ये भी जानें –

WhatsApp से वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट कैसे प्राप्त करें-

  • अपने मोबाइल फोन में +919013151515 नंबर सेव कर लें।
  • फिर वॉट्सएप ओपन कर इस नंबर पर Covid Certificate या Download Certificate लिखकर सेंड कर दें।
  • आपके फोन में 6 डिजिट का OTP आएगा, इसे वॉट्सएप चैट में भेज दें।
  • इसके बाद उस मोबाइल नंबर से कोविन पोर्टल पर रजिस्टर्ड सभी मेंबर की लिस्ट आपके सामने आ जाएगी।
  • यहां अब जिसका सर्टिफिकेट डाउनलोड करना है, उसका सीरियल नंबर टाइप करके सेंड करें।
  • PDF फॉर्मेट में सर्टिफिकेट आपकेपास आ जाएगा।

Cowin पोर्टल से वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट कैसे प्राप्त करें-

  • सबसे पहले आरोग्य सेतु एप को मोबाइल में डाउनलोड करें।
  • एप ओपन करें और अपने मोबाइल नंबर से रजिस्टर करें।
  • इसके बाद एप में आपको कोविन टैब को क्लिक करना होगा।
  • यहां पर आपसे 13 अंको की बेनीफिशियरी आईडी मांगी जाएगी।
  • आईडी को बॉक्स में डालकर सबमिट का बटन क्लिक कर दें।
  • अब आपको वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाई देगा।
  • अब आप डाउनलोड बटन पर क्लिक करके उसे डाउनलोड कर सकते हैं।

1075 पर मदद मांगे…

सर्टिफिकेट संबंधी परेशानी के लिए 1075 पर कॉल करें। यहां से ऑपरेटर आपकी समस्या अनुसार मदद करेंगे। जैसे नाम स्पेलिंग या उम्र गलत लिखी हो, सर्टिफिकेट गलत तारीख में जारी हुआ, बिना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जारी हो गया जैसी समस्या का समाधान करने में मदद की जाती है।

सभी खबरों के लिए गूगल पर सर्च करें physicshindi.com तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें।

You may also like

Comments are closed.