UGC new rule 2022: अब ऐसे होगी PhD

दोस्तों अगर आप भी कक्षा बारहवीं के बाद ग्रेजुएशन कर रहे हैं या आपने ग्रेजुएशन कर दिया है और आप PhD करना चाहते हैं, तो इस पोस्ट के माध्यम से आपको UGC new rule 2022 बताया जाएगा जिसका जानना आप सभी विद्यार्थियों के लिए काफी जरूरी है l दोस्तों विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने एक अनुमति देने का प्रस्ताव किया है जिसमें बताया गया है कि ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने अपने 4 साल ग्रेजुएशन के पूरे कर लिए हैं तो अब PhD भी कर सकते हैंl

तो दोस्तों अगर आप भी PhD करना चाहते हैं और अभी आप ग्रेजुएशन कर रहे हैं, तो इस पोस्ट को आखिर तक जरूर पढ़ें और अपने तमाम विद्यार्थियों या दोस्तों के साथ शेयर करें l विशेष रुप से हम इस पोस्ट में आपको UGC new rule 2022 बताएंगे जो की विद्यार्थियों के PhD कोर्स से संबंधित है l विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने जो UGC new rule 2022 जारी किया है, इस बारे में हमने आपको विस्तार से बताया है तो आइए जानते हैं, क्या है पूरी जानकारी l

UGC new rule 2022

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (University Grants Commission) ने विद्यार्थियों की सहूलियत के लिए एवं उन्हें ग्रेजुएशन के 4 साल पूरे करने के बाद PhD कोर्स करने का भी प्रस्ताव किया है l ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने ग्रेजुएशन की 4 साल की पढ़ाई पूरी कर दी है और वह PhD करना चाहते हैं, तो इसकी भी अनुमति दी जा सकती है l ऐसे विद्यार्थी जो FYUP पास किए रहेंगे, केवल उन्हें ही PhD कोर्स के लिए एलिजिबल माना जाएगा l आपको बता दें कि FYUP में कम से कम विद्यार्थियों को 7.5 CGPA या उससे अधिक score करना होगा l

Join

PhD करने के लिए पात्रता

दोस्तों अगर आप भी ग्रेजुएशन की 4 साल पूरे कर लिए हैं या अभी आपका ग्रेजुएशन का सिलेबस पूरा होने को है, तो आपको पता होना चाहिए कि अब से UGC ने ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के बाद विद्यार्थियों को PhD कोर्स करने का भी प्रस्ताव किया है, जिसका अर्थ है कि ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने ग्रेजुएशन के पूरे पाठ्यक्रम कंप्लीट कर लिए हैं तो वह PhD भी कर सकते हैं l लेकिन ध्यान दें कि PhD हर विद्यार्थी नहीं कर सकता, बल्कि इसके लिए भी कुछ पात्रता है, तो आइए जानते हैं PhD करने के लिए पात्रता क्या है

  1. विद्यार्थी का ग्रेजुएशन का पाठ्यक्रम पूरा होना चाहिए
  2. विद्यार्थी को FYUP में कम से कम 7.5 CGPA या उससे अधिक CGPA से पास होना चाहिए

दोस्तों आपको पता होना चाहिए कि CGPA एक प्रकार का ग्रेड प्वाइंट है, जिससे पता चलता है कि विद्यार्थी की रैंकिंग क्या है और उससे नंबर देखने में भी आसानी होती है l वैसे तो आप जानते ही होंगे कि CGPA को 10 के पैमाने पर मापा जाता है l तो10 के पैमाने के अनुसार 7.5 CGPA या उससे अधिक अंक लाना अनिवार्य है l

UGC new rule 2022
UGC new rule 2022

UGC new rule 2022 benefits

दोस्तों अगर आप समझ नहीं पा रहे हैं UGC new rule 2022 को तो अब हम आपको सीधी भाषा में समझाते हैं और बताते हैं कि UGC new rule 2022 के फायदे क्या क्या है l पहली बात यह कि UGC ने अब PhD course करने वाले विद्यार्थियों के लिए एक अनुमति का प्रस्ताव किया है जिसमें विद्यार्थी अगर FYUP में 7.5 या उससे अधिक CGPA लाता है तो अब उसे मास्टर डिग्री की जरूरत नहीं है, मास्टर डिग्री की जरूरत नहीं है, अब वह 4 साल की पढ़ाई के बाद डायरेक्ट PhD course कर सकता है l जो कि विद्यार्थियों के हित में काफी अच्छा फैसला है l

बिना मास्टर डिग्री के करेंगे PhD

यदि किसी विद्यार्थी के FYUP में 7.5 CGPA से कम CGPA आता है तो उसे 1 साल की मास्टर डिग्री लेनी होगी, तभी वह PhD कर सकेगा l दोस्तों इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन के बाद अपनी पढ़ाई बंद करना चाहते हैं, तो उनका मन बदल जाएगा l क्योंकि दोस्तों अगर वह अच्छे से पढ़ाई करते हैं और FYPA में 7.5 या उससे अधिक CGPA लाते हैं, तो उन्हें 2 साल की पढ़ाई ना करके अगले 2 साल की पढ़ाई यानी डायरेक्ट PhD करने की अनुमति होगी l ऐसे में हमारे देश में PhD करने वाले विद्यार्थियों की संख्या में बहुत जल्द ही वृद्धि होने वाली है l

UGC new rule 2022 test 

दोस्तों विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के द्वारा बदले गए UGC new rule 2022 के अनुसार जितनी भी सीटें खाली होंगी, उनमें 40 प्रतिशत सीट University Level Entrance Test के आधार पर भरी जाएगी l साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रवेश परीक्षा के आधार पर 100% सीट भी भरी जा सकती है l

FAQs about UGC new rule 2022

1. रिक्त सीटों की पूर्ति किस प्रकार की जाएगी?

Ans. दोस्तों हो सकता है कि राष्ट्रीय स्तर पर ले जाने वाली प्रवेश परीक्षा के माध्यम से सीटों को भरा जाए, यदि ऐसा होता है तो छात्र छात्राओं का चयन मेरिट लिस्ट के आधार पर किया जाएगा l

2. PhD कोर्स करने के लिए FYUP में कितनी CGPA चाहिए?

Ans. यदि आप बिना मास्टर डिग्री के ग्रेजुएशन के बाद डायरेक्ट PhD course करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको FYUP में 7.5 या उससे अधिक CGPA लाना होगा l

JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE