टेबलेट खरीदी में हुई गडबडी – गुना में क्या हुआ टेबलेट खरीदी पर | Tablet buying student Guna news

जिले के हायर सेकंडरी स्कूलों में टेबलेट खरीदी को लेकर भारी अनियमितताओं के आरोप लगाए गए हैं। यह मामला कलेक्टर तक पहुंचने के बाद जांच शुरू हो गई है। करीब 105 स्कूलों में 230 से ज्यादा टेबलेट खरीदे जाना थे। लोक शिक्षण संचालनालय के समग्र शिक्षा अभियान द्वारा तय की गई गाइड लाइन के मुताबिक प्राचार्यों को स्कूल स्तर पर समिति बनाकर यह खरीदी करना थी पर जी आरोप सामने आए हैं, उसके मुताबिक डीईओ कार्यालय के कुछ कर्मचारियों ने जिला स्तर पर टेबलेट खरीदे और प्राचार्यों से इसके लिए पहले ही चेक ले लिए गए। पूरी खरीदी एक ही दुकान से की गई। जो टेबलेट 8 हजार रुपए का था उसके 14 से 15 हजार रुपए दिए गए। प्राचार्यों के मुताबिक डीइओ ऑफिस से क्लर्क अमित रघुवंशी का कॉल आया था।

टेबलेट खरीदी में हुई गडबडी – गुना में क्या हुआ टेबलेट खरीदी पर

जिले के 105 से अधिक स्कूलों में 30-32 लाख की लागत से 230 से ज्यादा टेबलेट खरीदे जाना थे। स्कूल के प्राचार्यों को अपने स्तर पर इन्हें खरीदने का आदेश था। शिकायत के मुताबिक शिक्षा विभाग के एक क्लर्क ने कई प्राचार्यों से पूर्व चेक ले लिए और गुना की एक दुकान से यह खरीदी की गई। जो टेबलेट खरीदा गया, उसकी कीमत 8 हजार रुपए है जबकि भुगतान 15 हजार के हिसाब से किया गया है। कलेक्टर को की गई शिकायत के मुताबिक इसमें दुकानदार और विभाग के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत सामने आ रही है।

  • 105 स्कूलों में 230 से ज्यादा टेबलेट भेजे जाना थे
  • स्कूल स्तर पर समिति बनाकर होनी थी खरीदी
  • 8 हजार रुपए दिए, बिल 15 हजार का
  • डीईओ ऑफिस के क्लर्क का नाम सामने आया
  • टेबलेट खरीदी में गडबडी
Tablet buying student Guna news
Tablet buying student Guna news

जेनेथ कंप्यूटर से की गई खरीदी

भास्कर ने इस मुद्दे को लेकर कुछ प्राचार्यों से बात की। इसमें कुछ मामलों में तो आरोपों की पुष्टि हुई। मसलन राघौगढ़ उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य सुरेश आर्य ने बताया कि उन्हें से डीईओ ऑफिस से फोन आया था कि आपके यहां के लिए 4 टेबलेट आ गए हैं, आप उन्हें प्राप्त कर लीजिए। मैंने हमारे यहां की एक शिक्षक को उन्हें लेने के लिए भेजा था। साथ ही राशि का चेक भी दे दिया गया। यह चेक गुना स्थित जेनेथ कंप्यूटर नामक एजेंसी के नाम बनाया गया था। वहीं बीनागंज के कन्या हायर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्य जेपी शर्मा ने बताया कि उनके यहां से भी जेनेथ कंप्यूटर को प्रति टेबलेट 14970 रुपए के मान भुगतान किया गया। बीनागंज के बालक हायर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्य राजपूत ने भी इसी एजेंसी को भुगतान करने की बात कही। राघौगढ़ बालिका हायर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्य संजय जैन ने बताया कि उन्होंने खुद ही खरीदी की जो गाइड लाइन थी, उसी का पालन किया गया। जेनेथ कंप्यूटर से ही खरीदी की।

ज्यादातर प्राचार्यों को पता ही नहीं थी गाइड लाइन

नहीं टेबलेट में क्या खूबियां अधिकांश प्राचार्यों को यह पता ही नहीं था कि जो टेबलेट उन्होंने लिया है या फिर उन्हें दिया गया है, क्या खूबियां हैं। जब हमने उनसे इस संबंध में सवाल किया तो वे जानकारी नहीं दे पाए। दरअसल इसके आधार पर ही किसी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की कीमत तय होती है।

ये थी गाइडलाइन

बच्चों को ऑनलाइन शैक्षणिक सामग्री व मोबाइल एप के इस्तेमाल की दृष्टि से स्कूलों को टेबलेट खरीदी के आदेश दिए गए थे। अधिकतम 15 15 हजार रुपए तक की कीमत वाले टेबलेट खरीदे जा सकते थे। शिक्षा अभियान की ओर से 10 हजार रुपए दिए है और बाकी राशि का इंतजाम शाला स्तर से होगा। “टेबलेट खरीदी को लेकर फ्रेंक नोबल ए. कलेक्टर को शिकायत मिली है। फ्रेंक नोबल ए. कलेक्टर ने डीईओ से तय समय सीमा में इसकी जांच करने को कहा है।

डीईओ ऑफिस की कोई भूमिका नहीं

“टेबलेट खरीदी में डीईओ ऑफिस को कोई भूमिका थी ही नहीं प्राचार्यों से इसे अपने स्तर पर ही खरीदना था। इसका तकनीकी सत्यापन ब्लॉक स्तर पर गठित एक समिति द्वारा किया जाएगा। इसमें बीईओ, ई-गवर्नेस सोसायटी के प्रतिनिधि एवं समग्र शिक्षा अभियान के ब्लॉक अधिकारी शामिल होंगे। गुणवत्ता पूर्ण होने पर ही खरीदी मान्य होगी। अगर प्राचार्यों से किसी कर्मचारी ने चेक आदि मांगे हैं तो यह गलत है। चंद्रशेखर सिसौदिया, डीईओ ।

एक ही दुकानदार से खरीदी क्यों हुई

इस मामले में सवाल यह है कि एक ही दुकान से सारी खरीददारी क्यों की गई। जो प्रक्रिया तय की गई थी, उसका भी बड़े पैमाने पर उल्लंघन किया गया। ज्यादातर प्राचार्यों को तो यह भी मालूम नहीं है कि उन्हें जो टेबलेट मिला है उसका कॉन्फ़िगरेशन क्या है। मैं आरटीआई से सारे बिल भी लूंगा, जिससे पूरे मामले का खुलासा हो सके। महेश दुबे, शकर्ता एवं पूर्व जिला संयोजक भाजपा आईटी सेल

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

 

Leave a Comment