कोविड़ में पढ़ाई छोड़ चुके विद्यार्थियों को परीक्षा देने का मिलेगा विशेष अवसर

कोविड और अन्य कारणों से 10 और 12वीं के बाद पढ़ाई छोड़ चुके विद्यार्थियों को परीक्षा देने का फिर विशेष अवसर दिया जा रहा है। इसके लिए विद्यार्थियों को 24 मार्च तक आवेदन करना होगा। ऐसे विद्यार्थियों को चिंहित कर पंजीयन की प्रक्रिया शुरू की है। जिले में 10वीं के 4 हजार 511 तथा 12वीं के 1 हजार 2 ऐसे विद्यार्थी है जो तीन साल के दौरान पढाई छोड़ चुके है। तीन सालों में पढ़ाई छोड़ चुके विद्यार्थियों को शिक्षा की मुख्य धारा में लाने के लिए मंडल द्वारा आ अब लौट चले योजना शुरू की है। इस योजना के तहत 10वीं तथा 12वीं की पढ़ाई छोड़ चुके विद्यार्थियों को फिर से परीक्षा देने का अवसर मिलेगा। ऐसे विद्यार्थियों का पंजीयन 24 मार्च तक होगा। इसके लिए राज्य ओपन की साइट पर जाकर पंजीयन करना होगा।

इसके बाद ऐसे बच्चों की विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी। परीक्षा के लिए अभी तिथि नहीं आई है। कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा अनुतीर्ण अथवा 11वीं में प्रवेश लेने के बाद शाला छोड़ चुके विद्यार्थी इसके लिए पात्र होंगे। स्कूल प्रबंधन को सूची भिजवा दी है- माध्यमिक शिक्षा मंडल की योजना के तहत जिले में तीन सालों से पढ़ाई छोड़ चुके विद्यार्थियों को 10वीं और 12वीं की परीक्षा देने का विशेष अवसर दिया जा रहा है। इसके लिए स्कूल प्रबंधन को सूची भिजवा दी है। उन्हें योजना का प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए है। साथ ही पालकों व बच्चों को समझाइश दी जाएगी। 10वीं व 12वीं के विद्यार्थियों को 24 मार्च तक करना होगा रजिस्ट्रेशन।

तीन साल में 5 हजार बच्चें छोड़ चुके पढ़ाई :-

जिले में 10वीं और 12वीं की पढ़ाई तीन साल में 5 हजार 513 विद्यार्थी छोड़ चुके हैं। इसमें 4 हजार 511 विद्यार्थी 10वीं और 12वीं के 1 हजार 2 विद्यार्थियों को चिंहित किया है। जिला शिक्षा विभाग ने छात्र-छात्राओं को चिंहित कर स्कूलों में भिजवा दिए हैं। इसके लिए स्कूल प्राचार्य को निर्देशित किया है कि वे इस योजना का प्रचार-प्रसार करें। बच्चों और पालकों से संपर्क करके उन्हें समझाइश देकर बताएं कि परीक्षा देने का यह अच्छा अवसर है। इसके अलावा स्कूलों के आसपास के कियोस्क को भी इसकी जानकारी दी गई है। कक्षा 9वीं से 12वीं तक के ऐसे बच्चे जिन्होंने पढ़ाई छोड़ दी है, उन्हें शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए समग्र शिक्षा अभियान के तहत आ लौट चले योजना शुरू की गई है।

Join
Opportunity for all student mp  2022
Opportunity for all student mp 2022

योजना के मुताबिक पिछले तीन साल में पढ़ाई छोड़ चुके बच्चों को खोजकर राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड की परीक्षा दिलाई जाएगी। खास बात यह रहेगी की यह परीक्षा पूरी तरह से निश्शुल्क होगी। जिले में ऐसे करीब दो हजार से ज्यादा बच्चों को इसका लाभ मिलेगा। बता दें कि कोरोना संक्रमण काल में कई बच्चों ने पढ़ाई छोड़ दी है। ऐसे बच्चे चाहकर भी पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। इन विद्यार्थियों के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल में कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए निर्धारित पाठ्यक्रम ही लागू होगा। इन विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन करने के बाद परीक्षा में बैठने का अवसर मिल सकेगा।

आरबीआई ने बदले सावधि जमा के नियम:-

भारतीय रिजर्व बैंक ने सावधि जमा पानी फिक्स डिपोजिट के को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। नए नियमों के अनुसार यदि आप परिपता यानी मेच्योरिटी के बाद एफडी को नहीं तुड़वाते और राशि जमा सकते हैं तो इसमें आपको कम मिलेगा। अभी करता के बाद राशि नहीं निकालने पर अगली अवधि के लिए एफडी अपने आप अपडेट हो जाती है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। यदि आपको अगली अवधि के लिए राशि फिक्स करना है तो इसके लिए बैंकका करना पड़ेगा और एफडी कर फिर से फिक्स करनी होगी। यदि आप ऐसा नहीं करते तो इस पर बचत ते पर मिलने वाला व्याज मिलेगा जो पार्ट का सौदा होगा। मौजूदा समय में की अवधि की एफड़ी पांच फीसदी से से ज्यादा दे रहे हैं।

बचत खाते पर ब्याज दरें तीन से चार फीसदी के करीब है। यह नया नियम सभी बैंको स्मॉल फाइनेंस चैक, सहकारी बैंक, स्थानीय क्षेत्रीय बैंकों में जमा पर लागू होंगे। इसी तरह क्रेडिट कार्ड पर भी कंपनिया शुल्क बढ़ाने की तैयारी कर रही हैं, इससे जल्द ही क्रेडिट कार्ड उपयोग करना और महंगा पड़ सकता है। बीजा और मास्टरकार्ड क्रेडिट का उपयोग करने पर व्यापारियों द्वारा भुगतान की जाने वाली फीस बढ़ाने की तैयारी कर रही है। इसका असर ग्राहकों पर पड़ेगा। इस मामले से जुड़े सूत्रों के अनुसार शुल्क में वृद्धि महामारी के कारण दो वर्षों के दौरान टाल दी गयी थी, यह अगले महीने शुरू होने वाली है।

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE