Online Payment Rule Change in India: ऑनलाइन पेमेंट करने का तरीका बदला, नया नियम

Online Payment Rule Change in India – आज के इस जमाने में बहुत से काम ऑनलाइन हो रहे हैं l जिसमें सभी लोगों को काफी राहत मिल रही है l हर काम ऑनलाइन माध्यम से करने पर कुछ ही सेकंड में संपन्न हो जाता है l ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म से लेकर ऑनलाइन भुगतान करने तक सभी प्रक्रियाएं ऑनलाइन ही की जा रही है l

Online Payment Rule Change in India

आज हमें जॉब के लिए अप्लाई करना हो या बिजनेस को आगे बढ़ाना हो, हर एक कार्य में हम ज्यादातर ऑनलाइन माध्यम से ही जॉब के लिए अप्लाई करते हैं और बिजनेस को आगे बढ़ाने के नए तरीके ऑनलाइन माध्यम से सोचते बुझते हैं l आज हम जब बाजार में कुछ खरीदने जाते हैं तो उसके लिए हमें कैश की जरूरत भी नहीं पड़ती, हम डायरेक्ट अपने बैंक अकाउंट से पेमेंट कर देते हैं l सभी बातों को हर कोई समझ पाता है लेकिन क्या आप जानते हैं की ऑनलाइन के इस दौर में scam की कमी नहीं है, पहले के जमाने में भी फ्रॉड हुआ करता था जोशी ऑफलाइन हुआ करता था लेकिन ऑनलाइन के इस दौर में ब्रॉड भी ऑनलाइन ही होता है l

जमाने में भी होती थी फ्रॉड

दोस्तों अगर आप अपने घर के बड़ों से पुराने जमाने का हाल पूछेंगे तो वह आपको बताएंगे कि पुराने जमाने में किस प्रकार लूटपाट और फ्रॉड हुआ करते थे l पहले किसी के पास घड़ी तक नाचे मोबाइल तो दूर की बात है तो ऑनलाइन का जमाना तो बिल्कुल नहीं था जो भी कुछ करना हो सभी कुछ खुद से ही करना पड़ता था किसी मशीन की मदद नहीं दे पाते थे l पहले जब कोई यात्रा करने जाता था दो रास्ते में उसे डाकू मिला करते थे जो कि उसे लूट लिया करते थे, अन्य तरीके भी थे पहले जमाने की जब लोग इस तरह से फ्रॉड किया करते थेl

ऑनलाइन के इस दौर में कैसे करते हैं फ्रॉड

ऑनलाइन के इस दौर में हम जी रहे हैं, पहले भी लोग फ्रॉड करते थे आज के जमाने में भी बेमान लोग फ्रॉड करते हैं l पहले के जमाने में लोग ऑफलाइन प्लॉट करते थे जिसमें डाकू लोगों के सामान माल और पैसे छीन कर ले जाया करते थे, ऑनलाइन जमाने में जब भी कोई ऑनलाइन पैसे का भुगतान करता है तो उसी बीच फ्रॉड होता है l नीचे हमने कुछ हिंट किए हैं जितने हमें बताया है कि किस प्रकार scammer लोगों के साथ scam करते हैं l

  1. बैंक के डेबिट कार्ड की जानकारी लेकर
  2. बैंक अकाउंट में मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त करके
  3. पेटीएम के अनऑफिशियल ऐप से
  4. लोगों को झूठा झांसा देकर
  5. पेमेंट रिक्वेस्ट भेज कर
  6. ऑनलाइन जॉब का लालच देकर
  7. लॉटरी का लालच देकर
  8. डेबिट कार्ड की डिटेल को मोबाइल में सेव रहने देने पर
  9. मोबाइल बैंकिंग अथवा इंटरनेट बैंकिंग के पासवर्ड को हैक करके
  10. सभी ट्रांजैक्शन डिटेल को हैक करकेl
Online Payment Rule Change in India
Online Payment Rule Change in India

आरबीआई कम करेगा online scam

दोस्तों हमारे देश में तेजी के साथ हर नागरिक अब ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर रहा है कुछ भी उसे खरीदना हो तो है अपने मोबाइल फोन का इस्तेमाल करके बैंक अकाउंट से डायरेक्ट पेमेंट करता है l वही दूसरी तरफ कुछ लोग शॉपिंग मॉल में डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, जानकारी सेव हो जाने के बाद fraud होने की chance और बढ़ जाते हैं इन सब चीजों को देखकर अब आरबीआई ने ऑनलाइन पेमेंट के नियम में बदलाव कर दिया है l यह नियम 1 जुलाई से लागू कर दिए जाएंगे l भारतीय रिजर्व बैंक अब ऑनलाइन साइबर क्राइम पर रोक लगाने और इसे कम करने के उद्देश्य से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में बदलाव कर दिया है l

हर ट्रांजैक्शन पर देनी होगी जानकारी

कुछ दिन पहले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में सभी बैंक वालों और पेमेंट एग्रीगेटर्स को आदेश दिया था कि ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के लिए जो जानकारी लोग सेव करते हैं अब उसे सेव ना करके हड़ताल जंक्शन के लिए पुनः जानकारी भरी जाए l अब यह नियम 1 जुलाई से लागू कर दिया जाएगा 1 जुलाई के बाद सभी लोगों को अपने कार्ड की डिटेल हर ट्रांजैक्शन पर फिर से डालनी होगी वह कार्ड व अन्य जानकारी सेव नहीं कर पाएंगे l

भुगतान के समय यह जानकारी भरेंगे 

दोस्तों 1 जुलाई से ऑनलाइन भुगतान के नियमों में बदलाव कर दिया जाएगा l जिसके बाद अब ग्राहक जब भी कोई भुगतान करेंगे तो है हर भुगतान पर अपने डेबिट कार्ड की जानकारी जैसे 16 डिजिट नंबर एक्सपायरी डेट और सीवीवी नंबर डालना होगा l पहले लोग इन सब जानकारी को सेव कर दिया करते थे ताकि अगले ट्रांजैक्शन के लिए उन्हें बार-बार जानकारी ना करना पड़े लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक ने अब नियम में बदलाव कर दिया है अब हर भुगतान के समय लोगों को पुनः जानकारी भरनी होगी l

FAQs about Online Payment Rule Change in India

1. किस प्रकार होता है फ्रॉड ?

Ans. दोस्तों ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते समय तो अभी ऑनलाइन ही होता है l

2. scam होने से बचने के लिए क्या करना चाहिए ?

Ans. इसके लिए आपको ओटीपी शेयर नहीं करना चाहिए , डेबिट कार्ड की जानकारी मोबाइल में सेव नहीं करना चाहिए l किसी को भी बैंक अकाउंट की जानकारी नहीं देना चाहिए l

TELEGRAM GROUP CLICK HERE
HOMEPAGE CLICK HERE