NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy: अब नीट, जेईई के टॉपर टाई ब्रेकर पॉलिसी से तय होंगे

NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy – हर साल इंजीनियरिंग और मेडिकल कोर्स की पढ़ाई करने के लिए स्टूडेंट्स को काफी कठिन एंट्रेंस एग्जाम देने होते हैं, यह आप सब को तो पता ही होगा, तो आज हम बात कर रहे हैं NEET JEE Tie Breaking Rule के बारे में तो चलिए जानते हैं, क्या बदलाव हुए हैं, पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं।

Join

इससे  देश के नामी संस्था में एडमिशन लेने का मौका मिलता है, हर वह छात्र को जो पढ़ने में बहुत अच्छे हैं, कई बार एंट्रेंस एग्जाम में लाखों विद्यार्थी होने की वजह से उनमें मार्क्स को लेकर टाई हो जाता है। दोस्तों टाई का मतलब है कि किसी परीक्षा या मैच में बराबर स्कोर प्राप्त करना।

NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy

तो दोस्तों चलिए हम जान लेते हैं टाई के बारे में अच्छे से टाई का मतलब होता है किसी परीक्षाएं या मैच में बराबर स्कोर हासिल करना होता है। क्रिकेट मैच के अलावा कई बार परीक्षाओं में भी अंको को लेकर टाई हो जाता है। यानी सीधा सीधा बोला जाए दो या दो से अधिक बच्चों का जो टॉपर है एक बराबर अंक आना टाई कहा जाता है। ऐसे में उन में से किस टॉपर घोषित किया जाए इसे निर्णय लेना बहुत ही कठिन हो जाता है। इस समस्या से बचने के लिए NEET Exam और JEE Exam टाई में ब्रेकर रूल अपनाया जाता है। जिसे जिसे बोला जाता है Tie Breaking Rule तो यही होता है दोस्तों टाई का मतलब।

NEET JEE Main 2022 Tie Breaker rule 2022

NEET JEE Main Tie-Breaker Policy या Tie Breaking Rule का मतलब है अगर 2 छात्रों में किसी परीक्षा में समान अंक प्राप्त किया है और उनके बीच का टाई सुलझ नहीं पा रहा है तो Tie Breaking Rule के जरिए उनकी रैंक तय की जाती है। ऐसे में जिन छात्रों ने इस परीक्षा के लिए पहले आवेदन किया होगा उस दिन मेरिट लिस्ट में प्राथमिकता दिए जाने का प्रावधान है। NEET JEE Tie Breaking Rule नीट परीक्षा में आमतौर पर उस छात्र को प्राथमिकता दी जाती है जिसने केमिस्ट्री, फिजिक्स, बायो से ज्यादा अंक या प्रतिशत प्राप्त की हो। आपको बता दें कि यह बात बहुत महत्वपूर्ण रहता है इस एग्जाम के लिए। अगर छात्रों के बीच में अंक या प्रतिशत को लेकर टाई होता है तो NEET Exam मैं जिस छात्र की उम्र ज्यादा होगी, उसे मेरिट लिस्ट से दूसरे से ऊपर रखा जाएगा।

NEET JEE Tie Breaking Rule

JEE Exam उस छात्र को प्राथमिकता दी जाती है जिसने केमिस्ट्री, फिजिक्स और मैथ्स में ज्यादा अंक प्राप्त किया हो, बता दे कि यह बात बहुत मैटर करती है JEE Exam के लिए। अगर छात्रों के बीच में अंक या प्रतिशत को लेकर टाई होता है तो इस स्थिति में सभी विषयों को मिलाकर गलत जवाब और सही जवाब के बीच में जिस छात्र का अनुपात कम होता है, रिजल्ट में उसके प्राथमिकता दी जाएगी, यह रूल है। अगर इस तरीके की बात भी छात्रों के बीच अंको को लेकर टाई रहता है तो जिस छात्र ने पहले आवेदन किया होगा, उसे मेरिट लिस्ट में टॉप पर रखा जाएगा, इस तरह से Tie Breaking Rule का यूज करके निर्णय लिया जाता है।

NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy Overview

1. Exam Name NEET JEE Exam
2. Policy NEET JEE Tie Breaking Policy Change
3. Country India
4. Session 2022
5. Exam Level All India
6. Official Website nta.ac.in
NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy
NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy

NEET JEE Main 2022 Tie Breaker

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) मुख्य और राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) में दो उम्मीदवारों के अंकों के बीच टाई के मामले में, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) रैंक देने के लिए अपनी टाईब्रेकर नीति का उपयोग करती है। नीति का उद्देश्य उम्मीदवारों को अंतिम प्रवेश प्रक्रिया के लिए उचित रैंक और शॉर्टलिस्ट करने की अनुमति देना है। नीति के अनुसार, टाई-ब्रेकर के साथ-साथ उनकी उम्र की गणना करते समय उम्मीदवारों के अंकों को ध्यान में रखा जाता है। 2021 में, उम्मीदवारों के आयु मानदंड को हटा दिया गया था। उदाहरण के लिए 2020 में, ओडिशा के सोयब आफताब और उत्तर प्रदेश की आकांक्षा सिंह दोनों ने 720 में से 720 अंक हासिल किए। हालाँकि, सोयब को AIR 1 दिया गया क्योंकि वह आकांक्षा से बड़ा था। इस नीति को एक बार फिर जोड़ा गया है।

FAQs about NEET JEE Main 2022 Tie Breaker Policy

1.क्या 2022 NEET में कट ऑफ बढ़ेगी?

Ans- योग्य उम्मीदवारों की संख्या, शीर्ष NEET स्कोर और परीक्षा की कठिनाई। इसलिए 2022 कट ऑफ की भविष्यवाणी करना बेहद मुश्किल है। अगर आप देखें कि हाल के दिनों में चीजें कैसी रही हैं, तो यूपी में 2018 में सामान्य श्रेणी के लिए 469 कट ऑफ थी। 2019 में, यह 150 अंकों की वृद्धि हुई और 2019 में कट ऑफ 575 थी।

2.नीट में टाई ब्रेकर पॉलिसी क्या है?

Ans- नीट 2022 टाई ब्रेकर पॉलिसी (NEET JEE Tie Breaking Rule)।

3.क्या नीट 2022 में होंगे विकल्प?

Ans- नीट 2022 परीक्षा की अवधि 200 मिनट (03 घंटे 20 मिनट) होगी और दोपहर 02:00 बजे से शाम 05:20 बजे (IST) तक आयोजित की जाएगी। नीट पेपर में प्रत्येक विषय के एक सेक्शन में सवालों के जवाब देने का विकल्प होगा। NEET-UG पेपर में, प्रत्येक विषय में दो खंड होंगे।

4.क्या नीट पैटर्न 2022 में कोई बदलाव हुआ है?

Ans- जैसा कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा स्पष्ट किया गया है कि NEET का पाठ्यक्रम अपरिवर्तित रहेगा। तो, NEET परीक्षा 2022 के लिए पाठ्यक्रम कक्षा 11 और 12 के 3 विषयों के पाठ्यक्रम पर आधारित होगा – भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान।

JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE