National scholarship eligibility 2022-23 : इन छात्रों को नहीं मिलेगी स्कॉलरशिप! लागू होंगे नए नियम

दोस्तों आज की पोस्ट में हम आपको बहुत ही जरूरी जानकारी देने वाले है, हम बात कर रहे हैं National scholarship eligibility 2022-23 जिसका जानना प्रत्येक विधार्थी के लिए आवश्यक है l अक्सर देखा जा रहा है कि विद्यार्थी दिन-ब-दिन स्कूल- कॉलेज में अनुपस्थित रहते हैं l उन्हें इस पर जरा भी अफसोस नहीं होता, लेकिन इस पोस्ट को पढ़ने के बाद हर विद्यार्थी 200 दिनों में कम से कम 160 दिन जरूर स्कूल कॉलेज में उपस्थित रहेगा l क्योंकि दोस्तों बात दरअसल यह है कि, विद्यार्थी जब स्कूल कॉलेज में पढ़ता है तो, उसे उसकी कैटेगरी के अनुसार सरकार की तरफ से National scholarship प्रदान की जाती है l

National scholarship eligibility 2022-23

कई विद्यार्थी स्कॉलरशिप का तो सही इस्तेमाल करते हैं, वहीं कुछ विद्यार्थी स्कॉलरशिप लेने के लिए स्कूल कॉलेज में प्रवेश देते हैं और दिन भर अनुपस्थित रहते हैं l ऐसे कई विद्यार्थी हैं जिनकी स्कूल में उपस्थिति केवल 20-30 प्रतिशत रहती है l यही सब कारणों के चलते नए नियम लागू किए जाएंगे l जिसमें आपको बताया जाएगा National scholarship eligibility 2022-23 के बारे में l अब तक तो विद्यार्थी जब चाहे तब स्कूल आया जाया करता था, लेकिन अब से National scholarship eligibility 2022-23 पढ़ने के बाद वह रेगुलर उपस्थित रहेगा l

Join

National scholarship eligibility 2022-23 overview

Topic National scholarship eligibility 2022-23
State Madhya Pradesh
Academic year 2022-23
Type of Scholarship Post metric
Eligibility please read article carefully
Official website scholarships.gov.in

National scholarship new rule 2022-23

सत्र 2022-23 में छात्रवृति को लेकर नियमों में बदलाव किया गया है। आरक्षित वर्ग वाले विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति तभी मिलेगी, जब कक्षा में 75 प्रतिशत उपस्थित होगी। कालेजों को अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के विद्यार्थियों की जानकारी भेजना है।

  • कक्षा में 75 प्रतिशत उपस्थिति रहने पर ही मिलेगी छात्रवृत्ति
  • सत्र 2022-23 से लागू होंगे नए नियम, विद्यार्थी नाराज
  • दिव्यांग विद्यार्थियों को मुफ्त लैपटाप दें

नियमों में संशोधन को लेकर छात्र छात्राएं नाराज हैं और पुराने नियम को दोवारा लागू करने की मांग कर रहे हैं। विभाग ने कालेजों में वायोमेट्रिक पद्धति से विद्यार्थियों की उपस्थिति दर्ज करने के निर्देश दिए हैं, लेकिन यह व्यवस्था अभी लागू नहीं होगी। इसके लिए विभाग ने कुछ महीनों का समय दिया है। पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति को लेकर एससी, एसटी और ओबीसी विभाग ने समीक्षा की।

National scholarship obc/sc/st 2022-23

अधिकारियों का कहना है कि कई कालेजों में छात्रवृत्ति के लिए विद्यार्थी नाम लिखवाते हैं मगर सालभर कक्षाओं से गायब रहते हैं। बावजूद इन्हें छात्रवृत्ति जारी होती है। शिकायत मिलने के बाद विभागों ने नियमों में बदलाव किया है। इसके लिए कालेजों को आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों की उपस्थिति बताना अनिवार्य है। प्रत्येक महीने की जानकारी उच्च शिक्षा विभाग व संबंधित विभागों को देना है। उसके आधार पर विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति जारी की जाएगी। अधिकारियों के मुताबिक वायोमेट्रिक मशीन से उपस्थित लेने की व्यवस्था बनाई है। अतिरिक्त संचालक डा. सुरेश सिलावट का कहना है कि छात्रवृत्ति से जुड़े नियमों का प्रत्येक कालेज को पालन करना है।

National scholarship eligibility 2022-23
National scholarship eligibility 2022-23

National scholarship benefits for PwD students

इंदौर राष्ट्रीय शिक्षा नीति का हवाला देते हुए आल इंडिया काउंसिल फार टेक्निकल एजुकेशन (एआइसीटीई) ने सभी तकनीकी संस्थानों को दिव्यांग विद्यार्थियों की सुविधा बढ़ाने पर जोर दिया है। एआइसीटीईने गाइडलाइन जारी कर कहा कि दिव्यांगों को निश्शुल्क लैपटाप और इंटरनेट का शुल्क दें और उनके प्रशिक्षण व प्लेसमेंट में विशेष सहयोग प्रदान करें। संस्थानों को समान अवसर सुविधा प्रकोष्ठ (ईओएफसी) सेल बनाना है। छह सदस्यों की नियुक्ति करना है, जिसमें वरिष्ठ प्राध्यापक, महिला-पुरुष शिक्षक, नान टीचिंग स्टाफ, विद्यार्थी, एनजीओ सदस्य और प्रशासनिक अधिकारी को रखना है। प्रत्येक महीने प्रकोष्ट को बैठक करना है। संस्थानों को इसकी रिपोर्ट एनआइसीटीई को अनिवार्य रूप से भेजना जरूरी है।

संस्थान में प्रकोष्ट का उद्देश्य दिव्यांग विद्यार्थियों को बढ़ावा देना है। हितधारकों के बीच जागरूकता पैदा करने, शिक्षण- सीखने की प्रक्रिया से संबंधित छात्रों की विशेष जरूरतों को पूरा करने और दिव्यांग अनुकूल शिक्षण-शिक्षण विकसित करने की होगी। प्रकोष्ट को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि निशक्तों को संस्थान व राज्य सरकार के माध्यम से मुफ्त लैपटाप और इंटरनेट शुल्क प्रदान किया जाए। प्रशिक्षण और उनके प्लेसमेंट में विशेष ध्यान देना है।

प्रकोष्ट को दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए संस्थान परिसर में रैंप, साइनेज, निर्दिष्ट पार्किंग आदि की व्यवस्था करवाना है। अधिकारियों के मुताबिक प्रकोष्ट को निशक्त छात्रों से समय-समय पर फीडबैक लेकर उनकी प्रगति की निगरानी करना है। इन गतिविधियों के प्रति पूर्णकालिक व अंशकालिक जिम्मेदारी वाले बड़ी संख्या में शिक्षकों को प्रशिक्षित करना है। परीक्षा में दिव्यांग व्यक्तियों के लिए विशेष प्रविधान भी किए गए हैं।

FAQs about National scholarship eligibility 2022-23

1. National scholarship eligibility 2022-23 क्या है?

Ans. दोस्तों अब आपको स्कॉलरशिप लेने के लिए स्कूल में कम से कम 75 फ़ीसदी की उपस्थिति होना अनिवार्य है l

2. ऐसे विद्यार्थी जो किसी कारणवश स्कूल नहीं आ पाते और महीने में दो चार बार आ जाते हैं, तो क्या उन्हें स्कॉलरशिप दी जाएगी?

Ans. यदि वह अपने अनुपस्थिति का कोई उचित कारण देते हैं, तो उन्हें स्कॉलरशिप लेने में कोई परेशानी नहीं होगी l

3. National scholarship new rules 2022-23 कब लागू किए जाएंगे?

Ans. अभी इस बारे में चर्चा की जा रही है l कुछ महीने बाद इसकी घोषणा कर दी जाएगी, जिसकी जानकारी आपको हमारी वेबसाइट पर दे दी जाएगी l