MP Win Ranji Trophy 2022: मुंबई के लड़कों से ज्यादा खड़ूस निकले MP के भैया, 41 बार के चैंपियन को उसी के खेल में धोया

यदि आप मध्य प्रदेश से हैं तो MP Win Ranji Trophy 2022 के बारे में सुनकर आपका सीना 56 इंच से भी ज्यादा बड़ा हो गया होगा. जैसा कि आपने आज के अखबार में देखा होगा कि मध्य प्रदेश की टीम ने 41 बार विजेता रही मुंबई की टीम को हराकर पहली बार Ranji Trophy को अपने नाम किया है. मध्य प्रदेश ने रणजी ट्रॉफी जीतकर मध्य प्रदेश के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ा है क्योंकि अब जब भी Who is the winner of Ranji Trophy 2022? सर्च किया जाएगा नाम सिर्फ मध्य प्रदेश का ही आएगा. चलिए आगे जानते हैं कि मध्य प्रदेश की जीत के पीछे कौन से 5 खिलाडी या यू कहें रत्न. उनके बारे में भी हम आगे जानने वाले हैं. यदि आप इस खबर को पूरी तरह जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें जिससे कि कोई भी महत्वपूर्ण बिंदु आपसे ना छूट पाए.

MP Win Ranji Trophy 2022

रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के सुनहरे इतिहास में एक और नया अध्याय 26 जून को जुड़ गया है. क्योंकि देश की सबसे बड़े घरेलू टूर्नामेंट को इसका सबसे नया विजेता मिल चुका है. मध्य प्रदेश की क्रिकेट टीम (Madhya Pradesh Cricket Team) ने 41 बार जीत हासिल करने वाली मुंबई की टीम को हार का मुंह दिखाया है और रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) को अपने नाम किया है. बेंगलुरु के एम चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम पर अंतिम दिन मध्यप्रदेश में 108 रनों को हासिल करके और सिर्फ 4 विकेट गवाकर रणजी ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया है. मध्य प्रदेश के इतिहास में यह स्‍वर्णिम दिन माना जाएगा. खबरों में बताया जा रहा है कि 88 साल के रणजी इतिहास में पहली बार मध्य प्रदेश ने यह खिताब हासिल किया है. मध्यप्रदेश टीम जिसका नेतृत्व आदित्‍य श्रीवास्‍तव ने किया. वही टीम की सफलता का श्रेय टीम के कोच चंद्रकांत पंडित को दिया जा रहा है.

Ranji Trophy winner 2022

मध्य प्रदेश के इतिहास में 26 जून को रणजी ट्रॉफी जीतने के बाद एक ऐतिहासिक दिन माना जाएगा. रणजी ट्रॉफी 2022 फाइनल में मुंबई में पहले टॉस जीतकर बैटिंग करने का फैसला किया. मुंबई ने पहली पारी 374 रन के साथ पूरी की और ऑलआउट हो गई थी वही इसके जवाब में मध्य प्रदेश ने 536 रन दागे इस तरह मध्य प्रदेश की टीम 162 रनों की बढत हासिल की. वही मुंबई ने चौथे दिन आउटराइट जीत दर्ज करना चाहिए किन मुंबई 269 रनों का सिमट कर रह गई. जिसके बाद मध्य प्रदेश को सिर्फ 108 रनों का लक्ष्य मिला और मध्यप्रदेश में इसे 29.5 और मे 4 विकेट गवाकर हीं हासिल कर लिया. 

Join
MP Win Ranji Trophy 2022
MP Win Ranji Trophy 2022

MP History for Ranji Trophy

23 वर्ष पहले यानी 1998-99 की बात करें तो मध्य प्रदेश की क्रिकेट टीम रणजी ट्रॉफी फाइनल तक पहुंची थी उस वक्त भी टीम के कप्‍तान चंद्रकांत पंडित ही थे. लेकिन उस समय मध्यप्रदेश की टीम को कर्नाटक से शिकस्त मिली थी. लेकिन इस बार मध्य प्रदेश ने मुंबई की टीम को हराकर रणजी ट्रॉफी 2022 अपने नाम की है. मध्यप्रदेश की टीम रणजी ट्रॉफी जीतने वाली 20वी टीम बन गई है. अभी तक सिर्फ 8 टीमों ने एक ही बार रणजी ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया है. वही अन्य 12 टीमों ने कई बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता है. साल 2010 के बाद से कुछ साल रणजी ट्रॉफी में कर्नाटक का दबदबा रहा था. जिसके बाद मुंबई सिर्फ एक ही किताब अपने नाम कर पाई है वही अधिकांश रणजी ट्रॉफी के किताब राजस्थान (2), विदर्भ (2), सौराष्ट्र (1) और मध्य प्रदेश (1) जैसी टीमो ने हासिल किए है जिन्हें घरेलू क्रिकेट में अक्सर कमजोर माना जाता है.

Reason of Winning MP Ranji Trophy 2022

आइए जानते हैं कि खिलाड़ियों के दम पर मध्य प्रदेश की टीम ने Ranji Trophy का खिताब अपने नाम किया हेै. इनको हम मध्य प्रदेश की टीम के जीतने की वजह भी कह सकते हैं या कारण भी कर सकते हैं. तो आइए जानते हो ना खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने मध्य प्रदेश का नाम पूरे देश में रोशन किया है.

  1. रजत पाटीदार

रजत पाटीदार इस सीजन के मध्यप्रदेश के सबसे सफल बल्लेबाज रहे हैं. इन्होंने 6 मैचों की 9 पारियों में 658 रन बनाए. इनका औसत रन 82 रहा है वही इन्होंने 2 शतक और 5 अर्धशतक अपने बल्ले से लगाए हैं.

  1. यश दुबे

यश दुबे ने पहली पारी में शतक जमाते हुए 133 रन बनाए थे. इनका औसत रन 77 रहा है वही इन्होंने 614 रन बनाए जिसमें इन्होंने 2 शतक और 1 अर्धशतक लगाए हैं.

  1. शुभम शर्मा

शुभम शर्मा को फाइनल का हीरो घोषित किया गया है. फाइनल की पहली पारी में इन्होंने 116 रन बनाए थे. इस सीजन में शुभम शर्मा ने मध्य प्रदेश के लिए सबसे ज्यादा 4 शतक जड़े हैं और टोटल 608 रन बनाएं हैं.

  1. कुमार कार्तिकेय

सिर्फ बल्लेबाजों ने ही नहीं गेंदबाजों ने भी झंडे गाड़ दिए थे. मध्य प्रदेश के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले कुमार कार्तिकेय ही है जिन्होंने 32 विकेट लिए हैं. पूरे सीजन के दौरान इन्होंने 3 बार एक पारी में 5 विकेट गिराए.

  1. गौरव यादव

गौरव यादव ने भी विरोधी टीम के बल्लेबाजों को थामने में बड़ा योगदान दिया है. मध्य प्रदेश के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज रहने वाले गौरव यादव ने 5 मैचों में 23 विकेट लिए है. 

JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE