MP School Open new plan :- MP में स्कूल शिक्षा विभाग ने तैयार किया नया प्लान – जानें कब ओर कैसे होंगे स्कूल बंद

MP में स्कूल शिक्षा विभाग का प्लान: इंदौर, भोपाल, ग्वालियर समेत 5 शहरों में प्रतिबंध सबसे पहले लगेगा

मध्यप्रदेश में अब बच्चे ( Students ) भी तेजी से कोरोना की लपेट में आ रहे हैं। 10 दिन में इंदौर में 150, भोपाल में 136 तो 11 अन्य शहरों में 78 बच्चे कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। विध्यालय अभी 50% की क्षमता से खुल रहे हैं। एक बच्चे को सप्ताह में तीन दिन स्कूल जाना पड़ रहा है। ऐसे में अभिभावक के मन में सवाल उठ रहा है कि क्या स्कूल इसी तरह चलते रहेंगे, बंद होंगे या फिर ऑनलाइन ही पढ़ाई होगी। स्कूल शिक्षा विभाग के Officers से चर्चा में सामने आया कि विभाग ने कोरोना को देखते हुए एक्शन प्लान तैयार कर लिया है।

MP में स्कूल शिक्षा विभाग ने तैयार किया नया प्लान – जानें नया प्लान

सबसे प्रभावित शहरों में स्कूल होंगे बंद : बड़े शहरों में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। Officers की मानें तो इन शहरों के लिए पूरी तरह से ऑनलाइन क्लास का प्रोग्राम तैयार किया है। ये सिटी हैं- इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और उज्जैन। यहां पर पहले School खोलने पर प्रतिबंध लग सकते हैं। इसके बाद ऐसे एरिया को चिह्नित किया गया है, जहां कोविड केस बहुत कम हैं। इनमें अभी 50% क्षमता के साथ ही ऑफलाइन कक्षाएं लगाई जाएगी। डिपार्ट्मन्ट का मानना है कि यहां ऐसे इलाकों में बच्चों की संख्या काफी कम है। यहां पर ऑनलाइन पढ़ाई का इंतजाम नहीं है। ऐसे में पढ़ाई प्रभावित न हो इसके लिए सावधानी और कोरोना गाइडलाइन के साथ Offline पढ़ाई चलती रहेगी।

Join
MP School Open new plan
MP School Open new plan

परीक्षा का प्लान

MP Board की 10वीं और 12वीं की परीक्षा मध्य फरवरी में शुरू होना है। जिस तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, उससे फरवरी में थर्ड वेव का पीक आने की आशंका है। ऐसे में MP Board Exam 2022 को आगे बढ़ाते हुए अप्रैल में कराने पर विचार चल रहा है। इसी के साथ अन्य क्लास की परीक्षाएं भी कुछ आगे खिसक सकती हैं।

रिजल्ट: अगर Exam नहीं हुये तो इस तरह तैयार होगा

अगर किसी कारण परीक्षा नहीं होती है, तो फिर आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट बनाया जाएगा। इसमें स्टूडेंट्स के तिमाही और छमाही के मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट बनेगा। ऐसे में प्राइवेट परीक्षा के फॉर्म भरने वाले छात्रों को 33% अंक देकर पास किया जा सकता है। इस बार स्कूल शिक्षा विभाग फॉर्मूले के आधार पर रिजल्ट नहीं बनाएगा।

अभी हाल ही में सोमवार को समीक्षा बैठक में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तथा मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंद्र सिंह परमार के बीच कक्षा 1 से लेकर 8वी तक के स्कूल बंद करने को लेकर चर्चा हुई थी, जिसमें इंदर सिंह परमार ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से गुहार लगाई थी कि कक्षा एक से लेकर आठवीं तक स्कूल फिलहाल स्थिति को देखते हुए बंद कर दिया जाए, लेकिन सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 2 से 3 दिन का वक्त और मांगा तथा स्थिति का जायजा लेने के लिए कहा सभी परिस्थितियों पर निगरानी रखते हुए 2 से 3 दिन बाद कक्षा 1 से लेकर आठवीं तक के स्कूलों को खुले रहने अथवा बंद करने पर फैसला लेंगे।