स्कूल, कॉलेज तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश – अब बोर्ड परीक्षा का क्या होगा : देश की राजधानी दिल्ली से आई खबर-

कोरोनावायरस की तीसरी लहर से अपने नागरिकों को बचाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्कूल कॉलेज लॉकडाउन कर दिए हैं। सभी कॉलेज तथा स्कूल को टोटल बंद कर दिया है। किसी भी छात्र को स्कूल आने की अनुमति नहीं है। यह फैसला कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुये लॉइया है। सरकारी और प्राइवेट ऑफिसों में धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है। देश की राजधानी में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। तथा मध्य प्रदेश में भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है, जिसके तहत रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक किसी को आवागमन पर रोक लगा दी है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने CORONA का येलो अलर्ट घोषित किया

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने भारत की राजधानी दिल्ली में कोरोनावायरस का येलो अलर्ट डिक्लियर कर दिया है। सभी स्कूल कॉलेज टोटल बंद रहेंगे। सरकारी एवं प्राइवेट ऑफिस में 50% से अधिक कर्मचारी उपस्थित नहीं रह सकते। मार्केट खुले रहेंगे लेकिन किसी भी दुकान, रेस्टोरेंट अथवा होटल में भीड़ नहीं होनी चाहिए। Social Distancing का उल्लंघन होने पर दुकानदार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। शादी पार्टी आदि में 20 से अधिक लॉनगों की उपस्थिति पर रोक लगा दिया गया है।

महाराष्ट्र और हरियाणा में संक्रमण की रोक के लिए प्रतिबंध लगाए

महाराष्ट्र में संक्रमित नागरिकों की संख्या सबसे ज्यादा है। यहां धारा 144 के तहत किसी भी स्थान पर 5 से अधिक नागरिकों की उपस्थिति दंडनीय अपराध घोषित की गई है। भीड़ में खड़े लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा एवं धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली के नजदीक हरियाणा राज्य में केवल वैक्सीनेटेड लोगों को घर से बाहर निकलने की अनुमति दी गई है।

mp school college update today
mp school college update today

एमपी सरकार कब लेगी फैसला-

देश में तथा प्रदेश में बढ़ते कोरोना संकट को देखते हुए एमपी सरकार ने स्कूलों को लेकर कोई फैसला अभी तक जारी नहीं दिया है, जबकि देश की राजधानी नई दिल्ली में सभी स्कूल तथा कॉलेजों को टोटली बंद कर दिया गया है। क्योंकि छात्रों के लिए कोरोनावायरस की वजह से उनकी जिंदगी को खतरे में नहीं डाला जा सकता है। ओमीक्रोन वायरस बहुत ही खतरनाक वायरस है, अभी तक पूरे देश में संपूर्ण वैक्सीनेशन भी नहीं हो पाया है। तो ऐसी स्थिति में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को छात्रों के बारे में अवश्य सोचना चाहिए। तथा जल्द से जल्द फैसले लेने चाहिए। क्योंकि छत्तीसगढ़ तथा महाराष्ट्र में आंकड़ों के अनुसार पता लगा है कि कई सारे स्टूडेंट कोविड-19 से ग्रसित होते जा रहे हैं।

महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ में पॉजिटिव पाए गए 32 स्कूली छात्र-

देश में ओमीकान के बढ़ते हुए मामलों के साथ ही कोरोना भी अपना भयंकर रूप लेता जा रहा है, इस कारण से बच्चों में एवं उनकी पढ़ाई में फिर से बाधा उत्पन्न हो रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार हमारे देश में शनिवार को ओमीक्रोन के लगभग 415 मामले सामने आए हैं। इस कारण से लोगों में दहशत का माहौल है। इधर देश के राज्यों में कोरोनावायरस बढता जा रहा है। और कोरोनावायरस की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। छत्तीसगढ़ के एक स्कूल में एक साथ 13 छात्र कोरोना से संक्रमित पाए गए। देश में करोना और ओमीक्रोन के भयंकर खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने भी देश के 10 राज्यों को खत लिखकर अलर्ट जारी कर दिया है। इन 10 राज्यों में केंद्र की तरफ से स्पेशल टीम भेजी जाएगी जिससे ओमी क्रान एवं कोरोना को विकराल रूप लेने पर रोक लगा सके।

सभी खबरों के लिए गूगल पर सर्च करें physicshindi.com तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें।

व्हाट्सएप पर सभी जानकारियाँ पाने के लिए यहाँ क्लिक करके आप हमारा Whatsapp ग्रुप जॉइन कर सकते है।