मध्यप्रदेश ताजा खबर

स्कूल – काॅलेजों में आज से पूरी क्षमता से होगी पढ़ाई | MP School College opens with full strength

स्कूल – काॅलेजों में आज से पूरी क्षमता से होगी पढ़ाई | MP School College opens with full strength

शिक्षा : अब ऑनलाइन कक्षाएं नहीं चलेंगी, सभी विद्यार्थियों को जाना होगा स्कूल – काॅलेज

जबलपुर: सभी स्कूल और काॅलेज पूरी क्षमता के साथ सोमवार से खुल रहे हैं। कोरोना संक्रमण के बाद पहली बार शिक्षण संस्थानों में सभी सुविधाएं दोबारा प्रारम्भ की गई हैं। इसके तहत स्कूलों में प्रार्थना, खेलकूद के अलावा कैंटीन तक की सुविधाएं विद्यार्थियों के लिए शुरू हो जाएंगी। अब 50 फीसद क्षमता का नियम नहीं लागू होगा। शत प्रतिशत क्षमता के साथ पढ़ाई भौतिक कक्षाओं में कराई जाएगी। ऑनलाइन कक्षाओं को बंद कर दिया गया है। छात्रावास को लेकर अभी तक स्कूलों की तरह से निर्णय नहीं हुआ है ऐसे में छात्रावास में रहकर पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी असमंजस में हैं।

Join

शुरू होगी प्रार्थना: एमएलवी स्कूल की प्राचार्य प्रभा मिश्रा ने बताया कि स्कूल में सुबह प्रार्थना होगी। इसके अलावा खेल भी शुरू होंगे। कैंटीन की सुविधा को भी चालू कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि छात्रावास खुलने के बाद उपस्थिति बढ़ेगी। अधिकांश छात्राएं छात्रावास में रहकर ही पढ़ाई करती हैं।

काॅलेजों में भी खुलेगा सब कुछ: विश्वविद्यालय और काॅलेज भी पूरी क्षमता के साथ खुलेंगे। विगत 18 नवंबर को इस संबंध में आदेश उच्च शिक्षा विभाग से जारी हुए हैं। इसमें ऑनलाइन कक्षाएं बंद कर भौतिक पढ़ाई शुरू करने के लिए कहा गया है। विभाग ने 100 फीसद उपस्थिति के साथ पुस्तकालय और स्नातक और स्नातकोत्तर की कक्षाएं खोलने को कहा है। अग्रणी महाकोशल काॅलेज की प्रभारी प्राचार्य डाॅ. प्रभा पुरवार ने कहा सभी तैयारी हो चुकी है। शासन के निर्देश के अनुसार पूरी क्षमता के साथ महाविद्यालय खोला जाएगा।

Join
MP School College opens with full strength
MP School College opens with full strength

दोनों डोज लगवाने पर ही छात्रावास में मिलेगा प्रवेश

जबलपुर: रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय समेत काॅलेजों के छात्रावास को खोलने के आदेश उच्च शिक्षा विभाग से जारी हो चुके हैं। विश्वविद्यालय ने जहां 29 नवंबर से छात्रावास खोलने की तैयारी की है, वहीं काॅलेजों ने भी प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। विद्यार्थियों के आने का फिलहाल इंतजार किया जा रहा है। इधर शासन ने उन्हीं विद्यार्थियों को छात्रावास में प्रवेश देने के निर्देश दिए हैं जिन्होंने कोरोना से बचाव के टीके की दोनों डोज लगवा ली है। छात्रावस में कार्यरत कर्मियों के लिए भी टीका लगवाना अनिवार्य गया है।


रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय प्रशासन ने साु किया है कि उन्हीं विद्यार्थियों को छात्रावास में प्रवेश मिलेगा जिनकी फीस जमा होगी। निर्धारित शर्ताें को पूरा करने वाले ही प्रवेश के लिए पात्र होंगे। शासन के निर्देश के अनुसार छात्रावास के लिए गाइडलाइन जारी हुई है। उन्हीं छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा जो कि विश्वविद्यालय के शिक्षण विभागों में अध्ययनरत हैं और जिनके द्वारा काशन मनी और फीस जमा की जाएगी, उन्हें ही पात्र घोषित किया जाएगा। उच्च शिक्षा विभाग ने काॅलेज प्राचार्यों को जवाबदारी दी है कि शिक्षण संस्थान में पदस्थ कर्मचारी, अधिकारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दोनों टीके लगावाएं।

माडल साइंस काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. एके महोविया ने बताया कि सभी विद्यार्थियों से टीके से संबंधित प्रमाण पत्र लिया जाएगा। उसी आधार पर उन्हें प्रवेश मिलेगा। छात्रावास में प्रवेश के लिए प्रक्रिया प्रारम्भ हो गई है।

कक्षा 9th अर्धवार्षिक परीक्षा 2021 के सभी पेपर तथा सोल्यूशंस पीडीएफ़ डाउनलोड क्लिक here

कक्षा 10th अर्धवार्षिक परीक्षा 2021 के सभी पेपर तथा सोल्यूशंस पीडीएफ़ डाउनलोड क्लिक here

कक्षा 11th अर्धवार्षिक परीक्षा 2021 के सभी पेपर तथा सोल्यूशंस पीडीएफ़ डाउनलोड क्लिक here

कक्षा 12th अर्धवार्षिक परीक्षा 2021 के सभी पेपर तथा सोल्यूशंस पीडीएफ़ डाउनलोड क्लिक here


छात्रावास में निर्धारित पात्रता वाले विद्यार्थियों को ही प्रवेश दिया जाएगा। विवि प्रशासन प्रवेश को लेकर सख्त है। विषय बदलने का आदेश करने से चूके हजारों विद्यार्थी, निकल गई डेट
ज्बलपुर: प्रवेश के बाद विषय परिवर्तन का सिलसिला भी खत्म हो गया। इस दौरान सैकड़ों विद्यार्थी विषय बदलने से चूक गए। काॅलेजों से विद्यार्थियों को फोन किया गया और संदेश भी गए, लेकिन इसके बावजूद कई विद्यार्थी आवेदन करने नहीं पहुंचे। 20 नवंबर को उच्च शिक्षा विभाग ने विषय बदलने के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि तय की थी। अब वंचित रह गए विद्यार्थियों का क्या होगा यह कोई नहीं समझ पा रहा है।
स्नातकस्तर पर बड़ी संख्या में गलत विषय चयन के कारण शिक्षण कार्य में परेशानी खड़ी हो गई थी। इसे लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने छात्रों को विषय चयन करने का मौका दिया था। लगातार बढ़ रही प्रवेश प्रक्रिया और पढ़ाई प्रभावित होता देख उच्च विभाग ने पहले ही ताकीद दे दी थी िकइस प्रक्रिया को आगे बढ़ाना अब मुश्किल होगा। काॅलेज अपने स्तर पर छात्रों को इसकी जानकारी देकर फार्म भी भरवाएं। क्योंकि बिना आवेदन परिवर्तन किए दूसरे पाठ्यक्रम में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

इससे छात्रों की पढ़ाई को लेकर नई समस्या पैदा होगी। विदित हो कि इसके लिए आठ नवंबर से प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। शासकीय महिला गृह विज्ञान काॅलेज में ही बड़ी संख्या में छात्राएं मैसेज एवं फोन करने के बाद भी काॅलेज नहीं पहुंची। प्रवेश प्रभारी डाॅ. गीता शुक्ला ने बताया कि कई छात्राओं को फोन किए गए जब फोन नहीं उठे तो उन्हें मैसेज भी किए गए ताकि वे वाट्सएप के माध्यम से जानकारी भेज दें, लेकिन इसके बाद भी बहुसंख्य छात्राएं विषय परिवर्तन के लिए नहीं आई। यही स्थिति साइंस काॅलेज सहित अन्य काॅलेजों में देखी गई। उने अनुसार मेजर, माइनर और इलेक्टिव के अलावा वोकेशनल के साथ इंटर्नशिप या प्रोजेक्ट में विद्यार्थियों को चयन करना था।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

एमपी बोर्ड मॉडल पेपर्स डाउनलोड करने के लिए यहाँ पर क्लिक करें 

एमपी बोर्ड अर्धवार्षिक परीक्षा सिलेबस पीडीएफ़ डाउनलोड क्लिक here

एमपी बोर्ड त्रैमासिक परीक्षा 2021 के सभी पेपर पीडीएफ़ डाउनलोड click here

ऐसे ही रेगुलर अपडेट के लिए आप हमारी वेबसाईट physicshindi.com पर विज़िट करते रहिए।

अगर आप मार्कशीट में करेक्शन कैसे करें इसका पूरा प्रोसेस जानना चाहते है तो यहाँ पर क्लिक करें

You may also like

Comments are closed.