MP government school opening 2022: छात्रों के लिए खुशखबरी, स्कूल खुलने की बारी

आज की पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि मध्य प्रदेश के सभी सरकारी स्कूल कब से खोले जाएंगे और उन में क्या बदलाव हुए हैं l मध्य प्रदेश की बोर्ड परीक्षा समाप्ति के बाद रिजल्ट भी घोषित किया जा चुका है l विद्यार्थी अपने रिजल्ट के अनुसार आगे की पढ़ाई के लिए फैसला भी ले लिए हैं l अब ऐसे में जिन लोगों ने भी परीक्षा में बेहतरीन अंक प्राप्त किए हैं या पास हुए हैं तो उन्हें अगली कक्षा में प्रवेश लेने के लिए स्कूल जाना होगा l तो आज हम आपको बताएंगे कि मध्य प्रदेश के स्कूल कब से खोले जाएंगे l

MP government school opening 2022

जिले के सरकारी विद्यालयों के दरवाजे सोमवार से छात्रों के लिए खुल जायेंगे। चुनाव आचार संहिता के चलते विद्यालयों में प्रवेश उत्सव कार्यक्रम की औपचारिकता निभाई जायेगी। धूमधाम से आयोजन नहीं होंगे। विद्यालय पहुंचने वाले छात्रों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तक का वितरण किया जायेगा। फिर अभिभावक व शिक्षकों के बीच मीटिंग होगी, यह मीटिंग प्रत्येक माह आयोजित होगी।

Join
  • आज से खुलेंगे सरकारी स्कूल
  • औपचारिक होगा प्रवेश उत्सव
  • अभिभावक, शिक्षकों की मीटिंग होगी
  • कक्षा उन्नति व नवीन प्रवेश के साथ छात्र मैपिंग भी

सोमवार को विद्यालय खुलने के साथ ही नये सत्र 2022-23 की छात्र मैपिंग प्रक्रिया भी प्रारम्भ हो जायेगी। छात्र मैपिंग की प्रक्रिया में छात्रों को प्रवेश दिलाया जायेगा। पहली छठवीं और नौंवी कक्षा में छात्रों को नवीन प्रवेश दिये जायेंगे। शेष कक्षाओं में छात्रों को कक्षा उन्नति देने की प्रक्रिया इसी महीने पूरी की जायेगी।

MP government school opening 2022 overview

Title MP government school opening 2022
Article type School opening news
State Madhya Pradesh
Academic year 2022-23
School type Govt.
Board MP Board
Official website mpbse.nic.in
MP government school opening 2022
MP government school opening 2022

स्कूल के साथ चुनाव का हो रहा आयोजन

गौरतलब है कि नया शैक्षणिक सत्र ऐसे समय में प्रारम्भ हो रहा है, जब पंचायत चुनाव नगरीय निकाय चुनाव के आयोजन हो रहे हैं। इन चुनावों में करीब 80 प्रतिशत शिक्षकों की ड्यूटी लगी हुई है। ऐसे में फिलहाल विद्यालयों में पठन-पाठन जोर पकड़ेगा, ऐसा मुश्किल लग रहा है। बचे हुए 20 प्रतिशत शिक्षकों के सहारे अभी विद्यालयों का संचालन होगा। फिर चुनाव समाप्त होने के बाद विद्यालयों में अध्यापन कार्य की गति बढ़ सकती है।

अगस्त तक ठीक से हो सकेगा कक्षाओं का संचालन

चूंकि अभी रुक जाना नहीं परीक्षा चल रही है। वहीं, 20 जून से कक्षा 10वीं, 12वीं की पूरक परीक्षा भी होने जा रही है। इसके अलावा नवीन प्रवेश के लिए विद्यालयों में छात्रों के अलावा बाहरी लोगों की आवाजाही भी रहेगी। ऐसे में विद्यालयों का अकादमिक वातावरण प्रभावित हो सकता है। चुनावों के कारण अकादमिक कार्य प्रभावित होंगे, वो अलग। अतः अभी विद्यालयों में कक्षाओं का संचालन पूरी तरह होना मुश्किल लग रहा है। अगस्त महीने के बाद ही गाड़ी पटरी पर आ सकती है। अध्ययन करना होगा।

आरटीई के तहत अब तक नहीं हुए प्रवेश

इसके इतर राज्य शासन ने अभी तक नए सत्र में आरटीई के तहत प्रवेश प्रक्रिया भी प्रारम्भ नहीं की है। इससे भी छात्र और अभिभावक पशोपेश में है। पिछले सत्र में भी राज्य शिक्षा केंद्र ने आरटीई के तहत प्रवेश की कार्यवाही विलम्ब से प्रारम्भ की थी। अब इस सत्र में भी देरी हो रही है। बहरहाल, आरटीई के तहत प्रवेश प्रक्रिया जब शुरू होगी, तो उसको पूरा होने में महीने भर से अधिक का समय लग जायेगा। बता दें कि आरटीई के तहत गरीब छात्रों को उनके स्थायी आवास के नजदीक के निजी विद्यालयों में प्रवेश देने का नियम है।

व्यवस्था सुधारने पर ध्यान नहीं

जिले में 2841 प्राथमिक व 935 माध्यमिक शालाएं हैं। इन विद्यालयों के भवन, संसाधन की स्थिति पहले से अच्छी नहीं है। नये सत्र में कुछ बेहतर होगा, इसकी सम्भावनाएं नहीं है। मप्र शासन ने जोर-शोर से सर्व सुविधायुक्त सीएम राइज स्कूल खोलने की घोषणा की थी। जिले के 12 विद्यालय चिन्हित हुए हैं लेकिन पहले चरण में प्रदेश के 50 विद्यालय ही अब सीएम राइज स्कूल के रूप में संचालित होंगे। इनमें रीवा जिले के चिन्हित विद्यालयों का नाम नहीं है। ऐसे में जिले के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों को फिलहाल पुरानी व्यवस्था में ही संघर्ष करते हुए अध्ययन करना होगा l

TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PH HOME PAGE CLICK HERE