भोपाल

उच्च शिक्षा की समीक्षा में बैठक सीएम ने कहा – मप्र को ऑनलाइन शिक्षा के क्षेत्र में आदर्श बनाएं ( MP education 2022 online system )

उच्च शिक्षा की समीक्षा में बैठक सीएम ने कहा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि कोरोना काल में प्रारंभ वर्चुअल कक्षाओं का संचालन विद्यार्थियों के लिए उपयोगी सिद्ध हुआ है। सामान्य स्थितियों में भी इसका उपयोग होना चहिए। मप्र को ऑनलाइन शिक्षा के क्षेत्र में आदर्श बनाएं। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा 100 संस्थानों में 200 स्मार्ट क्लास के संचालन का सराहनीय है। यह बात सोमवार को मंत्रालय में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान कही। इस दौरान जानकारी दी गई कि प्रदेश में 100 उच्च शिक्षा संस्थानों में 459 पाठ्यक्रम के संचालन की मंजूरी दी गई है। इनमें 282 प्रमाण-पत्र ओर 177 डिपलोमा पाठ्यक्रम शामिल हैं।

Join

मप्र को ऑनलाइन शिक्षा के क्षेत्र में आदर्श बनाएं

विद्यार्थियों के लिए ये पाठ्यक्रम जीवन की राह पर आगे बढ़ने में सहयोगी होंगे । राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 क परिप्रेक्ष्य में प्रदेश में 85 विषय के लिए परिणाम आधारित पाठ्यक्रम का निर्माण किया गया है। प्रदेश के 200 महाविद्यालयों में वर्चुअल क्लास रूम की स्थापना का कार्य भी चल रहा है।

बिना उद्देश्य के डिग्री, बेरोजगारों की फौज तैयार करने का काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि उच्च शिक्षा, विद्यार्थियों के करियर निर्माण, ज्ञान प्राप्ति और रोजगार चुनने में मददगार है। उच्च शिक्षा में प्रर्याप्त रूचि रखने वले छात्र – छात्राओं के लिए यह अत्यंत उपयोगी है। यदि विद्यार्थी बिना उद्देश्य के शिक्षण परिसर मे जीवन के महत्वपूर्ण पांच-छह साल सिर्फ डिग्री के लिए व्यतीत करें तो हम बेरोजगारों की फौज तैयार करने के अलावा कुछ हासिल नहीं कर पाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पाठ्यक्रम को रोजगार मुलक बनाए।

MP education 2022 online system
MP education 2022 online system

यह निर्देश भी दिए

  • रोजगार देने वाले कोर्सेस को बढ़ावा दिया जाए।
  • स्मार्ट क्लास बन जाने के बाद उनका उपयोग बढ़ाए।
  • ऐसा मैकेनिज्म बनाएं कि यह भी ज्ञात हो कि इन सुविधाओं का लाभ विद्यार्थियों को मिल रहा या नहीं।
  • थर्ड पार्टी निरीक्षण प्रभावी हो। वास्तव में निष्पक्ष रूप् से थर्ड पार्टी बने निरीक्षण में काॅलेज के ही प्रतिनिधि न हो।
  • काॅलेजों को प्लेसमेंट में सहयोगी केंद्र बनाए। वर्तमान जरूरतों के अनुरूप् हों पाठ्यक्रम।
  • ग्रामीण क्षेत्र तक वर्चुअल क्लास का लाग पहुंचाने का प्रयास हो।
JOIN WHATSAPP GROUPCLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUPCLICK HERE
PHYSICSHINDI HOMECLICK HERE

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *