MP College छात्रों की कोरोना की वजह से ओपन बुक पद्धति से कराए परीक्षा की मांग।

कोरोना की वजह से ओपन बुक पद्धति से कराए परीक्षा की मांग। एक तरफ लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं दूसरी और विद्यार्थियों में परीक्षा का टेंशन। इसलिए अनुमान लगाया जा रहा है कि फरवरी माह में कोरोनावायरस पिक आ जाएगा। ऐसे में छिंदवाड़ा यूनिवर्सिटी द्वारा विद्यार्थियों ने ऑनलाइन परीक्षा हेतु मांग की जा रही है। कोरोना की तीव्रता को देखते हुए अनेकों विश्वविद्यालयों द्वारा या तो परीक्षा आगे बढ़ा दी जाए या ओपन बुक एग्जाम के माध्यम से विद्यार्थियों को उनके घर में रहते हुए सुरक्षित परीक्षाएं ली जाए।

छिंदवाड़ा यूनिवर्सिटी द्वारा लॉ संकाय के विद्यार्थी की परीक्षाएं फरवरी माह के प्रथम सप्ताह में ली जाती है। जब सिवनी छिंदवाड़ा और बालाघाट में लगातार कोरोना केसेस बढ़ रहे हैं और कोरोना अपडेट कीर्तिमान बना रहे हैं। ऐसे में विद्यार्थियों और उनके परिवार के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए या तो परीक्षा आगे बढ़ाई जाए या फिर ओपन बुक एग्जाम के माध्यम से परीक्षा ली जाए।

MP Collage exam online mode
MP Collage exam online mode

इन्हीं मांग को लेकर लो संकाय के डीपी चतुर्वेदी महाविद्यालय शासकीय लॉ कॉलेज एवं ग्लोबल लॉ कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा कलेक्टर सिवनी विद्यालय सिवनी एवं केवलारी सांसद सिवनी एवं अन्य राजनैतिक संगठनों के अध्यक्षों एवं जिम्मेदार पदअधिकारियों को ज्ञापन सौंपा जा चुका है।

कोरोना के बीच कॉलेज एग्जाम को लेकर बड़ी बातचीत:-

इस मामले में जबलपुर यूनिवर्सिटी में भी हंगामा चल रहा है। प्रश्न यह है कि यदि इन परीक्षाओं के दौरान विद्यार्थियों में अथवा उनके परिवारों में संक्रमण फैलता है तो इसकी जिम्मेदारी और उनके इलाज का व्यवस्था की जिम्मेदारी कौन लेगा। क्या शिवनी में स्थित तीनों कॉलेजों के समस्त विद्यार्थियों के कोरोनावायरस के तहत सोशल दूरी बनाते हुए परीक्षा करवा पाना संभव है।

यह सारे प्रश्न इस बात की ओर इशारा करते हैं कि महाविद्यालय प्रशासन और सरकार को विद्यार्थियों के हित को ध्यान में रखते हुए या तो ओपन बुक एग्जाम कराया जाना चाहिए या इन परीक्षा को कुछ दिन के लिए टाल देना चाहिए।

कोरोना के बढ़ते कैसेट के बीच अभी भी कॉलेज में कक्षाएं संचालित हो रही है छात्र छात्राओं ने की है की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कराई जाए बीते साल की तरह इस साल भी ऑनलाइन मोड पर ही परीक्षाएं कराई जाए छात्र-छात्राओं की कि इस बार आधे से ज्यादा सत्र में ऑनलाइन क्लासेस ही संचालित हुई है ऐसे में अब परीक्षा की ऑफलाइन मोड की जगह ऑनलाइन मोड पर ही आयोजित कराई जानी चाहिए।

कोरोनावायरस की वजह से विद्यार्थी जीवन पर प्रभाव:-

कोरोनावायरस ने भारत की शिक्षा को प्रभावित किया है फिलहाल कोरोना की वजह से विद्यालय बंद कर दिए गए हैं सरकार ने अस्थाई रूप से इन स्कूल कॉलेज को बंद कर दिया है वर्तमान स्थिति के अनुसार एक अनिश्चितता है कि स्कूल कब खुलेगा।

 अधिक जानकारी के लिए physicshindi.com पर विजिट करते रहिए।