50 प्रतिशत मूल्यांकन कम्प्लीट, अप्रैल के दूसरे पखवाड़े में आ सकता है रिजल्ट

हमारे प्रतिनिधि, जबलपुर बोर्ड की कक्षा दसवीं और बारहवीं का मूल्यांकन कार्य तेजी पर है। शनिवार को 50 प्रतिशत मूल्यांकन कार्य पूरा हो चुका है पूरा मूल्यांकन है। खत्म करने के लिए माशिम ने 20 दिन का टारगेट दिया है। लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि उक्त टारगेट के पहले ही मूल्यांकन समाप्त हो जाएगा माशिमं की मंशा अप्रैल के दूसरे पखवाड़े में बोर्ड परीक्षाओं का टाइम टेबल घोषित करने की है। इस संबंध में एमएलबी स्कूल की प्राचार्य प्रभा मिश्रा ने बताया कि जब सभी मूल्यांकनकर्ता आ जाते है तो कापियों तेजी से जँचती हैं। बोर्ड की दोनों परीक्षाओं को मिलाते हुए सवा लाख के लगभग कॉपियाँ हो रही हैं, जिनमें से 60 हजार से अधिक कॉपिया चैक हो चुकी हैं।

Join

11 केन्द्रों में हुई संस्कृत की परीक्षा- शहर के 11 परीक्षा केन्द्रों में कक्षा 12वीं, संस्कृत विषय की परीक्षा आयोजित हुई। परीक्षा के लिए पंजीकृत 72 परीक्षार्थियों में से 70 परीक्षा में शामिल हुए। 2 छात्र अनुपस्थित पाए गए। डीईओ घनश्याम सोनी ने इस दौरान कोई भी नकल प्रकरण न बनने की बात कही है। मध्य प्रदेश बोर्ड परीक्षा 2022 मूल्यांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है और पहले दिन लगभग 1200 कॉपी का मूल्यांकन 100 से अधिक शिक्षकों द्वारा किया जाता है। मूल्यांकन के दौरान यह पाया गया कि लगभग 6 प्रश्नपत्रों में प्रश्न गलत हैं और भाषा की त्रुटियां हैं, इसे देखते हुए, अधिकारियों ने छात्रों को बोनस अंक देने का निर्णय लिया है।

10-12वीं की परीक्षा में ग्वालियर, भोपाल संभाग में बने सर्वाधिक नकल प्रकरण:-

एमपी बोर्ड की 10-12वीं की परीक्षाएं समाप्त हो गई है। शनिवार को 12व का अंतिम पेपर था। बोर्ड को सख्तों के कारण इस बार 171 नकलची पकड़े गए, जो पिछले वर्षों के मुकाबले काफ कम है। नकल प्रकरणों के मामले में इस बार भी ग्वालियर संभाग पहले और भोपाल संभाग चौधे नंबर पर रहा। दो साल बाद हुई ऑफ परीक्षा में मंडल ने संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील केंद्रों पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए थे। सुरक्षा 10 करोड़ रुपए से अधिक खर्च हुआ। इसमें से करीब 3 करोड़ रुपए अतिशील केंद्रों पर खर्च हुए। सबसे अधिक अतिसंवेदनशील केंद्र स्वालियर, पिंड एवं मुरैना में बनाए गए।

MP Board Result 2022
MP Board Result 2022

मंडल ने भिंड, स्वालियर एवं मुरैना में परीक्षा केंद्रों पर नजर रखने के लिए दो-दो लाख रुपए अतिरिक्त दिए थे।सिंह मुरैना के निर्धारित परीक्षा केंद्र पर लाइव वेब फॉस्टिंग एवं वीडियो रिकॉर्डिग भी कराई गई। भोपाल जिले में सह उड़नदस्तों का गठन किया गया था। इसमें से जिला शिक्षा कार्यालय से तीन टीमें थीं। सभी 51 जिलों में परीक्षा सुचारू रूप से संचालित करने के लिए मंडल ने जिला प्रशासन को एक-एक लाख रुपए एवं संवेदनशील एवं अतिवदनशील केंद्रों के लिए दो-दो लाख रुपए हाईस्कूल को दिए थे।

अगले सत्र से ठीक से हो पढ़ाई – सरकार की मंशा है कि अगले शिक्षण सत्र को समय पर ठीक तरह से शुरू किया जाए. कोरोना की वजह से छात्रों की पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हुई है. ये भी जानकारी मिली है कि पहले की तरह इस बार भी मूल्यांकन केंद्र में मोबाइल को पूरी तरह से प्रतिबंधित किया गया है. साथ ही मूल्यांकन केन्द्र पर धारा 144 लागू रहेगी.

कब जारी होगा 10वीं और 12वीं का परिणाम:-

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने एमपी बोर्ड कक्षा 10, 12 परिणाम ऑनलाइन अपलोड करने का निर्णय लिया है. उम्मीद है कि मध्य प्रदेश बोर्ड बोर्ड परीक्षा 2022 का परिणाम (board exams 2022 result) अप्रैल के अंत या मई के पहले सप्ताह में जारी करेगा। 10वीं की परीक्षाएं 18 एवं 12वीं की 17 फरवरी से शुरू हुई थी। दोनों परीक्षाओं में 18 लाख से अधिक विद्यार्थी शामिल हुए। परीक्षा के लिए प्रदेश भर में 3,861 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। भोपाल में 104 परीक्षा केंद्र पर परीक्षा हुई। इनमें से 6 संवेदनशील और 14 अति संवेदनशील केंद्र थे।

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE