MP Board pre board exam update 2022 : दसवीं-बारहवीं की प्री-बोर्ड परीक्षा के लिए बीस से मिलेंगे प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका

हॉस्टल के छात्र नजदीकी स्कूलों से पेपर लेकर उसी में करेंगे जमा

Join

MP Board pre board exam : दसवीं-बारहवीं प्री-बोर्ड परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को बीस जनवरी से प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका मिलना शुरू होगी। विद्यार्थी स्कूल से प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका लेकर घर जाएंगे। घर में प्रश्न पत्र हल करने के बाद उत्तरपुस्तिका स्कूल में जमा करेंगे। जबकि हास्टल के छात्र अपने नजदीकी स्कूलों में जाकर प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका लेंगे और उसी स्कूल में जमा करेंगे। लोक शिक्षा संचालनालय ने प्री-बोर्ड परीक्षा को लेकर प्लान तैयार कर लिया है। सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी होने की संभावना है। वहीं, फरवरी के पहले सप्ताह में कोरोना के मामले ज्यादा बढ़ते है, तो अप्रैल तक दसवीं-बारहवीं की वार्षिक परीक्षा टल सकती है।

MP Board pre board exam

प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों देखते हुए सरकार ने 31 जनवरी तक बारहवीं तक सभी निजी व सरकारी स्कूल बंद कर दिए है। इसी बीच दसवीं-बारहवीं की प्री-बोर्ड परीक्षा होना थी। स्कूलों के बंद होने पर प्री बोर्ड परीक्षा टेक होम होगी। इसके तहत विद्यार्थी स्कूलों से प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका घर ले जाएंगे। घर में पेपर हल करके निर्धारित समय में स्कूलों में जमा करेंगे। स्कूलों के साथ प्रदेश में सौ से अधिक हॉस्टल बंद होने पर ऐसे छात्र अपने-अपने घरों को चले गए। यह छात्र

MP Board pre board exam
MP Board pre board exam

अपने घर के नजदीकी स्कूल में जाकर प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका लेंगे और उसी स्कूल में जमा करेंगे। इसी स्कूल में उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन भी किया जाएगा। टेक होम एक्जाम का लोक शिक्षण शिक्षण संचालनालय ने प्रस्ताव तैयार कर लिया है। टेक होम एक्जाम के लिए बीस जनवरी से प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका मिलने लगेगी। प्रस्ताव के तहत दो या तीन पेपर व उत्तरपुस्तिका एक साथ दिए जाएंगे। जब विद्यार्थी यह उत्तरपुस्तिका जमा कर देंगे, तो अगले प्रश्न-पत्र व उत्तरपुस्तिका दिए जाएंगे।

दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा के लेकर 31 जनवरी तक वेट एंड वॉच करेगा विभाग

दसवीं-बारहवीं की बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी से शुरू होना है। लेकिन प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ रहे है। इस बार विद्यार्थियों में भी तेजी से कोरोना फैला है। इसे लेकर 17 फरवरी से पेपर शुरू होने पर अभी सस्पेंस बरकरार है। एग्जाम को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग अभी वेट एंड वाँच की स्थिति में है। माशिमं के अधिकारियों की मानें तो अभी तक परीक्षाओं को लेकर अलग से प्लान नहीं बनाया है। 31 जनवरी तक कोरोना की स्थिति पर नजर रखे हैं। अगर 31 जनवरी तक कोरोना का पीक नहीं आता है, तो फरवरी में पीक आने की आशंका है। ऐसे में फरवरी के मध्य में होने वाली एमपी बोर्ड की परीक्षा की तारीखें आगे खिसक सकती हैं।

अप्रैल तक टल सकती है दसवीं-बारहवीं बोर्ड की वार्षिक परीक्षा

एमपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं क्लास की परीक्षा फरवरी के मध्य में होना है। बीते साल मार्च में कोरोना के पीक को देखते हुए एमपी बोर्ड ने पहली बार फरवरी के बीच में ही परीक्षा करवाने का निर्णय लिया था। लेकिन कोरोना का पौक फरवरी में होने की आशंका को देखते हुए सरकार एग्जाम को आगे खिसकाते हुए अप्रैल में कराने पर विचार कर रही है। अगर इसके बाद भी परीक्षा नहीं हो पाती हैं, तो इस बार आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर ही रिजल्ट तैयार किया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार एमपी बोर्ड के पास मार्च, अप्रैल और मई में परीक्षा कराने का समय है।