10वीं की परीक्षा समाप्त, 12वीं में कल रहेगा अंतिम पेपर

मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं की परीक्षा गुरुवार को समाप्त हो गई। बारहवीं की परीक्षा में शनिवार को अंतिम पेपर संस्कृत का रहेगा। मंडल द्वारा अप्रैल के अंतिम या मई के पहले सप्ताह में रिजल्ट देने की तैयारी की जा रही है। पहले बारहवीं का रिजल्ट घोषित किया जाएगा। मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं बारहवीं बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी से शरु हुई थी। बारहवीं परीक्षा में कुल 7,14,932 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है, जबकि दसवीं में कुल 10, 66, 791 परीक्षार्थी शामिल हुए।राजधानी में दसवीं की परीक्षा करीब 31538 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी।

बारहवीं में 24762 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है। गुरुवार को दसवीं की परीक्षा में नेशनल स्किल्स क्वालिफिकेशन पेपर के साथ संपन्न हो गई। बारहवीं में शनिवार 12 मार्च को अंतिम पेपर संस्कृत का रहेगा। मंडल ने दसवीं-बारहवीं के विद्यार्थियों की कापियों को जांचने का काम गत पांच मार्च से शुरू कर दिया है। इसमें 28 फरवरी से तक संपन्न हो चुके पेपरों की कॉपियां जांची जा रही है। कॉपियों को जांचने का काम करीब तीस हजार शिक्षक कर रहे है। इसमें बारहवीं की कापी जांचने का काम प्राथमिकता से किया जाएगा।

मूल्यांकन का दूसरा चरण पंद्रह मार्च से शुरू किया जाएगा। आनलाइन भेजे जा रहे अंक मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं-बारहवीं के विद्यार्थियों की कॉपियों के मूल्यांकन के अंक इस बार आनलाइन भेजे जा रहे है। मूल्यांकन के अंक आनलाइन आने से मंडल को रिजल्ट बनाने में समय नहीं लगेगा। साथ ही इस बार परीक्षा जल्द शुरू होने से मूल्यांकन भी जल्द शुरू हो गया है। मंडल द्वारा अप्रैल के अंतिम या मई के प्रथम सप्ताह में रिजल्ट घोषित करने की तैयारी की जा रही है। पहले बारहवीं का रिजल्ट घोषित किया जाएगा।

Join

प्रदेश के पहले ड्रोन स्कूल का ग्वालियर में शुभारंभ:-

प्रवेश के पहले ड्रोन स्कूल का शुभारंभ गुरुवार की शाम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया नरेंद्र सिंह तोमर व सांसद विवेक शेजवलकर ने ड्रोन उड़ाकर किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश का पहला ड्रोन स्कूल एमआइटीएस (माधव इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी एंड साइंस) में खुल गया है। इस क्षेत्र में प्रवेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार हर दिशा में काम कर रही है। प्रवेश को ड्रोन तकनीक के उपयोग में नंबर एक राज्य बनाना है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कहना है कि हमारा देश फालोअर नहीं, लीडर बनना चाहिए। यह इसी दिशा में उठाया गया कम है।

MP Board last Exam 2022
MP Board last Exam 2022

90 दिन में सारी अनुमतियां पूरी की गई और स्कूल खुल गया इस स्कूल में एक महीने में 40 से 50 छात्र प्रशिक्षित होंगे और साल में 500 युवा ड्रोन पायलट – तैयार होंगे। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि भारत सरकार के कृषि विभाग ने ड्रोन नीति जारी कर दी है। इसके तहत 12वीं पास विद्यार्थी चार लाख रुपये का अनुदान प्राप्त कर ड्रोन पायलट के रूप में अच्छा रोजगार पा सकते हैं। कृषि स्नातक विद्यार्थी ड्रोन तक की इकाई स्थापित करना चाहते हैं तो पांच लाख रुपये तक का अनुदान प्राप्त कर सकते हैं। संस्थान भी कृषि की दोन नीति के तहत सौ प्रतिशत तक का अनुदान प्राप्त कर सकती है। इस अवसर पर प्रवेश की खेल मंत्री यशोधराराजे सिंधिया, स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी, प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट व एमआइटीएस के डायरेक्टर आरके पंडित मौजूद थे।

माधवराव को श्रद्धासुमन अर्पित कर धर्मगुरुओं का सम्मान:-

दो वर्ष पहले (10 2) की) काग्रेस का दामन छोड़ भाजपा में शामिल हुए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिविया के पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री माधवराव सिंधिया के 774 जन्मदिवस पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में पूरी प्रदेश भाजप सिधियों के साथ खड़झे नजर आई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने] स्व. माधवराव सिंधिया की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद धर्मगुरुओं का सम्मान किया। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और खेल मंत्री व रिश्ते में ज्योतिरादित्य की दुआ यशोधरा राजनिधियों की मौजूदगी चर्चा का विषय रही।

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE