MP Board : अब जल्दी ही सीबीएसई की तर्ज पर सेमेस्टर सिस्टम लागू कर सकता है

सीबीएसई की तर्ज पर एमपी बोर्ड में सेमेस्टर सिस्टम लागू करने की तैयारी

नमस्कार दोस्तों जैसा की हम जानते है एमपी बोर्ड अच्छे परीक्षा परिणाम लेकर काफी चिंतित नजर आ रहा है बोर्ड के द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे है दोस्तों आपको बता दे की बेस्ट रिजल्ट के लिए बोर्ड द्वारा सुपर 5 पध्दति लागू की गई है जिसमे छात्रों को केवल 5 बिषय में पास होना होता है जिस बिषय में स्टूडेंट की रूचि नहीं उसे छोड़ सकता है जिसके अनुसार केवल 5 बिषय के आधार पर ही मुख्य परीक्षा का परिणाम तैयार किया जाता है जिस बिषय में सबसे कम अंक है या छात्र फ़ैल है उसके अंक मुख्य परीक्षा में नहीं जोड़े जाते है दोस्तों आप को बता दे की बोर्ड कुछ और नया करना चाहता है जिसके लिए मीटिंग और एक्सपोर्ट से सुझाब मांगे जाते है बोर्ड कुछ ऐसा ही नया करने जा रहा है जिसके बारे में हम आपको विस्तार से बताने वाले है।

 आर्ट्स के स्टूडेंट्स कर सकेंगे साइंस सब्जेक्ट की भी पढ़ाई

एमपी बोर्ड अब सीबीएसई की तर्ज पर सेमेस्टर सिस्टम लागू करने के साथ ही अपने बोर्ड पैटर्न में कई बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। इसमें कोई भी स्टूडेंट किसी एक संकाय के साथ दूसरे संकाय के सब्जेक्ट लेकर भी पढ़ाई कर सकेगा। यानी साइंस के स्टूडेंट आर्ट्स और आर्ट्स स्टूडेंट साइंस के विषय भी ले सकेंगे। इसके साथ ही एग्जाम पैटर्न को भी बदला जाएगा, जिसमें लेंदी उत्तर लिखने के बजाय पॉइंट में उत्तर देने होंगे। यह जानकारी एमपी बोर्ड के सचिव उमेश कुमार ने दी। इसी तरह के कई सुझाव कुशाभाऊ ठाकरे कन्वेंशन सेंटर (मिंटो हॉल) में स्कूल शिक्षा विभाग एवं एमपी बोर्ड के सहयोग से आयोजित संगोष्ठी में दिए गए हैं। यह सुझाव का संकलन कर उच्च स्तर पर भेजा जाएगा। सचिव ने बताया कि बोर्ड ने कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सभी विषयों पर 700 से अधिक वीडियो तैयार किए हैं। इसके साथ ही 15,500 प्रश्नों का बैंक बनाया है। इस मौके पर राज्यों द्वारा बोर्ड रिफॉस, दक्षता आधारित शिक्षा और आकलन, समग्र मूल्यांकन पर विमर्श, मौलिक रूप से आकलन पर पुनर्विचार और भावी कार्ययोजना पर प्रस्तुतिकरण दिए गए।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने में मध्यप्रदेश को अग्रणी राज्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध होकर काम करना होगा। यह बात माध्यमिक शिक्षा मण्डल की अध्यक्ष और प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि अरुण शमी ने कही। प्रमुख सचिव शमी ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में शिक्षा का नया परिदृश्य होगा। उसमें क्या आमूलचूल परिवर्तन लाएं, जिससे बच्चों का समग्र विकास हो, इस पर गहन विचार-विमर्श करने की मंशा से यह सेमीनार किया गया है।

क्या होगा सेमेस्टर सिस्टम लागू करने से जाने एक्सपर्ट से

  1. एक स्ट्रीम के साथ छात्र को दूसरी स्ट्रीम की पढ़ाई करने का हो ऑप्शन। 
  2. बेसिक और स्टैंडर्ड गणित में स्टूडेंट को मिले चॉइस का ऑप्शन
  3. ओपन बुक पैटर्न एग्जाम का ऑप्शन तलाशा जाए
  4. यदि ऑनलाइन पढ़ाई हो तो परीक्षा भी हो ऑनलाइन 
  5. सभी स्कूलों में बिजली के साथ इंटरनेट सुविधा हो
  6.  स्किल बेस एजुकेशन पर अब जोर दिया जाए।
  7. ऑनलाइन एग्जाम कराए जाएं, एक प्रश्न पत्र के 8 से 10 सेट तैयार कराएं। –
  8. ऑनलाइन पेपर जांचने की भी हो सुविधा।
 एमपी बोर्ड में सेमेस्टर सिस्टम लागू करने की तैयारी

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए physicshindi.com पर विज़िट करते रहिए। तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें।