भोपाल

MP Board Exams 2022 – कोरोना का कहर : 2022 में भी रद्द हो सकती हैं 10वीं-12वीं की परीक्षाएं, बोर्ड तैयार कर रहा मूल्यांकन नीति

MP Board Exams 2022: ओमिक्रॉन संकट के कारण परीक्षा को लेकर अब भी संकट बरकरार है। ऐसे समय में खबर सामने आई है कि बोर्ड द्वारा परीक्षा में भाग लेने वाले सभी छात्रों की जानकारी मांगी गई है। देश के विभिन्न राज्यों में दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी शुरू हो चुकी है। हालांकि, इस बीच कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। इस खतरे को देखते हुए राज्य सरकारों ने वैकल्पिक उपायों पर भी विचार करने शुरू कर दिए हैं। छात्र भी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर संशय में ही चल रहे हैं।

MP Board Exams 2022 पर भी संकट

मध्यप्रदेश बोर्ड ने भी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर डेटशीट जारी कर दी है। लेकिन ओमिक्रॉन संकट के कारण परीक्षा को लेकर अब भी संकट बरकरार है। ऐसे हालात को देखेते हुये बोर्ड ने परीक्षा में भाग लेने वाले सभी छात्रों की जानकारी मांगी है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि छात्रों के लिए एक वैकल्पिक परिणाम भी तैयार किया जा सके। ओमिक्रॉन संकट के ज्यादा बढ़ने की समस्या आने पर स्थिति को संभाला जा सके। जिससे कि अंतिम दो सालों की तरह बोर्ड को रिजल्ट बनाने में परेसानी का सामना न करना पड़े।

Join

MP Board Exams 2022 के रिजल्ट के लिए बोर्ड जुटा रहा अंक-

बोर्ड ने दसवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के त्रैमासिक, अर्धवार्षिक और प्री-बोर्ड परीक्षा के परिणामों को ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट करने के निर्देश जारी किए गए हैं। इस साल ऐसा लग रहा है कि इन्हीं परिणामों के आधार पर ही छात्रों के फाइनल परिणाम जारी किए जा सकते हैं। बोर्ड द्वारा नवीं और दसवीं कक्षा के परिणामों को ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट करने की समय सीमा 31 दिसंबर 2021 रखी गई है। वहीं, ग्यारहवीं और बारहवीं के परिणामों को अपडेट करने के लिए आखिरी तारीख 15 जनवरी 2021 है। क्यूकी अधिकतर स्कूलों ने अभी तक छात्रों के अंकों को अनलाइन पोर्टल पर अपड़ेट नहीं किया है, इसलिए बोर्ड को इसकी तारीख बढ़ानी पड रही है।

MP Board Exams 2022
MP Board Exams 2022

एमपी में स्कूल भी हो सकते हैं बंद – कई राज्यों के कर दिए बंद

राज्य में ओमिक्रॉन के संकट के बढ़ने पर सरकार द्वारा स्कूलों को बंद भी किया जा सकता है। कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण लंबे समय बाद मध्यप्रदेश में फिर से स्कूलों को वापस से शुरू किया गया है। इससे पहले सरकार ने राज्य में नाईट कर्फ्यू की घोषणा कर दी है। देश भर में अब तक ओमिक्रॉन के मरीजों की संख्या 300 के पार हो गई है। जिसको देखते हुये सीएम शिवराज सिंह चौहान ने स्कूलों में 50 फीसदी छात्रों को आने के आदेश जारी कर दिए जिसके तहत अब छात्र स्कूल में केवल 3 दिन ही एक हफ्ते में आ सकेंगे तथा शेष 3 दिन छात्रों को घर पर ऑनलाइन पढ़ाई का सहारा लेना पड़ेगा।

| NMMS Scholarship 2021-22 Full Details

| एमपी राज्य वन सेवा भर्ती – अंतिम तिथि, अप्लाइ

| For Vaccination Certificate – How to get Vaccination Certificate

| स्कूल कॉलेज बंद – आदेश , ओमीक्रॉन का खतरा

देश की राजधानी दिल्ली में स्कूल, कॉलेज बंद करने के आदेश जारी-

देश की राजधानी नई दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरिवाल ने ओमीक्रॉन वायरस के प्रकोप को बढ़ते हुये देख तत्काल प्रभाव से सभी स्कूल तथा कॉलेजों को बंद करने के आदेश जारी कर दिए, तथा पूरे शहर में नाइट कलफ़्यू भी लगा दिया तथा सभी नॉर्मल दुकानों को शाम 8 बजे बंद करने के आदेश जारी कर दिए। मुख्यमंत्री अरविन्द केजरिवाल ने लोगों से मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने के की भी अपील की है जिससे समय रहते इस खतरनाक वायरस से निजात प सके।

महाराष्ट्र में भी स्कूल हो सकते हैं बंद

इससे पहले महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने बुधवार को कहा था कि यदि राज्य में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले लगातार बढ़ते रहे और मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी जारी रही तो सरकार राज्य में स्कूलों को बंद कर सकती है। स्थिती की निगरानी की जा रही है।

JOIN WHATSAPP GROUPCLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUPCLICK HERE
PHYSICSHINDI HOMECLICK HERE

You may also like

Comments are closed.