बोर्ड परीक्षा में ठगी 7 हजार से ज्यादा बच्चों को असली पेपर देने का झांसा, 55 से 30 हजार वसूले

परीक्षा के 1 दिन पहले असली पेपर देने का दावा करने वाले ठग ने प्रदेश में 7000 से ज्यादा बच्चों को सांचे में ले लिया। 55 बच्चों से 30,000 से ज्यादा रुपए भी वसूल लिए। इसके बावजूद जिम्मेदारों ने इसकी जांच तक शुरू नहीं की मामला 10 फरवरी को सामने आया टेलीग्राम ग्रुप पर उसने बच्चों को जोड़ना शुरु किया। शुरुआत में संभावित प्रश्न उपलब्ध कराने हुए हल कराने के माध्यम से उसने बच्चों को जोड़ा और परीक्षा शुरू होने से यह वक्त पहले बच्चों को पहले 400 और बाद में ₹550 प्रति पेपर के के लिए मांग की। रुपए देने वाले बच्चों के लिए उसने एमपी बोर्ड परीक्षा प्रश्न पत्र ग्रुप में अलग ग्रुप बनाकर ऐड कर दिया अलग-अलग बना कर उक्त बदमाश लगातार स्कूली बच्चों से रुपए उठाने का काम कर रहा है।

बावजूद इसके अफसरों ने इस मामले में अब तक कोई कार्यवाही नहीं की है। अफसरों का ऐसा ही रहा तो बच्चे यूं ही ठगी का शिकार होते रहेंगे शुक्रवार की सुबह 10:00 बजे होने वाले पेपर के नाम पर एस्से हाथ से लिखकर प्रश्न डालें जो फर्जी निकला। 10वीं का पेपर हाथ से लिख कर डाला सोमवार से गुरुवार दसवीं की परीक्षा के लिए ठगने सुबह 7:00 बजे हाथ से लिख कर ग्रुप पर अपलोड कर दिया। ठग ने तर्क दिया कि आपका ग्रुप इतना हाईलाइट हो गया है कि बोर्ड को अपने पेपर का सेट बदलना पड़ा हालांकि उक्त पेपर फर्जी निकला लेकिन बच्चों परीक्षा का पेपर देने का सांझा देकर उन्हें गुमराह किया गया।

इस मामले में सायबर सेल में आवेदन दे दिया:-

सोशल मीडिया पर परीक्षा से पहले असली पेपर देने का साझा झूठा है। बच्चे ऐसे ऐसे लोग के बहकावे में ना आए पेपर के नाम पर बच्चों से रुपए ले रहे बदमाश की जांच के लिए हमने उसी दिन सरकार में आवेदन दे दिया है। यहां से जांच के बाद ही इस मामले में हम असली व्यक्ति तक पहुंच सकेंगे। नीरज शुक्ला डीईओ, हमें तो आज तक सूचना ही नहीं दी गई:- बोर्ड परीक्षा के पेपर देने का सांझा देकर बच्चों से रुपए वसूलने की जानकारी हमें अफसर के माध्यम से ही मिली शिक्षा अधिकारियों ने अब तक। इसको लेकर न तो हमें आवेदन दिया ना ही सूचना यदि वे आवेदन देने की बात कर रहे हैं तो गलत है आपके बताए मुताबिक हम इसके जांच पड़ताल करेंगे। संजय गुप्ता.

Join
MP Board Exam Viral pepar News
MP Board Exam Viral pepar News

8वीं के बाद सीधे 10वीं की बोर्ड परीक्षा में बैठे बच्चे,590 अनुपस्थित:-

गुरुवार को हुई 12वीं की परीक्षा के बाद शुक्रवार से दसवीं की मुख्य परीक्षा भी शुरू हो गई है। जिले के 36 केंद्र पर हुई परीक्षा मैं पहला दिन 500 90 बच्चों ने परीक्षा ही नहीं दी 590 बच्चे अनुपस्थित थे शुक्रवार को परीक्षा देने पहुंचे। बच्चे आठवीं के बाद सीधे दसवीं की परीक्षा दे रहे हैं। हालांकि पहला पेपर हिंदी का होने के कारण पहले दिन बच्चे उत्साहित नजर आए 30% कम सिलेबस और 20 अंकों के वस्तुनिष्ठ प्रश्न के कारण भी पहला पेपर बच्चों के लिए आसान रहा कक्षा दसवीं से इस बार 116661 बच्चे दर्ज हैं लेकिन इनमें से 111071 नहीं परीक्षा दी जबकि 590 बच्चे अनुपस्थित रहे।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE