MP बोर्ड में बड़े बदलाव की तैयारी:साइंस के स्टूडेंट हिस्ट्री सब्जेक्ट भी ले सकेंगे; CBSE की तर्ज पर सेमेस्टर सिस्टम लागू होगा

MP बोर्ड में बड़े बदलाव की तैयारी:साइंस के स्टूडेंट हिस्ट्री सब्जेक्ट भी ले सकेंगे; CBSE की तर्ज पर सेमेस्टर सिस्टम लागू होगा

एमपी बोर्ड जल्द ही Board pattern में बदलाव करने जा रहा है। स्टूडेंट अपनी पसंद के सब्जेक्ट ले सकेंगे। साइंस के स्टूडेंट आर्ट्स के विषय भी ले सकेंगे, तो आर्ट्स के स्टूडेंट Science और Maths के Subject पढ़ सकेंगे। छात्रों को मनचाहे Subject चुनने की सुविधा सेंट्रल यूनिवर्सिटी सागर में है। यहां Subject विशेष का स्टूडेंट दूसरे Subject लेकर यूजी कर सकता है।

MP Board के Secretory उमेश कुमार का बयान-

नई शिक्षा नीति 2020- बोर्ड रिफॉर्म्स एवं असिस्मेंट विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के पहले दिन गुरुवार को MP Board के Secretory उमेश कुमार ने यह बात कही। इसके साथ ही Board Exam 2022 को CBSE की तर्ज पर सेमेस्टर System भी लागू करने पर सुझाव आया है। यह व्यवस्था दो से तीन साल में लागू करने पर विचार हुआ है।

भोपाल के कुशाभाऊ ठाकरे कन्वेंशन सेंटर में मध्यप्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग एवं माध्यमिक शिक्षा मंडल के सहयोग से आयोजित संगोष्ठी में विभिन्न प्रदेशों के शिक्षा बोर्ड, NCERT, CBSE, ICSE, आईबी कैंब्रिज बोर्ड और प्रदेश के शिक्षाविद शामिल हुए। सभी बोर्ड के उपस्थित लोगों ने अपने यहां लागू सिस्टम और परीक्षा पैटर्न के बारे में बताया।

MP Board Exam pattern 2022
MP Board Exam pattern 2022

यह बदलाव भी होंगे

  • ओपन बुक पैटर्न से परीक्षा की संभावना है-
  • ऑनलाइन पढ़ाई के साथ ही ऑनलाइन परीक्षा के विकल्प पर भी विचार किया जा रहा है-
  • अपनी स्ट्रीम के साथ छात्र स्ट्रीम से अलग विषय ले सकेगा जिससे छात्रों को मदद मिलेगी-
  • बेसिक और स्टैंडर्ड गणित में से चुनाव कर सकेगा छात्र अपनी मर्जी से
  • सभी स्कूलों में नेट कनेक्टिविटी करने का प्रयास किया जाना पहली प्राथमिकता रहेगी-
  • एक सेंटर में ऑनलाइन परीक्षा का प्रयोग किया जाएगा जो कि एक नया प्रयोग होगा-
  • स्किल बेस एजुकेशन पर अब जोर दिया जाएगा
  • ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सभी विषयों पर 700 से अधिक वीडियो तैयार किए गए जो कि सभी छात्रों के लिए है-
  • सभी छात्रों के लिए प्रश्न बैंक अपलोड किया गया है जिसको आप ऊपर वाली लिंक से डाउनलोड कर सकते हो-

यह सुझाव आए

  • सभी छात्रों के ऑनलाइन एक्जाम कराएं
  • एक प्रश्न पत्र के 8 से 10 सेट तैयार कराएं तथा उनका रिवीजन करो-
  • ऑनलाइन पेपर जांचने की सुविधा जल्द से जल्द लागू हो-
  • प्रश्नों के उत्तरों को ज्यादा से ज्यादा छोटा पैटर्न किया जाए जिससे छात्रों को सहूलियत मिल सके-
  • परीक्षा के समय को 3 घंटे के तय समय को बदलना
  • बड़े उत्तर लिखने की जगह बिंदुवार किया जाए जिससे तार्किक शक्ति बढ़ सके-
  • नेशनल टेस्ट एजेंसी की तरह ही राज्य भी परीक्षा आयोजित करने का सिस्टम बनाएं
  • एक दिन में 80 हजार छात्र ऑनलाइन परीक्षा दे सके इस विकल्प पर विचार किया जाए-

मीटिंग के दौरान बताया गया कि मध्यप्रदेश में अभी करीब 40 हजार कम्प्यूटर है। ऐसे में एक दिन में करीब 80 हजार छात्र ऑनलाइन परीक्षा दे सकते हैं। हालांकि, इसके अलावा प्राइवेट एजेंसी टैबलेट के माध्यम से भी परीक्षा आयोजित करवाते हैं। यह एक साथ 1 लाख छात्रों से पेपर दिलवा सकते हैं।

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए physicshindi.com पर विज़िट करते रहिए। तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें।