एमपी में 400rs में ओरिजिनल पेपर लीक होने की पूरी संभावना | MP board exam paper leak news

 लॉकडाउन के बाद से बिगड़े एजुकेशन सिस्टम का फायदा उठाकर ठगों ने विद्यार्थियों से रुपए ऐंठने की तैयारी कर ली। बोर्ड परीक्षा के दो दिन पहले ओरिजिनल पेपर उपलब्ध कराने का दावा करते हुए बदमाशों ने प्रति पेपर 400 रुपए वसूलना भी शुरू कर दिया। इधर सोशल मीडिया पर खुलेआम बोर्ड कक्षा के बच्चों से हो रही ठगी के बावजूद विभागीय अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे है।

एमपी में 400 में ओरिजिनल पेपर लीक होने की पूरी संभावना | MP board exam paper leak news

टेलीग्राम पर वायरल हो रहे मैसेज को लेकर बच्चे अभी से पेपर लीक होने की बात कहने लगे है। ऐसे में प्रश्न पत्रों को जुड़े बोर्ड के विभागीय अमले को लेकर भी अभी से सवाल खड़े होने लगे है। स्थानीय अधिकारियों ने तो यह तक कह दिया कि सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर रुपए मांगने वाला कौन है, इसकी पहचान ही नहीं हो पा रही है तो कार्रवाई कैसे करेंगे। विभाग इस मामले में अपनी एनर्जी को खत्म नहीं करना चाहता। इसी का फायदा उठाकर कुछ लोगों ने स्कूली बच्चों को लूटना शुरू कर दिया है।

MP board exam paper leak news
MP board exam paper leak news

 

पहले मुफ्त में पेपर, अब 400 रुपए की वसूली

बच्चों के साथ ठगी करते हुए पेपर लीक करने वाले लोगों ने बच्चों को जोड़ने के लिए पहले त्रैमासिक और अर्द्धवार्षिक परीक्षा के दौरान उन्हें मुफ्त में पेपर उपलब्ध कराए। सोशल मीडिया पर परीक्षा के दो दिन पहले पेपर वायरल कर उन्होंने बच्चों को भरोसा जीत लिया। अब मुख्य परीक्षा में पेपर देने के बदले उन्होंने 400 रुपए की डिमांड करना शुरू कर दी है। बाकायदा रुपए चुका देने वाले बच्चों का उन्होंने अभी से अलग ग्रुप बनाना भी शुरू कर दिया। सोशल मीडिया पर परीक्षा के पेपर वायरल करने वालों पर त्रैमासिक व अर्द्धवार्षिक परीक्षा के दौरान ही कार्रवाई हो जाती, तो अब बच्चों के साथ ठगी नहीं हो पाती।

टेलीग्राम पर चैटिंग करके विद्यार्थियों को फंसा रहे

  • परीक्षा से पहले विद्यार्थियों से ठगी की तैयारी
  • तिमाही व अर्द्धवार्षिक परीक्षा के पेपर लीक कर विद्यार्थियों से संपर्क किया
  • माशिमं का लोगो लगा टेलीग्राम ग्रुप बनाया 400 रुपए में बोर्ड के पेपर देने का झांसा
MP board exam paper leak news
MP board exam paper leak news

माशिमं का लोगो लगाकर बनाया ग्रुप

बच्चों के साथ ठगी करने वाले वाले बदमाश ने अपनी प्रोफाइल पर माध्यमिक शिक्षा मंडल मप्र भोपाल का लोगो लगा रखा है। ग्रुप का नाम एमपी बोर्ड 9वीं से 12वीं तक के पेपर दिया है। जिसमें वह बच्चों से पिछली कक्षा की मार्कशीट की फोटोकॉपी, दो फोटो और प्रति पेपर 400 रुपए की डिमांड कर रहा है। रुपए देने की बात पर चेटिंग करने वाले विद्यार्थियों के सवाल खड़े करने पर ठगी करने वाला ओरिजिनल पेपर देने की गारंटी दे रहा है। बाकायदा 17 फरवरी को वाले पेपर को वह 16 फरवरी की रात में ही देने का दावा कर रहा है।

जिला शिक्षा अधिकारी नीरज शुक्ला का कहना है की

सोशल मीडिया के जरिए पेपर उपलब्ध कराने का दावा करना अपराध है। यदि इसके नाम पर कोई बच्चों से रुपए की डिमांड कर रहा है, तो अति संवेदनशील मामला है। मामले में पुलिस से कार्रवाई कराएंगे।

त्रैमासिक व अर्द्धवार्षिक परीक्षा में पेपर देकर बच्चों को जोड़ा

बच्चों को मुख्य परीक्षा का ओरिजनल पेपर उपलब्ध कराने का दवा करने वाले लोगों ने इसकी तैयारी पहले से ही कर रखी है। त्रिमाही व अर्द्धवार्षिक परीक्षा के दौरान ही उन्होंने बच्चों को जोड़कर बनाए गए ग्रुप में परीक्षा के पेपर पहले से वायरल किए। उक्त प्रश्न पत्रों का मिलान करने पर हूबहू वहीं पेपर परीक्षा में देख बच्चे इस ग्रुप से जुड़ने लगे।

परीक्षा को लेकर 2 बड़े सवाल

  • गोपनीयता व पुख्ता सुरक्षा इंतेजाम में रखे परीक्षा के पेपर बाहर तक कैसे आ रहे है ?
  • पिछले करीब 6 माह पहले से सोशल मीडिया पर पेपर लीक होने के बाद भी विभाग ने ठोस कार्रवाई क्यों नहीं की?

माशिमं की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल

बोर्ड कक्षाओं के पेपर लीक करने की सोशल मीडिया पर खुलेआम हो रही बात के बाद माशिमं की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े होने लगे है। क्योंकि बोर्ड परीक्षा की प्रश्न पत्रों की सुरक्षा को लेकर माशिमं कई दावे करता है। लेकिन इसके बाद भी इन दिनों सोशल मीडिया पर खुलेआम पेपर लीक करने के दावे हो रहे है। इससे माशिमं की पारदर्शिता पर भी सवाल खड़े हो गए है।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

Leave a Comment