एमपी बोर्ड परीक्षा को लेकर उच्च न्यायलय के निर्देश – Mp board exam high court order

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी 2022 से आयोजित होने वाली है जिसे लेकर मान्नीय उच्च न्यायालय ने बोर्ड परीक्षा हेतु दिशा निर्देश जारी किए हैं जिसमें उन्होंने परीक्षा सम्बंधित आदेश दिए हैं। जिन आदेशों के बारे में सभी छात्रों को जानना बहुत जरूरी है, तो प्यारे छात्रों आपको बिल्कुल भी टेन्सन लेने की जरूरत नहीं है, मध्य प्रदेश बोर्ड परीक्षा 2022 को लेकर माननीय उच्च न्यायालय ने बोर्ड परीक्षा को देखते हुये कुछ निर्देश जारी कीये है जो कि निम्नलिखित है-

Join

Table of Contents

माननीय उच्च न्यायालय के निर्देश

  • परीक्षाओं में परीक्षार्थियों की उपस्थिति हेतु मण्डल द्वारा प्रदाय उपस्थिति पत्र में प्रत्येक प्रश्न पत्र में उपस्थिति दर्ज होने उपरांत उपस्थिति पत्रक की छायाप्रति कर एक प्रति परीक्षा केन्द्र संस्था में सुरक्षित रखने हेतु परीक्षा केन्द्र संस्था के सहायक केन्द्राध्यक्ष को सौपी जावे, सहायक केन्द्राध्यक्ष परीक्षा समाप्त होने उपरांत उपस्थिति पत्रक को संस्था प्राचार्य को सुरक्षित रखने हेतु सौपेंगे, प्राचार्य प्रत्येक वर्ष की उपस्थिति पत्रक को तीन वर्ष तक सुरक्षित रखेंगे।
  • मण्डल द्वारा प्रदाय उपस्थिति पत्रक में यदि किन्ही कारणों से छात्र का फोटो अंकित न हो तो, निर्धारित स्थान पर छात्र का फोटो प्रमाणित कर चस्पा करेंगे।
  • प्रायोगिक परीक्षा हेतु संस्था / संस्थान प्राचार्य एवं आंवटित परीक्षा केन्द्र के केन्द्राध्यक्ष संबंधित छात्रों की उपस्थिति रजिस्टर में अनुक्रमांक एवं नाम अंकित कर दर्ज करेगें।
  • परीक्षा केन्द्र के केन्द्राध्यक्ष परीक्षा संबंधी रिकार्ड (उपस्थिति पत्रक, चैक लिस्ट, बैठक व्यवस्था, अभिरक्षा पंजी 1 व 2 उत्तर पुस्तिका बुक स्टाक रजिस्टर, विषयक परिवर्तन का आवेदन एवं सूची परीक्षार्थी को दिये गये लेखक हेतु घोषणा पत्र एवं चिकित्सा प्रमाण पत्र इत्यादि) परीक्षा केन्द्र पर रजिस्टर पर अंकित कर समन्वयक संस्था में जमा किये जावे।
Mp board exam high court order
Mp board exam high court order

पूरक परीक्षा

पूरक परीक्षार्थियों को जारी प्रवेश पत्र अथवा परीक्षा शुल्क जमा करने की पावती के आधार पर पूरक परीक्षा में सम्मिलित कराये। जिन परीक्षार्थियों ने परीक्षा शुल्क नही भरा है, एवं मण्डल द्वारा प्रवेश पत्र जारी नहीं किया गया है, ऐसे परीक्षार्थियों को परीक्षा में कदापि सम्मिलित नहीं कराये ऐसे प्रकरण मण्डल को प्राप्त होते हैं, तो ऐसे प्रकरणों का परीक्षाफल घोषित नहीं किया जायेगा, जिसका संपूर्ण उत्तरदायित्व केन्द्राध्यक्ष का होगा।

कुछ बच्चों के द्वारा एमपी बोर्ड परीक्षा 2022 को आगे बढ़ाने के लिए जबलपुर कोर्ट में याचिका दायर की थी, ततः बच्चों ने ओर कुछ संस्थाओं ने कोर्ट से गुहार लगाई थी की बोर्ड परीक्षा को आगे बढ़ दिया जाए, जिसको देखते हुये मध्य प्रदेश शिक्षा विभाग ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कोर्ट के समक्ष अपने सुझाव रखे है, तथा आग्रह किया है की बिना मासिम को पूछे कोर्ट कोई भी आदेश जारी न करे तथा मासिम को भी अपना पक्ष रखने के लिए आमंत्रित किया जाए।

जिसको देखते हुये अब बोर्ड परीक्षा 2022 का होना बिल्कुल लगभग ते है अतः हम छात्रों को Suggest करना चाहेंगे कि हर छात्र रेगुलर अपना अध्ययन जारी रखे तथा मॉडल पेपर, प्रश्न बैंक, सैम्पल पेपर्स का अध्ययन करते रहे ओर फालतू  कामों में अपना समय बिल्कुल भी बरवाद न करें जिससे आपके बोर्ड परीक्षा की तैयारी में व्ययधान पड़े।

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

Leave a Comment