बोर्ड की चल रही परीक्षाएं देर रात तक बज रहे डीजे।

विगत 2 वर्षों से कोरोना काल के चलते सभी कक्षाओं की परीक्षा ऑनलाइन हो रही थी, वर्तमान में 17 फरवरी से बोर्ड 10 वी व 12 वी की परीक्षाएं शुरू ले चुकी है। वहीं दूसरी ओर शादी विवाह के सीजन के चलते देर रात तक डीजे और तेज आवाज के कौलाहल के चलते बच्चों को बाजा पार्टी का शोर शराबा परेशान कर रहा है। पढ़ाई में व्यवधान आ रहा है। बोर्ड परीक्षाओ की स्थानीय प्रशासन द्वारा इस संबंध में किसी तरह तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं को परीक्षा की की पहल नहीं किए जाने से लोग परेशान है। तैयारी करने में परेशानी का सामना करना पड़ कोलाहल अधिनियम के तहत प्रशासन से र है। दूसरी ओर स्थानीय स्तर पर पुलिस अनुमति लेकर एक निश्चित आवाज में ही ध्वनि विभाग और स्थानीय प्रशासन भी कोई विस्तारक यंत्रों का उपयोग किया जा सकता कार्यवाही नहीं करने से लोगों के हौसले बुलंद है।पर इस नियम का उल्लंघन खुलेआम हो रह हो रहे है।

इस ओर स्थानीय प्रशासन एवं जिला है। चाहे दिन हो या रात निर्धारित मापदंडसे प्रशासन से छत्र-छात्राओं के परिजनों के द्वारा अधिक आवाज में डीजे और धमाल पार्टी का मांग की गई है कि जल्द से जल्द इस और ध्यान शोर हो रहा है। विवाह, आभार रैली और अन्य देते हुए उपयुक्त कार्यवाही की जानी चाहिए। देर सामाजिक आयोजनों में खुलकर ध्वनि रात तक नगर व ग्रामीण अंचलों में डीजे व विस्तारक यंत्रों का उपयोग हो रहा है। तेन अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग होने के आवाज के कारण लोगों को समस्या हो रही है। कारण लोग परेशान है। स्लीमनाबाद नगर नगर के रहवासी आदित्य दुबे, राकेश साहू, सहित व गाँवो में देर रात तक डीजे और बैंड रामनारायण यादव, नितिन अग्रहरि का कहना है। कि बच्चों की इन दिनों पढ़ाई चल रही है। ऐसे में देर रात तक डीजे बजाना उचित नहीं है। शोरगुल पर पूर्णत रोक लगनी चाहिए। चाहे दिन हो या रात गांव में डीजे के तेज शोर के कारण जीना मुहाल हो गया है। तेज शोर करने वाले यंत्रों को जब्त किया जाना चाहिए।

बिजली आपूर्ति में व्यवधान से परीक्षार्थी परेशान:-

जबलपुर एक्सप्रेस (ईएमएस)। इस समय माध्यमिक शिक्षा मंडल के द्वारा हायर सेकेन्द्री और हाईस्कूल की परीक्षा ली जा रही है ऐसे में परीक्षा के समय विद्युत आपूर्ति से व्यवधान में परीक्षार्थी परेशान हो रहे है। गर्मी भी पड़ने लगी है। बताया गया है कि ऐन परीक्षा के दौरान ही सुबह 10 बजे से 11 बजे के बीच अक्सर बिजली गुल हो रही है जिससे परीक्षार्थियों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जिससे परीक्षार्थियों के साथ ही पालकों में रोष व्याप्त है। मध्य प्रदेश जागरूक अधिकारी कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति के जिलाध्यक्ष रॉबर्ट मार्टिन ने बताया कि कई परीक्षा केन्द्रों में बिना लाईट के पर्याप्त रोशनी नहीं रहती है ऐसे में यदि बिजली गुल होती है तो कमजोर नजर वाले विद्यार्थियों के साथ-साथ पर्यवेक्षकों और शिक्षकों को भी परेशानी होती है। समिति के जिलाध्यक्ष रॉबर्ट मार्टिन, हेमंत टठाकरे, स्टेनली नॉबर्ट, दिनेश गौड़, विनोद सिंह, आर.पी. खनाल, शीर मुमताज, राकेश श्रीवास, आदि ने मध्य प्रदेश विद्युत मंडल के संभागीय कार्यलय से मांग की है कि परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार से बिजली आपूर्ति में अवरोध न हो ताकि परीक्षार्थी बिना व्यवधान के परीक्षा दे सकें।

MP Board Exam get Preparing NEWS
MP Board Exam get Preparing NEWS

शोरगुल पर लगे रोक:-

छपारा नगर के रहवासी एवं अभिभावक रामगोपाल, नीलकंठ साहू, मोहन, रामप्रसाद का कहना है कि बच्चों की इन दिनों पढ़ाई चल रही है। ऐसे में देर रात तक डीजे बजाना उचित नहीं है। शोरगुल पर पूर्णत: रोक लगनी चाहिए। चाहे दिन हो या रात शहर में डीजे के तेज शोर के कारण जीना मुहाल हो गया है। तेज शोर करने वाले यंत्रों को जब्त किया जाना चाहिए। कार्रवाई नहीं होने के कारण देर रात तक डीजे बजता रहता है। 14 केंद्रों में आयोजित हुई 10 वी परीक्षा:-  दो वर्षों के लंबे अंतराल के बाद इस वर्ष 10वी व 12वी बोर्ड की परीक्षा ऑनलाइन हो रही है। मंगलवार को 10 वी के गणित का प्रश्न पत्र हुआ। बहोरीबंद विकासखंड में 10 वी की परीक्षा के लिए 14 केंद्र बनाए गए थे। बहोरीबंद विकासखंड के शिक्षा अधिकारी ए के झारिया ने बताया कि बहोरीबंद विकासखंड के मुख्यालय सहित 14 केन्द्रों में मंगलवार को दसवीं की बोर्ड परीक्षा हुई। जिसमें 3181 परीक्षा थीं दर्ज है जिसमें 90 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे हैं। जबकि विकासखंड क्षेत्र के किसी भी परीक्षा केन्द्रों में एक भी नकल प्रकरण दर्ज नहीं हुआ है।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE