MP Board : परीक्षा केंद्र में वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाना ज़रूरी नहीं

प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर कमजोर पढ़ने के बाद अब दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं कराने के लिए तैयारियां जोरों पर हैं। इस साल प्रदेश में 10-12वीं की परीक्षा में करीब 18 लाख स्टूडेंट्स परीक्षा में बैठेंगे। वहीं, अब परीक्षा केन्द्रों में वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र दिखाना जरूरी नहीं होगा। बता दें कि कोई यदि कोई विद्याथी्र पाॅजिटिव पाया जाता है तो उसकी भी तैयारी परीक्षा केंद्र में की जा चुकी है। अब छात्रों को डरने की जरूरत नहीं है।

परीक्षा केंद्र में वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाना ज़रूरी नहीं | Mp Board exam center not required vaccine certificate

कोरोना को देखते हुए परीक्षा केन्द्रों में विशेष सुरक्षा व सोशल डिस्टेंसिग का पालन कराया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा मण्डल के टाइम-टेबल के अनुसार 10वीं कक्षा की परीक्षाएं 18 फरवरी से 10 मार्च तक और 12वीं के एग्जाम 17 फरवरी से 12 मार्च तक होंगे। परीक्षा का समय सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक रखा गया है। टाइम टेबल मंडल की वेबसाइट पर जारी किया जा चुका है।

सचिव ने कहा वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाना ज़रूरी नहीं

माध्यमिक शिक्षा मण्डल के सचिव श्रीकांत बनोठ ने कहा कि कोरोना वेक्सीन का पहला डोज लगभग सभी छात्रों को लग गया है और दूसरा डोज भी तेजी से लगया जा रहा है। उन्होंने कहा कि परीक्षा में शामिल होने के लिए वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र परीक्षा केन्द्रों में दिखाना जरूरी नहीं किया गया है। सरकार का प्रयास है कि सभी बच्चों को कोरोना की वैक्सीन लग जाए, ताकि वह सुरक्षित रहें।

Mp Board exam center not required vaccine certificate
Mp Board exam center not required vaccine certificate

10 मिनट पहले उत्तर पुस्तिका मिलेगी

बोर्ड ने तय किया है कि परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले विद्यार्थियों को उत्तर पुस्तिका एवं 5 मिनट पहले प्रश्न पत्र दिए जाएंगे। हाई स्कूल एवं हायर सेकंडरी परीक्षा के नियमित व स्वाध्यायी छात्रों के लिए प्रतियोगी विषयों को छोड़कर सभी विषय के प्रश्न पत्र 80 अंको का होगा।

हमारी पूरी तैयारी

दसवी व बारहवी बोर्ड की परीक्षाओं की तैयारी लगभग पूरी है। सभी परीक्षा केन्द्रों पहले से व्यवस्था करने के निर्देश दिए है। दसवी और बारहवी के विद्यार्थियों को तेजी से वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। परीक्षा केन्द्रों में वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र दिखाना जरूरी नहीं होगा।

परीक्षाओं के लिए सेंटरों पर तैयारियां हुई शुरू

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार पहले ही कह चुके है कि विद्यार्थियों को ऑफलाइन परीक्षा देना होगा। इसके लिए सभी सेंटरों में तैयारियां भी तेज हो गई है। माध्यमिक शिक्षा मण्डल के सचिव श्रीकांत बनोठ ने बताया कि परीक्षा केन्द्र में अगर कोई छात्र कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है या उसमें कोरोना के लक्षण दिखाई पड़ते हैं तो उसके लिए अलग से कमरे की व्यवस्था करने के निर्देश 2019 से है।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE