एमपी बोर्ड परीक्षा केंद्र पर होगी उपचार की व्यवस्था | Mp board exam center facility

कोरोना की तीसरी लहर के बीच अगले सप्ताह से प्रारंभ होने जा रही 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर जिला प्रशासन सतर्क हुआ है। महामारी को दृष्टिगत रखते हुए प्रत्येक केंद्र पर विद्यार्थियों के लिए मेडिकल की व्यवस्था होगी। शिक्षकों के लिए भी पूर्व की तरह नियम को सख्त किया गया है। ड्यूटी में वीक्षक और पर्यवेक्षक के रूप में तैनात होने वाले शिक्षकों के लिए मोबाइल ले जाना किसी खतरे से कम नहीं होगा।

एमपी बोर्ड परीक्षा केंद्र पर होगी उपचार की व्यवस्था | MP board exam center facility

पिछले वर्षों की तरह इस बार भी शासन के आदेश पर प्रदेश में जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को बोर्ड परीक्षाओं के लिए नोडल बनाया गया है। भोपाल में जिपं सीईओ और नोडल अधिकारी विकास मिश्रा ने हर केंद्र की तैयारियों का जायजा लेना शुरू कर दिया है। इस संबंध में गुरुवार को उनके द्वारा राजधानी के समस्त प्राचार्यों की बैठक ली गई। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर कोरोना प्रोटोकॉल का संपूर्ण पालन होना जरूरी है।

Mp board exam center facility
Mp board exam center facility

प्रत्येक विद्यार्थी को मास्क लगाकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश मिलेगा। हर केंद्र पर सैनेटाईजेशन की नियमित रूप से व्यवस्था होगी। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा यह भी कहा गया है कि नकल रोकने के परीक्षा केंद्रों पर समचित प्रयास करना होंगे।

  • केंद्राध्यक्ष समीप के अस्पताल के डाक्टर का रखेंगे अपने पास नंबर
  • भोपाल में 104 केंद्रों पर होंगी परीक्षाएं
  • शिक्षक नहीं ले जा पाएंगे मोबाइल

शिक्षकों को मोबाइल की अनुमति नहीं होगी

परीक्षा में जितने शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जा रही है उनके लिए केंद्रों पर मोबाइल ले जाना पूरी तरह से प्रतिबंधित होगा। अगर कोई शिक्षक परीक्षा केंद्र पर मोबाइल लिए पाया गया तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा है कि विद्यार्थियों की समुचित स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रखना जरूरी है। इस कारण परीक्षा केंद्राध्यक्ष समीप के डॉक्टर का नंबर अपने पास रखें। ताकि यदि किसी विद्यार्थी की तबीयत बिगड़ताल डॉक्टर को मौके पर बुलाया जा सके।

परीक्षाओं की संपूर्ण तैयारियां मुकम्मल

जिला शिक्षा अधिकारी (नितिन सक्सेना) ने बताया कि नोडल अधिकारी के निर्देशन में परीक्षा की तैयारियां की जा रही हैं। उनके द्वारा बैठक में जो निर्देश गए हैं। उसके अनुसार परीक्षाएं करवाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि राजधानी में 104 केंद्रों पर दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षाएं संपादित करवाई जाएंगी। इस बार 19 केंद्र संवेदनशील घोषित किए गए हैं। इन सभी केंद्रों पर शांतिपूर्ण और निष्पक्ष तरीके से परीक्षाएं करवाने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था करवाई जाएगी। ताकि नकल माफिया की मंशाओं को नाकाम किया जा सके।

शिक्षा विभाग में पात्र अभ्यार्थियों को तत्काल नियुक्तियां प्रदान करे सरकार

शिक्षक पात्रता परीक्षा में जो अभ्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं, उन्हें तत्काल सेवा में लिए जाने के लिए मप्र शिक्षक संघ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। संघ का कहना है कि इस कार्य में धीमी प्रक्रिया को लेकर पात्र अभ्यार्थियों का साहस जवाब दे रहा है। संगठन के प्रदेश महामंत्री क्षेत्रवीर सिंह राठौर का कहना है कि माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक परीक्षा में जो अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए हैं, उन्हें नौकरी से वंचित रखा जा रहा है।

राठौर का कहना है कि विभाग ने अभी एक मेरिट सूची जारी की है। हजारों की तादाद में दूसरी सूची की प्रतीक्षा कर रहे हैं। विज्ञान सहित अन्य विषयों के करीब एक लाख पद हैं। जिन पर नियुक्तियां जरूरी हैं। विभाग को इन सभी खाली पदों पर नियुक्तियों के लिए कार्य करना चाहिए।

मध्य प्रदेश शिक्षक संघ के महामंत्री ने CM शिवराज सिंह को लिखा

उन्होंने सरकार से मांग की है कि तत्काल पदों में भी वृद्धि होना चाहिए। ताकि अधिक से अधिक पात्रता रखने वाले अभ्यार्थियों को सेवा में आने का अवसर मिल सके। राठौर का कहना है कि इस संबंध में शीघ्र ही शिक्षामंत्री से भी मुलाकात की जाएगी। इधर पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यार्थियों के संघ द्वारा पूरे प्रदेश में कलेक्टरों को सीएम के नाम ज्ञापन भी सौंपे। अभ्यार्थियों का कहना है कि विभाग को इस मामले में गंभीरता के साथ कदम उठाना चाहिए।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

Leave a Comment