ग्वालियर

MP Board Exam 2022 को लेकर शिक्षा विभाग ने जारी किया नया आदेश – बड़ी खबर

मध्य प्रदेश मासिम लोक शिक्षण के आयुक्त अभय वर्मा ने अभी आज 3 जनवरी 2022 को एक आदेश जारी किया है जो कि एमपी बोर्ड परीक्षा 2022 को लेकर है। आदेश में उन्होंने कहा कि सभी अभिभावक और शिक्षकों की बैठक 8 जनवरी 2022 को आयोजित की जाए, आज के इस लेख में लोक शिक्षण के आयुक्त अभय वर्मा जी ने जो निर्देश जारी किए हैं वह हम आपको बताने वाले हैं-

विषय-अभिभावक शिक्षक बैठक दिनांक 08 जनवरी 2022 का आयोजन।

Join

चार्षिक बोर्ड परीक्षाएं 2022 निकट हैं अतः शाला में अभिभावकों से चर्चा करना आवश्यक है। माता-पिता और शिक्षकों के बीच सीधा संपर्क स्थापित करना महत्वपूर्ण है ताकि माता-पिता इन अध्ययन अध्यापन की गतिविधियों से अवगत हों और अपने बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेजने में न केवल सहज हो सकें अपितु अपने बच्चों के अध्यापन अध्ययन को लेकर गंभीर भी बनें। इसी उद्देश्य से दिनांक 08 जनवरी 2022 को राज्य के सभी शासकीय हाई / हायर सेकेण्ड्री विद्यालयों में अभिभावक शिक्षक बैठक (PTM) को आयोजन किया जाए। बैठक हेतु निम्नानुसार कार्यवाही सुनिश्चित करें

PTM बैठक की पूर्व तैयारी

  • किस कक्षा के अभिभावकों को किस समय बुलाएँगे यह निर्धारित कर लें कि कोविड एस.ओ.पी. का पालन करते हुए पृथक-पृथक कक्षावार विद्यार्थियों के अभिभावकों को आमंत्रित करें।
  • PTM (पालक शिक्षक बैठकों) में सभी विद्यार्थियों के माता-पिता एवं अभिभावकों को आमंत्रित किया जाएगा। बैठक की सूचना व एजेंडा अभिभावकों को व्हाट्सप्प एवं फोन कॉल के माध्यम से आयोजन के कम से कम 3 दिन पूर्व भेजा जाएगा तथा निर्धारित दिनांक तक प्रतिदिन भेजी जाएगी।
  • PTM में आमंत्रित अभिभावकों एवं विद्यार्थियों को COVID SOP से संबंधित दिशा निर्देश की सूचना के साथ अवश्य भेजें बिना मास्क के किसी भी व्यक्ति को परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।
  • आयोजित बैठक के पूर्व सुनिश्चित करें कि विद्यालय परिसर में प्रत्येक कक्ष को उचित रूप से सेनेटाइज कर डेकोरेट किया जाए। विद्यालय के प्राचार्य एवं अन्य स्टॉफ के सदस्य सभी अभिभावकों से आदरपूर्वक अभिवादन करेंगे।
MP Board exam 2022 today news
MP Board exam 2022 today news

बैठक का एजेंडा पालकों को इस सत्र की अकादमिक कार्य योजना की जानकारी दें, जिसमें निम्नानुसार बिन्दु शामिल रहेंगे

  1. अर्द्धवार्षिक परीक्षा का परिणामः- अर्द्धवार्षिक परीक्षा के परीणाम के आधार पर विद्यार्थियों की प्रगति से अभिभावकों को अवगत कराएंगे। कौन से विद्यार्थी को किस विषय में अधिक ध्यान देना है यह स्पष्ट रूप से अभिभावकों को समझाएंगे।
  1. विद्यार्थियों का टीकाकरण– कक्षा 9वीं से 12वीं के ऐसे विद्यार्थी जिन की आयु 15 से 18 वर्ष बीच है उनका टीकाकरण करवाऐं।
  1. उपस्थिति – अपने बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेजें। जिस दिन स्कूल आने की बारी नहीं है उस दिन आवश्यक रूप से घर पर बच्चे पढ़े यह सुनिश्चित करें अभिभावकों से विद्यार्थियों की उपस्थिति की स्थिति साझा करें।
  2. पठन-पाठन- पालकों को बताऐं कि इस अकादमिक सत्र में आवश्यक दक्षताओं (जो इस वर्ष पाठ्यक्रम को समझने हेतु महत्वपूर्ण है) पर दिया जा रहा है। जिससे विद्यार्थी कक्षा अनुरूप सीखने के स्तर पर आ सकें। साथ ही कक्षा स्तर के पाठ्यक्रम के संशोधन की जानकारी दें, जिसके अंतर्गत 30 प्रतिशत पाठ्यक्रम हटा दिया गया है।
  1. अध्ययन सामग्री का उपयोग – उपलब्ध ऑनलाईन लर्निंग सामग्री के बारे में पालकों को बताऐं और यह सुनिश्चत करें कि सभी विद्यार्थियों के पास सभी पुस्तकें है। बच्चों को Vimarsh You Tube Videos देखने हेतु यथा संभव मोबाईल फोन की सुविधा उपलब्ध कराना। बच्चों से प्रतिदिन चर्चा करें कि आज उसने क्या किया? उसे कैसा लगा?
  2. अभिभावकों की भूमिका – बच्चों के शिक्षण में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में समझाऐं और उन्हें प्रेरित करें कि वे प्रतिदन निर्धारित समय पर बच्चों को गृहकार्य करने हेतु प्रेरित कर उसकी मॉनिटरिंग करें, बच्चों को आवश्यक सामग्री तथा पेंसिल कापी आदि उपलब्ध कराऐं और क्या सीखा? प्रति सप्ताह शिक्षकों से विद्यार्थियों की शैक्षणिक प्रगति पर चर्चा करें?

परीक्षा का आयोजन – बोर्ड परीक्षाएं फरवरी माह से होगी एवं कक्षा 9वीं एवं 11वीं की परीक्षा मार्च 2022 में होंगी।

10th 12th Pass Latest Jobs – Apply Now

| एमपी राज्य वन सेवा भर्ती – अंतिम तिथि, अप्लाइ

| For Vaccination Certificate – How to get Vaccination Certificate

| स्कूल कॉलेज बंद – आदेश , ओमीक्रॉन का खतरा

| BANK OF INDIA BHARTI 2022

पालकों से चर्चा हेतु ध्यान में रखे जाने वाले बिन्दु

  • यह सुनिश्चित करें कि पालक बताये गए सभी बिन्दुओं को अच्छी तरह से समझ गए हैं। इसके लिए शिक्षक चर्चा के दौरान पालकों से सवाल कर सकते है।
  • पालकों से उनको आने वाली समस्याएँ सवालों को साझा करने के लिए कहें और आवश्यकता अनुसार मार्गदर्शन प्रदान करें।
  • पालकों को यह समझाऐं कि कोरोना काल में हुई सीखने की हानि की क्षतिपूर्ति करने हेतु उनकी भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। परीक्षा की तैयारी कराएं।
  • बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेजें उनको दोनो टीके लगवाऐं-

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUPCLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUPCLICK HERE
PHYSICSHINDI HOMECLICK HERE

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *