एमपी बोर्ड:- परीक्षा केंद्र में बनेंगे आइसोलेशन रूम

दिव्यांग स्टूडेंट्स को लिखने के लिए एक्स्ट्रा समय– बोर्ड की बैठक में लिया गया निर्णय,17 फरवरी से शुरू हो रही है परीक्षा। एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा 17 फरवरी और 10वीं की परीक्षा 18 फरवरी से शुरू हो रही है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए परीक्षा केंद्रों में दिव्यांग छात्रों और कोरोना संक्रमित स्टूडेंट के लिए अलग व्यवस्था की जा रही है। कोरोना संक्रमित स्टूडेंट के लिए परीक्षा केंद्रों पर आइसोलेशन रूम बनाए जाएंगे। वही दृष्टिहीन, मानसिक विकलांग एवं एक्सीडेंट आदि में हाथ की हड्डी टूट जाने या हाथ की खराबी के कारण लिखने में असमर्थ छात्रों को अतिरिक्त समय के साथ लिखने के लिए भी किसी का सहयोग लेने की सुविधा भी दी जाएगी। मंगलवार को एमपी बोर्ड की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

दोनों परीक्षा में करीब 18लाख स्टूडेंट्स शामिल हो रहे हैं। गौरतलब है कि बोर्ड परीक्षा द्वारा अभी तक कोरोनावायरस दिखने वाले स्टूडेंट को परीक्षा केंद्र पर अलग रूम में बैठाया जाता था। जबकि कोरोनावायरस इन स्टूडेंट परीक्षा में शामिल नहीं हो पाते थे। इस बार बोर्ड कोरोनावायरस टुडे अट के लिए आइसोलेशन रूम की व्यवस्था करने जा रहा है इससे पॉजिटिव आने पर भी स्टूडेंट परीक्षा से वंचित नहीं होंगे। विषय चयन,अतिरिक्त समय की सुविधा- दृष्टिहीन, मानसिक दिव्यांग एवं हाथ में फैक्चर होने या हाथ की खराबी के कारण लिखने में असमर्थ छात्रों को कई तरह की राहत दी जाएगी। ऐसे छात्र लिखने के लिए किसी राइटर की मदद ले सकते हैं। साथ ही उन्हें विषय चयन अतिरिक्त समय परीक्षा शुल्क से छूट कंप्यूटर या टाइपराइटर चयन की सुविधा दी जाएगी। बोर्ड के दसवीं के पेपर 18 फरवरी से 10 मार्च तक चलेंगे वहीं 12वीं के पेपर 17 फरवरी से 12 मार्च तक होंगे।

10वीं-12वीं के बोर्ड एग्जाम में दिव्यांगों के अलावा हाथ फैक्चर वाले स्टूडेंट को मिलेगा राइटर-

10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी को लेकर माशिमं में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में दिया निर्देश- प्रदेश में फरवरी महीने की 17 तारीख से शुरू होने वाली 10वीं और 12वीं की एमपी बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर तैयारियां जोरों पर है। इसी कड़ी में माध्यमिक शिक्षा मंडल ने मंगलवार को बैठक में कई अहम फैसले लिए। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में कोरोना मरीज छात्रों के लिए परीक्षा केंद्र में अलग से आइसोलेशन रूम बनाए जाएंगे। उनके बैठने की अलग से व्यवस्था करने के लिए निर्देश बोर्ड ने सभी जिले को दिया है। इसके साथ ही जिन विद्यार्थियों में कोरोना के सिम्टम्स मिलेंगे,उनके भी अलग रूम में बैठाकर परीक्षा देने के लिए व्यवस्था की जाएगी। माशिमं ने साफ कर दिया है कि कोई भी परीक्षार्थी जो परीक्षा देने के लिए केंद्र में पहुंचेगा उसको परीक्षा देने से वंचित नहीं किया जाएगा। खास बात यह है कि 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले दिव्यांग या घायल छात्रों को भी सुविधा देने का फैसला लिया गया है।

MP Board Exam 2022 latest news
MP Board Exam 2022 latest news

परीक्षार्थी को आधा घंटा पहले पहुंचना होगा परीक्षा केंद्र-

कोरोना संक्रमण के चलते पहली बार बोर्ड ने परीक्षाओं का समय 1 घंटे आगे बढ़ाया है। अब सुबह 8:00 के बजाय 9:00 बजे से शुरू होगी। स्टूडेंट का थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन के बाद परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। इसके लिए परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने से आधे घंटे पहले सुबह 8:30 बजे सेंटर पर उपस्थित होना होगा। छात्रों को सुबह 8.45 इसके बाद आने वाले छात्रों को परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE