20 लाख विद्यार्थी देंगे इम्तिहान: MP Board 2022

भोपाल (आरएनएन)। प्रदेश में गुरुवार से प्रारंभ होने जा रही बोर्ड परीक्षाओं में कोरोना प्रोटोकॉल के अलावा समस्त बुनियादी सुविधाएं जुटानी होंगी। मंगलवार को मंडल के सेक्रेटरी ने परीक्षा तैयारियों की समीक्षा की। कलेक्टरों से भी कहा गया है कि हर केन्द्र पर नियम के अनुसार व्यवस्थाएं जरूरी हैं। मंडल अधिकारियों के अनुसार हर केंद्र पर स्वच्छता और सैनिटाइजेशन उसकी पहली प्राथमिकता है। अगर इस व्यवस्था में कमी रही तो निश्चित तौर पर कहीं ना कहीं बच्चे बीमारी की चपेट में भी आ सकते हैं। इसलिए स्पष्ट निर्देश दिए pi हैं कि परीक्षा केंद्र पर सफाई व्यवस्था बनाना नितांत आवश्यक है।

Join

शुद्ध पेयजल प्रत्येक केंद्र पर बच्चों को उपलब्ध कराना होगा। यह भी कहा गया है कि जिस विद्यालय में पानी की टंकी नहीं है और हैंडपप से ही बच्चों को पेयजल की पूर्ति होती है। वहां पर पानी की टंकी के प्रबंध करना जरूरी होंगे। इन समस्त तैयारियों की समीक्षा की गई है। कोरोना प्रोटोकॉल का हर केन्द्र पर होगा पालनमंडल का कहना है कि स्वच्छता के साथ-साथ कोरोना प्रोटोकॉल का हर केन्द्र पर पालन करना जरूरी है। टाइम टेबल जारी करते समय सभी दिशा निर्देशों का भी उल्लेख किया गया था। बोर्ड के अनुसार परीक्षा केंद्र पर जितनी क्षमता के | अनुपात में विद्यार्थी बैठाने के नियम बनाए गए हैं, उतने ही परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र पर बैठेंगे। अधिकारियों का कहना है कि इससे अधिक विद्यार्थी अगर परीक्षा केंद्र पर बैठाए तो संबंधित केन्द्राध्यक्षों को इसका जवाब भी देना होगा क्योंकि शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षाएं करवाने के साथ-साथ बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा का भी ध्यान रखना है। इस कारण पहले ही यह निर्देश जारी कर दिए गए थे।

Table of Contents

व्यवस्था में कमी तो होगी कार्रवाई:-

बोर्ड के अनुसार अगर किसी केंद्र पर व्यवस्था में कमी पाई गई तो उस परीक्षा केंद्र को निरस्त भी कर दिया जाएगा। इसलिए कलेक्टर द्वारा जिन केंद्रों का निर्धारण किया गया है। उनका राज्य स्तर से भी परीक्षण कराया जा रहा है। मंडल का कहना है कि परीक्षा केंद्रों पर किसी भी प्रकार की कमी या लापरवाही को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यही कारण है कि परीक्षा तैयारियों में हर पहलु की समीक्षा की जा रही है। मंडल का कहना है कि दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षाओं में नियमित और स्वाध्यायी को मिलाकर तकरीबन 20 लाख परीक्षार्थी सम्मिलत होंगे।

MP Board Exam 2022 20lakh student

  • कई छात्रों को नहीं मिले प्रवेश-पत्र:-
  • अगले एक दिन बाद प्रदेश में दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षाएं प्रारंभ हो रही हैं। वहीं दूसरी और स्कूलों की लापरवाही से अनेक छात्रों को प्रवेश पत्र नहीं मिल पाए हैं। राजधानी में मंगलवार को कई छात्र भटकते रहे छात्रों का आरोप है कि सभी मापदंडों को पूरा करने के बाद ऑनलाइन आवेदन किए गए थे, लेकिन स्कूलों द्वारा फीस भरपाई नहीं करने के कारण रोल नंबर और प्रवेश पत्रों का आवंटन नहीं किया गया है। दोपहर वक्त छात्र मंत्री विश्वास सारंग के आवास पर भी अपनी पीड़ा लेकर पहुंचे थे। इधर राजधानी में मंगलवार को समस्त केन्द्रों तक परीक्षा सामग्री पहुंचा दी गई है। जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने बताया कि सुरक्षा निगरानी में यह सामग्री भेजी गई।
  • महत्वपूर्ण जानकारियाँ —
  • “बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”
  • JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
    PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE