बोर्ड परीक्षा मूल्यांकन: दो दिन में 11410 कॉपियां जांचीं

620 शिक्षकों को पहुंचना था मगर 355 ही पहुंचे:-मूल्यांकन के लिए 1.33 लाख कॉपियां पहुंची हैं,माध्यमिक शिक्षा मंडल की हाईस्कूल और हायरसेकंडरी की बोर्ड परीक्षाओं का केंद्रीय मूल्यांकन 5 मार्च से पदमा कन्या विद्यालय में शुरू हो गया है। शिक्षकों ने दो दिन 10वीं की 48 18 और 12वीं 6592 कॉपियां जांच ली हैं। मूल्यांकन के लिए शासकीय और अशासकीय स्कूलों के 600 से अधिक शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है, लेकिन शिक्षक कॉपी जांचने के लिए नहीं पहुंच रहे हैं। शिक्षकों की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगी है, शिक्षक मूल्यांकन कार्य में शामिल होने को लेकर बहानेबाजी नहीं करें, इसलि मूल्यांकन दोपहर 1:30 बजे कराया जा रहा है, जबकि परी दोपहर 12 बजे खत्म हो जाती शनिवार को 620 शिक्षकों कॉपियां जांचने के लिए पहुंचना था मगर 355 ही पहुंचे।

नहीं पहुंचने वाले शिक्षकों को नोटिस जारी होंगे:-मूल्यांकन कार्य परीक्षा से संबंधित है, इसलिए कोई भी शिक्षक इस काम से मना नहीं कर सकता है, क्योंकि यह कार्य अतिआवश्यक कार्यों में शामिल है। कॉपी जांचने के लिए नहीं पहुंचने वाले शिक्षकों को जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किए जाएंगे।फैक्ट फाइल:-शनिवार को इतने शिक्षक नहीं पहुंचे। 10वीं में 321 में से 208 पहुंचेगें, 12वीं में 299 में से 147 पहुंचे। कितनी कॉपियां का मूल्यांकन हुआ। 10वीं की-4818, 12वीं की-6592 इनका कहना है:- मूल्यांकन कार्य जो शिक्षक नहीं नके पहुंच रहे हैं, उन्हें कारण बताओ नोटिस को जारी किए जाएंगे। जवाब संतोषजनक रण नहीं होने पर कार्रवाई की जाएगी।विकासजोशी, डीईओ

mp board copy checkIng
mp board copy checkIng

10वीं और ।2वीं की कॉपियां चेक करने की तैयारी शुरू:-

बोर्ड ने शुरू किया सेंपलिंग का कार्य:-माध्यमिक शिक्षा मंडल दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं अभी चल रही है, लेकिन समय पर रिजल्ट आए इसके अभी से तैयारियां तेज कर दी गई हैं। बोर्ड ने |परीक्षा के बाद जल्दी रिजल्ट आए इसके लिए अभी से कवायद शुरू कर दी गई है। इसके लिए मूल्यांकन का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। बोर्ड परीक्षा के समन्वयक प्राचार्य रविंन्द्र कुमार बंगारे ने मूल्यांकनकर्ताओं को ट्रेनिंग दी गई। इसके बाद उन्होंने शिक्षकों को 15 के करीब कॉपियां मूल्यांकन करने दी हैं।जिले में 1 लाख 47 हजार कॉपी जाँच के लिए आई:- कॉपियों का मूल्यांकन होने के बाद शिक्षकों ने हस्ताक्षर कर नाम की सील लगाई, जिससे उनकी पहचान हो सके। मूल्यांकन केन्द्र में मोबाइल ले जाना काल प्रतिबंधित रहेगा। जिले में 1 लाख 47 हजार कॉपी जांच के लिए आई हैं, जिसमें 28 फरवरी तक हो चुके पेपरों की कॉपियां शामिल ही बताया गया कि इसमें हायर सेंकडरी के13 विषय व के तीन विषयों की कॉपियां हैं बताया गया है कि मूल्यांकन केन्द्रों पर मोबाइल पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। बताया जा रहा है कि शिक्षक को मूल्यांकन के समय कापियों पर रजिस्ट्रेशन नंबर व अपने नाम की सील लगायेंगे।

बोर्ड एग्जाम की कॉपी कैसे चेक होती है?

जानिये कैसे चेक होती है बोर्ड एग्ज़ाम की उत्तर पुस्तिका

  1. कैसे होता है बोर्ड की कॉपियों का मूल्यांकन
  2. उत्तर पुस्तिकाओ के मूल्यांकन करने वाले हर शिक्षक को एक मार्किंग स्कीम दी जाती है
  3. उत्तर में हर एक स्टेप के होते हैं मार्क्स
  4. उत्तर किस तरह दर्शाया गया है, यह भी है महत्वपूर्ण
  5. ज़्यादा शब्दों का मतलब ज़्यादा नंबर बिल्कुल नहीं है

दो चरणों में चेक होंगी कॉपियां:-एमपी में मध्यप्रदेश बोर्ड द्वारा कराई जा रहीं 10वीं-12वीं की परीक्षाओं की कॉपियों को जांचने का कार्य 5 मार्च से शुरू किया जाएगा। पहले चरण में 28 फरवरी तक आयोजित हुईं परीक्षाओं की कॉपियां जांची जाएंगी। इसके बाद 28 फरवरी के बाद जो एग्जाम होंगे उनकी कॉपियों का मूल्यांकन 15 मार्च से शुरू होगा। यानि दो चरणों में कॉपियों को चेक करने के बाद रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा।

इन स्टूडेंट्स की कॉपी चेक होगी दोबारा

मूल्यांकन के दौरान जिन छात्रों को सबसे ज्यादा नंबर मिले हैं और जिन छात्रों को सबसे कम नंबर मिले हैं, उनकी कॉपियों को दोनों चेक किया जाएगा। इसके साथ ही हर पन्ने पर प्राप्त हुए नंबर को जोड़ने का पर भी ध्यान रखा जाएगा। वहीं इनके अलावा उन छात्रों की कॉपियां भी दोबारा चेक की जाएंगी जिन्हें एक नंबर हासिल न हुआ हो या फिर जिनके 90 % से ज्यादा नंबर हों।

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE