भोपाल

MP BOARD Big Update : 5वीं, 8वीं की बोर्ड परीक्षा में पेपर के 3-3 सेट बनेंगे

भोपाल : 5वीं और 8वीं कक्षा की इसी सत्र से board परीक्षा होंगी। स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री इंदर सिंह परमार द्वारा राष्ट्रीय सेमिनार में की गई यह घोषणा स्कूल शिक्षा विभाग के लिए बड़ी चुनौती बन गई है। इसकी वजह यह है कि सालाना परीक्षा के लिए अब सिर्फ ढाई महीने का समय बचा है। प्रदेश में इन दोनों कक्षाओं में 16 लाख स्टूडेंट्स हैं। राज्य शिक्षा केंद्र सोमवार से इस बारे में तैयारी शुरू कर देगा।

जिला बोर्ड तथा सम्भागीय बोर्ड परीक्षा होगा नाम

Join

शनिवार को इसे लेकर राज्य शिक्षा केंद्र के दफ्तर में कवायद भी शुरू कर दी गई। राज्य शिक्षा केंद्र के अधिकारी एवं प्रभारी केपीएस तोमर का कहना है कि पर्याप्त समय है, हम सोमवार से तैयारी शुरू कर देंगे। सत्र 2006-07 तक प्रदेश में इन दोनों कक्षाओं की बोर्ड परीक्षा होती थी। इसमें यह पैटर्न था कि पांचवी कक्षा की परीक्षा के पेपर जिला स्तर पर तय किए जाते थे। इसे जिला बोर्ड का नाम दिया गया था। आठवीं कक्षा की परीक्षा संभागीय स्तर पर होती थी। पूरे संभाग के जिलों में एक जैसे पेपर दिए जाते थे। इसे संभागीय बोर्ड परीक्षा कहा जाता था।

इसी साल से होगी बोर्ड परीक्षा- 3-3 सेट बनेंगे:

विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस सत्र से इसी पैटर्न पर यह परीक्षा ली जाएगी। दोनों क्लास के लिए पेपर के तीन-तीन सेट बनाए जाएंगे। मूल्यांकन इंटर स्कूल, इंटर ब्लॉक या इंटर डिस्ट्रिक्ट पैटर्न पर होगा।

MP BOARD Big Update
MP BOARD Big Update

2007-08 से बंद कर दी गई पांचवीं – आठवीं की परीक्षा

प्रदेश में पांचवीं-आठवीें के विद्यार्थियों की बोर्ड परीक्षा 2007-08 में बंद कर दी गई थी। निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) लागू होने के बाद पहली से आठवीं तक के छात्र की परीक्षा बंद कर वार्षिक मूल्यांकन शुरू कर दिया था। आरटीई के तहत किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जा सकता था। इससे मूल्यांकन में स्कूलों में सभी विद्यार्थियों को पास किया जाने लगा। इससे कमजोर छात्र भी पास होने लगे।

केंद्र की अनुमति मिलने के बाद मप्र शासन ने 2019 में आरटीई में संशोधन किया। इसके तहत पांचवीं – आठवीं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा। होगी। साथ ही फेल होने वाले विद्यार्थियों को आगे की कक्षा में प्रमोट नहीं किया जाएगा। वर्ष 2019-20 में पांचवीं – आठवीं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा आयोजित की गई, लेकिन कोरोना के चलते बाद में सभी छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया गया। अब मंत्री ने पांचवी-आठवीं की परीक्षा को बोर्ड करने की घोषण कर दी है। यह परीक्षा भी वर्तमान सत्र 2021-22 से लागू होगी।

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए आप हमारी वेबसाईट physicshindi.com पर रेगुलर विज़िट करते रहिए तथा इस पोस्ट को शेयर करना न भूलें अपने दोस्तों के साथ।

You may also like

Comments are closed.