कक्षा 5वीं और 8वीं की वार्षिक परीक्षाएं – जानें फ़ैल होने पर क्या होगा | Mp board 5th 8th class exam

मध्य प्रदेश में कक्षा 5वीं एवं 8वीं की परीक्षाएं आयोजित होना बाकी है। अप्रैल माह से यह परीक्षाएं शुरू हो जाएंगी। जैसा कि आप जानते हैं कि सरकारी स्कूलों में 5वीं और 8वीं कक्षा की परीक्षा बोर्ड पैटर्न पर होगी वहीं प्राइवेट स्कूलों में यह परीक्षाएं सम्बंधि स्कूल के अनुसार आयोजित होंगी। आज की पोस्ट में आपको इन्हीं दो परीक्षाओं से जुड़ी सारी खबरें देने वाले हैं जैसे परीक्षा कैसे होगी, कब से होगी, रिजल्ट कब आएगा, यदि कोई छात्र परीक्षा में फेल हो जाता है तो उसे वही क्लास पढ़ना होगा या पास कर दिया जाएगा इत्यादि सवालों पर हम चर्चा करेंगे तो चलिए जानते हैं।

कक्षा 5वीं और 8वीं की वार्षिक परीक्षाएं – जानें फ़ैल होने पर क्या होगा

राज्य शिक्षा केंद्र ने सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों की कक्षा 5 वीं और 8वीं की वार्षिक परीक्षा का कार्यक्रम सोमवार को जारी कर दिया है। परीक्षा 1 से 9 अप्रैल 22 तक सुबह 9 बजे 11:30 बजे की पाली में होगी। परीक्षा में फेल होने वाले छात्रों को अतिरिक्त शिक्षण दिया जाएगा और दो महीने के बाद फिर से परीक्षा आयोजित की जाएगी। अगर छात्र इस परीक्षा को उत्तीर्ण नहीं कर पाता है तो उसे फिर से उसी कक्षा में बढ़ना होगा। परीक्षा के लिए विकासखंड अंतर्गत अन्य संकुल को मूल्यांकन केंद्र बनाया जाएगा। स्कूल प्राचार्य मूल्यांकन केंद्राध्यक्ष होंगे। निजी स्कूलों में 5वीं और 8वीं की वार्षिक परीक्षा व पुनः परीक्षा प्रबंध किया जायेगा। परीक्षा के बाद रिजल्ट सीट का अनुमोदन संकुल केंद्र प्राचार्य व ब्लॉक शिक्षाधिकारियों सत्यापन के बाद 22 अप्रैल को जारी किया जाएगा।

Mp board 5th 8th class exam
Mp board 5th 8th class exam

100 अंक का होगा पेपर

5वीं और 8वीं के पेपर 100 के अंक होंगे। छात्रों को पास होने के लिए 33 फीसदी अंक लाना होंगे 160 फीसदी अंक लिखित परीक्षा व 40 फीसदी होमबेस्ड प्रोजेक्ट के होंगे। छात्रों को दोनों परीक्षाओं में 33 फीसदी अंक लाना होंगे। रिजल्ट जिला शिक्षा अधिकारी और मूल्यांकन केंद्रप्रभारी की सहमति के बाद ही जारी किया जाएगा।

Join

छात्रों को प्रमोट नहीं करने का प्रावधान

निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के अनुसार 5वीं और 8वीं वार्षिक मूल्यांकन कराया जाता है। इसके तहत यह परीक्षा राज्य शिक्षा केंद्र के निर्देशानुसार जिला शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में संपादित कराई जाएगी। इसके साथ ही परीक्षा में बैठने वाला कोई यदि परीक्षा में आरएसके द्वारा निर्धारित अंक प्राप्त नहीं कर पाता है, तो उस विद्यार्थी को परीक्षा परिणाम घोषित होने की तारीख से दो माह के भीतर उन विषयों की तैयारी कराकर दोबारा परीक्षा ली जाएगी। इसमें भी विद्यार्थी पास नहीं होता है, तो उसे अगली कक्षा में प्रमोट नहीं किया जाएगा, लेकिन उसे स्कूल से बाहर भी नहीं किया जाएगा।

जानें फ़ैल होने पर क्या होगा

इस संबंध में सोमवार को राज्य शिक्षा केंद्र ने पांचवीं-आठवीं को समय सारिणी जारी करते हुए निर्देश जारी कर दिए है। सरकारी स्कूलों में पांचवीं-आठवीं की परीक्षाएं 21 मार्च से 9 अप्रैल के बीच संपन्न होगी। राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा जारी टाइम टेबल के अनुसार 21 मार्च को प्रोजेक्ट कार्य के लिए सभी विषयों की बुकलेट जारी की जाएगी। इसके बाद 1 से 9 अप्रैल तक दोनों की कक्षाओं की साथ-साथ लिखित परीक्षाएं ली जाएंगी। शासकीय और अशासकीय स्कूलों की कक्षा 5वीं और 8वीं की वार्षिक परीक्षा का कार्यक्रमजारी कर दिया गया है। परीक्षा 1 से 9 अप्रैल तक होंगी। छात्र अगर परीक्षा एक, दो या सभी विषय में फेल होता है तो ऐसे छात्रों की परीक्षा दो महीने बाद फिर से होगी।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE