12th Hindi IMP Question

Class 12 हिंदी 5 महत्वपूर्ण निबंध 2022 | Mp board 12th class hindi imp essay 2022 ( 5 nibandh )

Table of Contents

 हिंदी के पांच महत्वपूर्ण निबंध | Mp board 12th class hindi imp essay 2022 ( 5 nibandh )

प्यारे छात्रों आज की इस पोस्ट में आपको हिंदी के पांच महत्वपूर्ण निबंध के बारे में बताया गया है जो आप की बोर्ड परीक्षा के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है तो पेपर देने से पहले एक बार इन सभी निबंधों का रिवीजन करके जरूर जाना है।

Join

Mp board 12th class hindi imp essay 2022 ( 5 nibandh )

Mp board 12th class hindi imp essay 2022 ( 5 nibandh )

 

Join
1. अनियंत्रित भ्रष्टाचार: कारण और निवारण
अथवा भ्रष्टाचार उन्मूलन समस्या: समाधान
अथवा भ्रष्टाचार: एक सामाजिक बुराई
अथवा भ्रष्टाचार उन्मूलन: एक बड़ी समस्या
2. प्रदूषण: समस्या और समाधान
 अथवा पर्यावरण प्रदूषण
 अथवा धरती की रक्षा : पर्यावरण सुरक्षा 
अथवा पर्यावरण संरक्षण एवं वनस्पतियां 
अथवा पर्यावरण सुरक्षा की महत्ता
3. विज्ञान वरदान है या अभिशाप
अथवा विज्ञान का चमत्कार
4. भारत में आतंकवाद: समस्या और समाधान
अथवा आतंकवाद: एक चुनौती
अथवा भारत में आतंकवाद के बढ़ते कदम अथवा आतंकवाद: कारण और निवारण


5. मेरा प्रिय कवि
अथवा मेरा प्रिय साहित्यकार

यह पांच निबंध हिंदी के पेपर के लिए बोर्ड परीक्षा के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है निबंध लिखते समय आपको अपनी सरल भाषा में निबंध लिखना है इस बात का विशेष ध्यान रखें निबंध को पैराग्राफ में बना बना करके लिखें और निबंध लिखते समय हेडिंग का इस्तेमाल जरूर करें निबंध लिखते समय मुहावरे और लोकोक्तियां का उपयोग भी करना चाहिए मुहावरे और लोकोक्तियां लिखते समय उसको ब्लैक पेन से अंडरलाइन कर देना चाहिए।

 

निबंध कैसे लिखें ( निबंध लिखने का तरीका )

अनियंत्रित भ्रष्टाचार: कारण और निवारण

रूपरेखा-

a)प्रस्तावना
b)भ्रष्टाचार के विविध रूप
c)भ्रष्टाचार के कारण
d)भ्रष्टाचार को दूर करने के उपाय
e)उपसंहार

a)प्रस्तावना –

 भ्रष्टाचार शब्द संस्कृत के भ्रष्ट शब्द के साथ आचार शब्द के योग से उत्पन्न हुआ है। भ्रष्ट का अर्थ है अपने स्थान से गिरा हुआ अथवा विचलित, और आचार का अर्थ है आचरण। इस प्रकार किसी व्यक्ति द्वारा अपनी गरिमा से गिरकर अपने कर्तव्यों के विपरीत किया गया आचरण भ्रष्टाचार है।

b)भ्रष्टाचार के विविध रूप-

वर्तमान में भ्रष्टाचार इतना व्यापक है कि उसके विविध रूप देखने में आते हैं जिनमें से कुछ मुख्य इस प्रकार हैं

रिश्वत-

किसी कार्य को करने के लिए किसी सक्षम व्यक्ति द्वारा लिया गया पैसा सुविधा इतिहास को रिश्वत कहा जाता है इसी को सादर भाषा में घूस कहते हैं।

भाई भतीजावाद-

 किसी सच्चे व्यक्ति द्वारा केवल अपने सगे संबंधियों को कोई सुविधा लाभ अथवा पद प्रदान करना ही भाई भतीजावाद है।आज नौकरियों तथा सरकारी सुविधाओं अथवा योजनाओं के क्रियान्वयन के समय समर्थ लोग अपने बेटा-बेटी भाई भतीजा आज सगे संबंधियों को लाभ पहुंचाते हैं।

कमीशन-

 किसी विशेष वस्तु अथवा सेवा के सौदे में किसी सक्षम व्यक्ति द्वारा सऊदी के बदले में विक्रेता अथवा सुविधा प्रदाता से कुल सौदे के मूल्य का एक निश्चित प्रतिशत प्राप्त करना कमीशन है।

यौन शोषण-

यह भ्रष्टाचार का सर्वथा नवीन रूप है। इसमें प्रभावशाली व्यक्ति विपरीत लिंग के व्यक्ति को अपने प्रभाव का प्रयोग करते हुए अनुचित लाभ पहुंचाने के बदले उसका यौन शोषण करता है।

 

c)भ्रष्टाचार के कारण-

 भ्रष्टाचार के अनेक कारण हैं जिनमें से कुछ मुख्य कारण निम्नलिखित हैं-

महंगी शिक्षा-

 शिक्षा के व्यवसायीकरण ने उसे अत्यधिक महंगा कर दिया है आज जब एक युवा शिक्षा पर लाखों रुपए खर्च करके किसी पद पर पहुंचता है तो उसका सबसे पहला लक्ष्य यही होता है कि उसने अपनी शिक्षा पर जो खर्च किया है उसे किसी भी उचित अनुचित रूप से ब्याज सहित वसूले।उसकी यही सोच उसे भ्रष्टाचार के दलदल में धकेल देती है और फिर वह चाह कर भी इस से निकल नहीं पाता।

लचर न्याय व्यवस्था-

लचर न्याय व्यवस्था भी भ्रष्टाचार का एक मुख्य कारण है प्रभावशाली लोग अपने धन और बाहुबल के सहारे अरबों खरबों के घोटाले करके साफ बच निकलते हैं जिसमें युवा वर्ग इस बात के लिए प्रेरित होता है कि यदि व्यक्ति के पास पर्याप्त धन है तो उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता बस यही धारणा उसे अत्यधिक धन प्राप्त करने के लिए भ्रष्टाचार की अंधी गली में धकेल देती है जहां से वह फिर कभी नहीं निकल पाता।

जन जागरण का अभाव-

हमारे देश की अधिकतर जनता अपने अधिकारों से अनभिज्ञ है जिसका लाभ उठाकर प्रभावशाली लोग उसका शोषण करते हैं और जनता चुपचाप भ्रष्टाचार की चक्की में पिसती रहती है।

 

d)भ्रष्टाचार को दूर करने के उपाय –

भ्रष्टाचार को दूर करने के कुछ मुख्य उपाय निम्नलिखित हैं।

जन आंदोलन-

भ्रष्टाचार को रोकने का सबसे मुख्य और महत्वपूर्ण उपाय जन आंदोलन है।जन आंदोलन के द्वारा लोगों को उनके अधिकारों का ज्ञान फैलाकर इस पर लगाम लगाई जा सकती है।

कठोर कानून-

कठोर कानून बनाकर ही भ्रष्टाचार पर रोक लगाई जा सकती है यदि लोगों को पता हो कि भ्रष्टाचार करने वाला कोई भी व्यक्ति सजा से नहीं बच सकता तो प्रत्येक व्यक्ति अनुचित कार्य करने से पहले हजार बार सोचेगा।

निशुल्क उच्च शिक्षा-

भ्रष्टाचार पर पूरी तरह लगाम तभी लगाई जा सकती है जब देश के प्रत्येक युवा को निशुल्क उच्च शिक्षा का अधिकार प्राप्त होगा। यद्यपि अभी ऐसा किया जाना संभव नहीं दिखता लेकिन 14 वर्ष के बच्चों को निशुल्क अनिवार्य शिक्षा का अधिकार प्रदान करना इस दिशा में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम है।

पारदर्शिता-

 देश और जनहित के प्रत्येक कार्य में पारदर्शिता लाकर भी भ्रष्टाचार को रोका जा सकता है क्योंकि अधिकांश भ्रष्टाचार गोपनीयता के नाम पर ही होता है।

कार्यस्थल पर व्यक्ति की सुरक्षा और संरक्षण-

कार्यस्थल पर प्रत्येक व्यक्ति को अपने अधिकार और कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए कार्य करने के लिए यह आवश्यक है कि उसे पर्याप्त सुरक्षा तथा संरक्षण प्राप्त हो, जिससे व्यक्ति निडर होकर अपना कार्य पूरी ईमानदारी के साथ कर सके।यदि कार्यकारी व्यक्ति को पूर्ण सुरक्षा और संरक्षण मिले तो धनबल और बाहुबल का भय दिखाकर कोई भी व्यक्ति अनुचित कार्य करने के लिए किसी को विवश नहीं कर सकता।महिला कर्मियों के लिए तो कार्यस्थल पर सुरक्षा और संरक्षण देने हेतु कानून बनाया जा चुका है, जिससे उनका यौन शोषण रोका जा सके। यद्यपि इस कानून को और अधिक व्यापक तथा प्रभावी बनाने की आवश्यकता है।

 

e) उपसंहार-

हम तभी विकसित देशों की श्रेणी में सम्मिलित हो सकते हैं जब भ्रष्टाचार के क्षेत्र में न्यायिक तराजू पर राजा और रंक एक ही पलड़े में रखे जाएं। भ्रष्टाचार पर कठोर कदम उठाए जाएं और भ्रष्टाचार के विरुद्ध जन जागरण हो।

 

For English Medium Students

Five important essays of Hindi

1. Uncontrolled Corruption: Causes and Prevention
Or eradication of corruption: solution
Or corruption: a social evil
Or eradication of corruption: a major problem


2. Pollution: Problems and Solutions
Or environmental pollution
Or protect the earth: environmental protection or environmental protection and flora or importance of environmental protection

3. Science is a boon or a curse
Or the miracle of science

4. Terrorism in India: Problem and Solution
Or terrorism: a challenge
Or the rising steps of terrorism or terrorism in India: causes and prevention

5. My favorite poet
Or my favorite writer

These five essays are very important for the board exam for Hindi paper, while writing the essay, you have to write the essay in your simple language, keep in mind that write the essay by making it into a paragraph and use the heading while writing the essay.  Idioms and proverbs should also be used while writing essays, while writing idioms and proverbs, they should be underlined with black pen.

 

 How to write an essay (how to write an essay)

 Uncontrolled Corruption: Causes and Prevention

 Profile

 a) Introduction
b) Miscellaneous forms of corruption
c) due to corruption
d) Measures to eliminate corruption
e) Epilogue

 a) Preamble –

The word corruption has originated from the Sanskrit word corrupt with the word ethos.  Corrupt means fallen or distracted from its place, and ethics means conduct.  Thus conduct done by a person falling from his dignity contrary to his duties is corruption.

 b) Miscellaneous forms of corruption-

 At present, corruption is so widespread that its diverse forms are seen, some of which are as follows.

 Bribe-

Money facility history taken by a competent person to do a work is called bribery, this is called bribery in the best language.

 Brother nephew  .

 Commission –

A commission by a competent person in a particular goods or service deal in exchange for a certain percentage of the total transaction value from the seller or facilitator in exchange for Saudi.

 Sexual abuse –

This is the most recent form of corruption.  In this, the influential person sexually exploits a person of the opposite sex in exchange for giving undue advantage to him using his influence.

 c) Causes of corruption –

There are many reasons for corruption, some of which are the main reasons –

 Expensive education –

The commercialization of education has made it extremely expensive. Today, when a youth reaches a position after spending lakhs of rupees on education, his first goal is that what he has spent on his education is any justified inappropriate.  Recovering with interest in form. His thinking pushed him into the morass of corruption and then he could not get out of it even if he wanted to.

 The poor judicial system is also one of the main reasons for corruption. Effective people, with the help of their wealth and muscle power, make a clear escape by scamming billions of trillions in which the youth is motivated that if one has enough money  Nothing can spoil him, just this notion pushes him into the dark lane of corruption to get excessive wealth from where he will never get out again.

 Lack of public awareness –

Most of the people of our country are ignorant of their rights, by taking advantage of it, the influential people exploit it and the public keeps falling silently into the mill of corruption.

 d) Measures to eliminate corruption – Following are some of the main measures to eliminate corruption.

 Jan Andolan-

The most important and important way to prevent corruption is the mass movement. Through the mass movement, people can be controlled by spreading knowledge about their rights.

 Stringent laws-

Corruption can be stopped only by making draconian laws, if people know that no one who commits corruption can avoid punishment, then every person will think a thousand times before committing an unfair act.

 Free Higher Education –

Corruption can be completely controlled only when every youth of the country gets the right to free higher education.  Although it is not possible to do so now, providing the right to free compulsory education to 14 year old children is an important step in this direction.

 Transparency-

Corruption can also be prevented by bringing transparency in every function of the country and public interest, because most of the corruption happens in the name of privacy.

 Safety and protection of the person at the workplace-

In order for every person to work at the workplace while performing his rights and duties, it is necessary that he gets adequate protection and protection, so that the person can fearlessly carry out his work with full honesty.  If the working person gets full protection and protection, no person can force anyone to do unfair work by showing fear of money power and muscle power. For women workers, a law has been made to provide safety and protection at workplace, so that  To prevent their sexual abuse.  However, there is a need to make this law more comprehensive and effective.

 e) Epilogue –

We can join the category of developed countries only when kings and ranks are placed in the same pan on the judicial scales in the field of corruption.  Rigorous steps should be taken on corruption and public awareness against corruption.

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *