गणित के पेपर में एक सवाल के सभी जवाब गलत, उलझन में रहे परीक्षार्थी।

माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिम) की दसवीं कक्षा के गणित के पर्चे में विद्यार्थी गफलत का शिकार हो गए है। दरअसल, मंगलवार को हुए गणित के पर्चे में एक वस्तुनिष्ठ प्रश्न के सभी उत्तर गलत थे। इससे विद्यार्थियों को एक अंक का नुकसान हो सकता है। हालांकि विद्यार्थियों को कहना है कि प्रश्नपत्र न ही आसान था और न ही कठिन। कोई भी सवाल ऐसा नही था, जिसे करने में दिक्कत आई।प्रदेश से करीब दस लाख विद्यार्थी मंगलवार को दसवीं की गणित की परीक्षा में शामिल हुए। भोपाल जिले के 104 केंद्र में 31,608 विद्यार्थियों में से 30, 201 शामिल हुए। वहीं जिले में 1408 विद्यार्थी अनुपस्थित रहे। प्रदेश में 36 और जिले में एक नकल प्रकरण बना है। कोई भी सवाल सिलेक्स से बाहर का नहीं पूछा गया था। पेपर में कुल 23 सवाल आए थे हर सवाल चार अंक का था। इसमें प्रश्न एक से पांच में वस्तुनिष्ठ प्रश्न आए थे। प्रश्न छह से 23 तक वैकल्पिक सवाल पूछे गए थे।

छात्रा अंशिका दीक्षित ने बताया कि पेपर में कुछ सवाल उलझाने वाले थे, लेकिन प्रश्न बैंक से सभी सवाल पूछे गए थे। उन्हें उम्मीद है कि उनके 75 अंक आएंगे। वहीं छात्र शशांक सिंह ने कहा कि पेपर देने से पहले डर लग रहा था, लेकिन अव अच्छा लग रहा है। 50 से 60 अंक मिल जाएंगे। गणित के विशेषज्ञ ने कहा कि बच्चों ने जैसी उम्मीद की थी। उस हिसाव से पेपर थोड़ा कठिन था। पिछली साल के मुकावले वस्तुनिष्ठ प्रश्न ज्यादा आए थे, जिससे अधिक बच्चे पास हो सकते हैं। मोबाइल के माध्यम से नकल प्रकरण पकड़ा गया: भोपाल जिले में एक नकल प्रकरण पकड़ाया। इसमें वैरागढ़ बालक उमावि में प्रायवेट का एक विद्यार्थी मोबाइल छुपाकर परीक्षा कक्ष के अंदर ले गया था। साथ ही विद्यार्थी स्मार्ट वाच भी पहना रखा था। परीक्षा शुरू होने के बाद उसके मोबाइल पर मैसेज और फोन आया, तभी पर्यवेक्षकों ने उसे पकड़ लिया। उसकी कापियों को तुरंत जब्त कर मंडल को भेज दिया गया। इसके बाद उसे दूसरी कापी दिया गया। पहली बार दसवीं की परीक्षा में इतना हाइटेकन कल प्रकरण पकड़ में आया है। मामले में जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने बताया कि नकल प्रकरण बनाकर मंडल को भेज दिया गया है। विद्यार्थी मोबाइल छुपाकर ले गया था। जब फोन बजा तब मामला पकड़ में आया।

ब्लूटूथ से नकल करते पकड़ा गया छात्र, ड्यूटी में तैनात दोनों पर्यवेक्षक हटाए:-

तमाम चौकसी और दावों के बाद भी राजधानी भोपाल में नकल का क्रम थमता नहीं दिख रहा है। जिस मोबाइल पर शिक्षकों से लेकर बच्चों के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। इसके बाद भी ऐसे संसाधनों के माध्यम से ताबड़तोड़ नकल हो रही है। दूसरी ओर जिन लोगों की परीक्षाओं में ड्यूटी लगाई गई है। उनकी सुस्ती साफ तौर पर सामने आ रही है। मंगलवार को ऐसा ही एक मामला बैरागढ़ परीक्षा केंद्र पर इम्तिहान में सामने आया है। संभागीय संयुक्त संचालक भोपाल की टीम अचानक निरीक्षण करने के लिए पहुंची थी। तभी एक कक्ष में स्वाध्याय रूप से परीक्षा दे रहा छात्र ड्यूटीकर्ताओं की आंखों में मिर्ची झौंकते हुए तकनीकी संसाधनों के माध्यम से प्रश्न पत्र हल कर रहा था । संभागीय संयुक्त संचालक राजीव तोमर का कहना है कि छात्र ब्लू टूथ कनेक्टेड डिवाइस स्मार्ट मोबाइल बाच से नकल कर रहा था। जब मौके पर देखा गया तो पूरी निरीक्षण टीम के लोग दंग रह गए। केंद्र अध्यक्ष से भी पूछा गया कि आखिर जब तलाशी के सख्त निर्देश है तो छात्र ब्लूटूथ लेकर अंदर आखिर कैसे आ गया। उन्होंने बताया है कि इस मामले में ड्यूटी कर रहे दो पर्यवेक्षकों को तत्काल हटा दिया गया है। जबकि केंद्र अध्यक्ष एवं सहायक केंद्र अध्यक्ष को नोटिस जारी किया गया है।

Maths Question Pepar Related News 2022
Maths Question Pepar Related News 2022

गणित में यह था गलत सवाल:-

गणित में वस्तुनिष्ठ प्रश्न एक का सवाल महतम समापवर्तक 91,21 है। इसका विकल्प ए- 91,वी  -21 , सी-138 डी-12 दिया गया था, जबकि इसका सही जवाब सात होगा, जो विकल्प में नहीं दिया गया था। इस संबंध में मंडल के अधिकारियों से पूछने पर इससे जानकारी होने से इंकार कर दिया है। बारहवीं बोर्ड : भारतीय संगीत और बायोटेक्नोलाजी की परीक्षा आज बारहवीं का अगला पेपर आज बुधवार को होगा। वारहवीं में बायोटेक्नोलाजी और भारतीय संगीत का पेपर होगा। दसवीं की परीक्षा जिला के 104 केंद्रों पर 30, 201 विद्यार्थी शामिल हुए। 1408 अनुपस्थित रहे जिला में एक नकल प्रकरण बना। गणित का प्रश्नपत्र सामान्य विद्यार्थियों के हिसाब से कठिन था 180 अंक के पेपर में एक वस्तुनिष्ठ प्रश्न के सवाल के जवाब में एक भी सही जवाब नहीं था। इस कारण सभी विद्यार्थियों से एक अंक का सवाल हल नहीं हो पाया होगा।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE