Liquor Bann: 14 जुलाई से 26 जुलाई तक शराब और मीट होगा बंद, जानिए क्यों हो रहा है बंद।

दोस्तों आपको बता दें कि 14 जुलाई से 26 जुलाई तक शराब और मीट का दुकान बंद किया जाएगा। आपको इस पोस्ट में यह भी बताएंगे कि क्यों बंद किया जा रहा है पूरी जानकारी प्राप्त करें। आप सभी को पता ही है कि सावन का महीना चल रहा है बहुत लोगों का मानना है कि सावन में मीट और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए, वही देखे तो बहुत से लोग नहीं खाते हैं इसलिए वह चाहते हैं कि हमारे आसपास के लोग भी ना खाएं। अधिक जानकारी के लिए इस पोस्ट को पढ़ें और पूरी जानकारी प्राप्त करें।

Liquor Banned States in India

सावन का माह आ गया है और कांवड़िय कांवड़ लेने हरिद्वार जा रहे है। लोगों का मानना है कि सावन में भोलेनाथ का वास होता है इसलिए मीट एवं शराब का उपयोग ना किया जाए इसलिए 14 जुलाई से 26 जुलाई तक बंद रहेगा। शराब और मीट की सभी दुकानें को बंद करने का आदेश दिया गया है पुलिस कुरूद का निरीक्षण करेगी और दुकानों का रिकॉर्ड लेगी। सावन के महीने में भगवान शिव जी के भक्त हरिद्वार जाने की तैयारी करते हैं और पूरे सावन भगवान शिव जी की पूजा करते हैं और वह चाहते हैं कि धार्मिक यात्रा में कोई भी दिक्कत ना आए। इसलिए श्रद्धालुओं के यात्रा के दौरान पुलिस उनकी रूट पर नजर रख रही है और तैयारी कर रही है 14 जुलाई से 26 जुलाई तक जिलाधिकारी सभी मांस मछली शराब की दुकानों को बंद करने की आदेश लागू करा रही है कहीं भी एक भी दुकान नहीं खुली होनी चाहिए।

Liquor Bann

दोस्तों आपको बता दें कि 14 जुलाई से 26 जुलाई तक कोई भी शराब या मांस मछली की दुकानें खुली हुई नहीं होनी चाहिए नहीं तो उनके ऊपर केस दर्ज हो सकता है। मार्गो को अंतिम रूप दिए जाने के बाद अधिकारी क्षेत्रों का दौरा करेंगे और यात्रा के दौरान बंद होने वाली मांस और शराब की दुकान की पहचान करेंगे। गाजियाबाद को 17 जून में बांटा गया, कावड़ यात्रा के तहत डीएम गाजियाबाद ने पूरे जिलों को 17 मोदीनगर को ऋतु सुहास को सौंपा गया है जिलाधिकारी ने विजय नगर और कवि नगर क्षेत्र को सिटी मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह को सौंपा है। सभी क्षेत्रों में चेकिंग की जाएगी। बहुत से लोग सावन में शराब मीट आसपास भी देखना नहीं चाहते हैं ऐसे में अगर उनके पड़ोसी ही खाएंगे तो उन्हें बिल्कुल अच्छा नहीं लगेगा इसलिए 14 जुलाई से 26 जुलाई तक बंद किया गया है जिससे लोग आसानी से पूजा कर सके और उन्हें किसी भी तरह की समस्या ना हो।

Join

Liquor Bann in Overview

Ban Liquor Bann
Date 14 july to 26,july
Country India
Years 2022
order by government
All Indians have to follow
Opening Date  27 july 2022
Liquor Banned States in India
Liquor Banned States in India

विपिन कुमार को एडीएम सिटी, लोनी क्षेत्र और एडीएम एलए, डासना क्षेत्र नियुक्त किया गया है। इस तरह से पूरे क्षेत्र में बहुत ही गंभीरता से नजर रखा गया है कि कहीं भी दुकानें खुली ना रहे जिससे भगवान शिव जी के भक्तों को किसी भी समस्या का सामना ना करना पड़े। 26 जुलाई के बाद सभी दुकानें खुल सकती है 14 जुलाई से 26 जुलाई तक बंद रहेगी या आदेश दिया गया है और इसका पालन सभी दुकानदारों को करना पड़ेगा अगर नहीं करते हैं तो उन्हें जुर्माना भरना पड़ेगा उन्हें सजा भी दिया जा सकता है।

FAQ Related Liquor Bann

1.शराबबंदी के क्या फायदे हैं?

Ans- कुछ समय बाद, आम जनता धीरे-धीरे शराब का सेवन बंद कर देगी। यह जिगर की क्षति, हृदय संबंधी समस्याओं और कई अन्य समस्याओं जैसे मुद्दों में कमी के साथ मेल खाएगा। इसका परिणाम स्वास्थ्य देखभाल, पुनर्वास, और बहुत कुछ पर खर्च कम होगा।

2.शराबबंदी का क्या मतलब है?

Ans- निषेध कानून द्वारा किसी चीज को मना करने की क्रिया या प्रथा है; अधिक विशेष रूप से यह शब्द मादक पेय पदार्थों के निर्माण, भंडारण (चाहे बैरल में या बोतलों में), परिवहन, बिक्री, कब्ज़ा और खपत पर प्रतिबंध लगाने के लिए संदर्भित करता है।

3.24 घंटे शराबबंदी क्या है?

Ans- ईओ की धारा 1 पूर्वाह्न 1 बजे से 8 बजे तक 24 घंटे के शराब प्रतिबंध को पूर्व-महामारी शराब प्रतिबंध में बदल देती है। अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान अभी भी प्रतिबंधित हैं।

4.शराबबंदी कितने बजे है?

Ans- शराब बंदी की अवधि। शराब की बिक्री पर प्रतिबन्ध प्रतिदिन प्रातः 1:00 बजे से प्रातः 8:00 बजे तक रहेगा। इस प्रकार, कोई भी व्यक्ति या संस्था इस समयावधि के भीतर शराब या कोई भी मादक पेय नहीं बेचेगी।

5.क्या बियर एक शराब है?

Ans- शराब, जिसे हार्ड शराब या डिस्टिल्ड स्पिरिट भी कहा जाता है, अनाज, सब्जियों या फलों के आसवन द्वारा उत्पादित एक मादक पेय है। दूसरी ओर, बीयर और वाइन किण्वन के माध्यम से बनाए जाते हैं। सबसे आम आसुत अल्कोहल में से कुछ व्हिस्की, जिन, रम, ब्रांडी, टकीला, वोदका और विभिन्न प्रकार के स्वाद वाले लिकर हैं।

JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE