कर्मचारियों की होली रहेगी फीकी, नहीं मिली वेतनवृद्धि एरियर की दूसरी किश्त

प्रदेश के कर्मचारियों की इस बार होली फीकी रहेगी। आईएफएमआइएस पोर्टल एवं बजट के रोड़ा बनने के कारण कर्मचारियों को इस बार वेतनवृद्धि एरियर की दूसरी किश्त नहीं मिली है। तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष ओपी कटियार एवं महामंत्री लक्ष्मीनारायण शर्मा ने बताया कि राज्य शासन द्वारा कर्मचारियों को रोकी गई वेतन वृद्धि जारी कर उसका ऐरियर दो किश्तों में देने के आदेश जारी किए थे। प्रथम किश्त कर्मचारियों को अक्टूबर माह में भुगतान की गई थी तथा दूसरी किश्त मार्च माह में भुगतान किये जाने के निर्देश थे। लेकिन अभी तक किसी भी विभाग में कर्मचारियों को दूसरी किश्त का भुगतान नहीं हुआ है। कटियार व शर्मा का कहना है कि अनेक विभागों में बजट की कमी हो गई है।

जिससे वेतन के लाले पड़े हुए है। ऐसे में वेतन वृद्धि की दूसरी किश्त का रियर नहीं मिल पा रहा है। साथ ही आईएफ एमआइएस पोर्टल पर ऐरियरके बिल भी जनरेट नहीं हो रहे हैं। ऐसे में रंगों का त्योहार होली कर्मचारियों के लिए आर्थिक तंगी के चलते बैरंग ही रहेगा। शर्मा ने संचालक कोष एवं लेखा से मिल कर बिल जनरेट करने की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की है। न्यू पेंशन स्कीम की आज जलाएंगे होली मध्यप्रदेश कर्मचारी मंच : के बैनर तले गुरुवार को पूरे प्रदेश में एनपीएस न्यू पेंशन योजना 2005 के आदेश की प्रतियों की होली जलाई जाएगी। राजधानी में मंत्रालय के समक्ष दोपहर डेढ़ बजे इंदिरा मार्केट के पास एनपीएस न्यू पेंशन योजना 2005 के आदेश की प्रतियों की होली जलाई जाएगी तथा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा।

एग्रीकल्चर की कॉपियां बनी सिरदर्द, उत्तर पस्तिकाएं 6 हजार आईं और वैल्युअर सिर्फ तीन:-

बोर्ड परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन समय पर होना मुश्किल है। इसे एग्रीकल्चर की उत्तर पुस्तिकाओं ने टेंशन बढ़ा दी है। रीवा जिले में सिर्फ तीन शिक्षक एग्रीकल्चर के हैं और उत्तर पुस्तिकाएं करीब 6 हजार पहुंच गई है। ऐसे में इनके मूल्यांकन में महीनों गुजर आएंगे। वैसे भी जिन शिक्षकों की मूल्यांकन में ड्यूटी लगाई गई है, वह पहले से ही नहीं आ रहे हैं। प्राचार्य मुक्त हो नहीं कर रहे। ज्ञात हो कि बोर्ड परीक्षाएं खत्म हो गई है। रीवा में मूल्यांकन के लिए कॉपियां भी पहुंच गई है। मूल्यांकन के लिए पहुंची उत्तर पुस्तिकाओं में कृषि विषय की भी शामिल हैं।

Holi of employees will be faded
Holi of employees will be faded

एग्रीकल्चर की उत्तर पुस्तिकाओं की संख्या करीब 6 हजार के आसपास बताई जा रही है। इन उत्तर पुस्तिकाओं को चेक करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग और समन्वयक संस्था के सामने चुनौती आन खड़ी हो गई है। दरअसल इस विषय के रीवा में सिर्फ तीन वैल्युअर ही बचे हैं। इन तीन वैल्युअर के भरोसे ही एग्रीकल्चर की 6 हजार कॉपियां चेक की जानी है। इन कॉपियों के चेक होने में महीनों का समय गुजर जाएगा। जबकि माशिमं ने मार्च के अंत तक उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कर ऑनलाइन फीडिंग के निर्देश दिए हैं। एग्रीकल्चर विषय के शिक्षकों की कमी शिक्षा विभाग के लिए टेंशन का सबब बनी हुई है।

मूल्यांकन की रफ्तार धीमी, शिक्षक नहीं पहुंचे:-

पहले चरण में माध्यमिक शिक्षा मंडल मप्र भोपाल द्वारा हाईस्कूल को कुल 90 हजार 694 उत्तर पुस्तिकाओं एवं हायर सेकेण्डरी की कुल 96 के हजार 103 उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए मार्तण्ड स्कूल क्रमांक एक को उपलब्ध कराई गई थी। अब तक करीब 60 फीसदी कॉपियों का मूल्यांकन कार्य पूरा हो गया है। इसी के साथ बुधवार से दूसरे चरण की भी शुरुआत हो गई है। रीवा में दूसरे चरण में हाई स्कूल की 76 हजार, हायर सेकेण्डरी की 17 हजार कॉपियां आई हैं। इनका मूल्यांकन शुरू हो गया है। हालांकि रफ्तार धीमी है। पहले चरण की कॉपियों के मूल्यांकन में सिर्फ चार दिन बचे हैं। इसमें भी एक दिन होली में चला जाएगा। कुल तीन दिन बचे हैं। इसमें 40 फीसदी कॉपियों का मूल्यांकन पहले चरण में होना है। इसके अलावा दूसरे चरण की करीब 94 हजार कॉपियां पहुंची है। इनका मूल्यांकन मार्च के अंत तक होना है। हालांकि समय पर मूल्यांकन कार्य पूरा होना मुश्किल है। बुधवार को हाई स्कूल में 5302, हायर सेकेण्डरी में 6102 कॉपियों का मूल्यांकन हुआ।

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE