History of one rupee in india: ₹1 के नोट को जन्मे हुए पूरे 264 साल, 19 अगस्त 1757 को मुद्रित हुआ पहला 1₹ का सिक्का

History of one rupee in india – आज की दुनिया में हर काम शुरू करने के लिए पैसे की आवश्यकता पड़ती है, रुपयों पैसों की जरूरत तो होती ही है, लेकिन साथ ही साथ सिक्का ( history of one rupee note in india) भी जिंदगी में हर पहलू में काम में आता है, कभी-कभी सिक्का न होने की वजह से काफी समस्या का सामना करना पड़ता है हालांकि हम कह सकते हैं किसी का हमारी जिंदगी में बहुत काम में आता है रुपए भी कई तरह के डिजाइन  के होते हैं।

हर सिक्के के ऊपर अलग-अलग वर्ष और अलग-अलग डिजाइन होती है, सिक्कों की डिजाइन  बस देख कर के हमें पता चल जाता है सिक्का कितना पुराना है, क्या आप जानते हैं सिक्के का आविष्कार ( one rupee note history in india) कब हुआ था , सिक्का चलन में कब आया था सिक्के का आविष्कार ( one rupee coin history in india)  किसने किया था किस जमाने में सिक्का बना था सिक्का किस राज्य में पहली बार बनाया गया था। यदि नहीं तो चलिए हम आपको बताते हैं कुछ इन्हीं अनसुलझे  पहलू के बारे में।

History of one rupee in india  

भारतवर्ष में ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना 1600 ईस्वी में हुई थी, उस समय अंग्रेज भारत में सिल्क , कॉटन , नील चाय ,  आदि का व्यापार किया करते थे तथा सन 1613 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने सम्राट जहांगीर की आज्ञा लेकर सूरत में पहला कारखाना स्थापित किया था, सन 1750 में अंग्रेजों ने भारत पर धीरे-धीरे अपना अधिकार जमाना शुरू कर दिया  1757 में प्लासी के युद्ध में जीत के बाद अंग्रेजों के हाथ में सत्ता आना शुरू हो गई, प्लासी की लड़ाई जीत कर नवाब के साथ संधि करके अंग्रेजों को सिक्के बनाने का अधिकार ( one rupee coin history in india)  प्राप्त हो गया, इसके बाद ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में सिक्के बनाने की एक फैक्ट्री डाली, लेकिन इससे पहले सूरत बॉम्बे और अहमदाबाद में भी 1 taksal  की स्थापना की। 19 अगस्त 1757 में अंग्रेजों ने पहली बार एक सिक्का बनाया।

Join

One rupee coin history in india Overview

Article name One rupee coin history in india
Year 19 august 1757
First one rupee coin mold place Kolkata
Who made East india company
Plasi war 1757
Age of one rupee coin 264 years
India ‘ s one rupee coin mold on 1962
History of one rupee in india  
History of one rupee in india

History of one rupee 

अपने यहां अंग्रेजों के जमाने में बने सिक्कों पर अंग्रेज लेफ्टिनेंट और महारानी के चित्र हुआ करते थे। इन चित्रों में भी महारानी विक्टोरिया का चित्र सबसे महत्वपूर्ण हुआ करता था। 1947 में जब भारत आजाद हो गया तब तक भी सिक्के( history of one rupee)  पर महारानी का चित्र ही हुआ करता था और सिक्कों पर यह चलन 1950 तक रहा । 1950 में भारत में सिक्के ( history of one rupee) का निर्माण हुआ तथा 1962 में भारत में पहला एक रुपए ( history of one rupee)  का सिक्का निर्माण किया था।

Who issue one rupee coin in India 

 भारत में रुपया पैसा को छापने का एकमात्र अधिकार आरबीआई के पास ही होता है लेकिन ₹1 का नोट ही एकमात्र ऐसा नोट है जिस पर वित्त सचिव के हस्ताक्षर होते हैं। क्योंकि एक रुपए का नोट वित्त मंत्रालय द्वारा जारी होता है इसका एकमात्र कारण यह है, कि आरबीआई के अधिनियम 1934 धारा 24 के अनुसार आरबीआई को ₹1 के नोट को छापने का अधिकार नहीं है, आरबीआई को एक रुपए के नोट को छापने का अधिकार इसलिए नहीं है, क्योंकि एक का नोट लायबिलिटी के अंतर्गत आता है। क्योंकि यह नोट के अलावा सिक्के के रूप में भी उपलब्ध है और इस पर “मैं धारक को एक रुपए अदा करने का वचन देता हूं ” लिखा नहीं होता है।

1 rupee coin value

भारत सरकार को काइनेज एक्ट के अंतर्गत₹1 के नोटों को छापने ( 1 rupee coin value ) का अधिकार मिला हुआ है वित्त मंत्रालय को केवल ₹1 के नोट को ही छापने का अधिकार है लेकिन यह नोट बाजार में सिर्फ आरबीआई के पास ही कंट्रोल में आता है समय-समय पर इस प्रकार के नोट ( 1 rupee coin 

) में बदलाव होते रहे हैं, एक रुपए के सिक्के पर आरबीआई गवर्नर के नहीं बल्कि वित्त सचिव के हस्ताक्षर ( one rupee coin value) होते हैं और आपने देखा होगा कि एक रुपए के नोट पर सिल्वर लाइन नहीं होती जबकि सिल्वर लाइन सभी अन्य नोटों पर पाई जाती है।₹1 का नोट ( 1 rupee coin value) ही ऐसा नोट होता है जिसके रंग आकार और डिजाइन में समय-समय पर बहुत से बदलाव होते हुए आए हैं। जैसे पहले ₹1 के नोट का रंग हरा होता था लेकिन बाद में 1951 में तत्कालीन वित्त सचिव अंबेगांव कर के कार्यकाल में हल्का सा नीला बैगनी हो गया था।

 FAQs related one rupee note history in india

Q1. किस धारा के अनुसार आरबीआई को ₹1 के नोट को छापने का अधिकार नहीं हैं ?

Ans. आरबीआई के अधिनियम 1934 की धारा 24 के आधार पर आरबीआई को ₹1 का नोट छापने का अधिकार नहीं है।

एक रुपए के सिक्के को जन्मे अब तक कितने वर्ष हो चुके हैं?

एक रुपए को जन्मे अब तक 264 वर्ष हो चुके हैं।

Q2. अंग्रेजों ने पहली बार सिक्का कब बनाया था?

Ans. अंग्रेजों ने पहली बार सिक्का 17 अगस्त 1757 मैं बनाया था। जो पहली बार कोलकाता में बना था। 

दोस्तों आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी पसंद आई होगी अगर आपके इस जानकारी को लेकर कोई सवाल जवाब हैं तो हमें कमेंट में लिख भेजें हम जल्दी ही आपके कमेंट पर जवाब देंगे। हमारी पोस्ट को लाइक शेयर और कमेंट अवश्य करे.

TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE