मध्य प्रदेश में अभिभावकों की मांग – प्राइमरी की परीक्षा आनलाइन कराओ

कोविड की वजह से स्कूलों की पढ़ाई प्रभावित हो चुकी है। तीसरी लहर के कमजोर पड़ने के बाद शासन स्तर से स्कूलों को जरूरी हिदायतों के साथ खोले जाने की अनुमति प्रदान कर दी गई है, लेकिन सदर स्थित सेंट जोसेफ (टीएफआरआइ) में पढ़ने वाले छोटे बच्चों के अभिभावक स्कूल खोले जाने पर आपत्ति जता रहे हैं। इन अभिभावकों का कहना है कि वो अपने नौनिहालों को जान-बूझकर खतरे में नहीं डालना चाहते। इस संबंध में कुछ अभिभावकों ने कलेक्टर से भी गुहार लगाई। हालांकि कलेक्टर ने उनकी बात को खारिज कर दिया है।

अभिभावकों की मांग प्राइमरी की परीक्षा आनलाइन | Guardian wants primary exam in online mode

सदर स्थित सेंट जोसेफ (टीएफआरआइ) के प्राइमरी सेक्शन में पढ़ने वाले बच्चों के दर्जन भर से ज्यादा अभिभावक कलेक्टर कार्यालय में इकट्ठा हुये । इन सभी ने कलेक्टर से आग्रह किया कि मिडिल और हाईस्कूल चाहे जैसे की बात कह रहे हैं। लगवाये जायें, लेकिन प्राइमरी स्कूलों को अभी आनलाइन ही चलने दें। जो बड़े बच्चे हैं उनको तो वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है, लेकिन 10-12 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन अभी नहीं कराया गया है।

अभिभावक ये चाहते हैं

10-12 साल के बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिये कुछ ऐसी व्यवस्था बनाई जाये कि उनकी कक्षायें फिलहाल आनलाइन ही लगें, लेकिन कलेक्टर इलैयाराजा टी ने उनके आग्रह को यह कहते हुए सिरे से खारिज कर दिया कि शासन ने स्कूलों को खोले जाने की अनुमति प्रदान कर दी है। इसलिये वो इस मामले में शासन के आदेश के विरुद्ध नहीं जा सकते। दूसरी तरफ अभिभावकों का मत है कि स्कूल केवल शुल्क वसूलने के लिये आफलाइन कक्षायें संचालित करने की बात कह रहे हैं।

Join
Guardian wants primary exam in online mode
Guardian wants primary exam in online mode

अभिभावकों ने प्रशासन से की मांग प्राइमरी की परीक्षा आनलाइन ही कराओ

कलेक्टर के पास पहुंचे अभिभावक

कलेक्टर से मिलने पहुंचे अभिभावकों में देवेश उपाध्याय, नीतेश दुवे, रूपिंदर कौर करवा दीपिका नायडू, ज्योति मिश्रा, रूचि अग्रवाल, क्षिप्रा त्रिवेदी अनुप्रिया सिंह, दिशा आनंद, रचिा श्रीवास्तव, नूतन राय समेत कई अन्य लोग शामिल रहे।

स्कूलों के औचक निरीक्षण की मांग

शासन द्वारा प्रतिदिन निर्धारित समय पर 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ विद्यालय खोलने के निर्देश दिए गए हैं, लेकिन शासन के निर्देशों को ताक पर रखकर शासकीय विद्यालय संचालित हो रहे हैं। शारदा नगर, रिछाई, ह टोला, पुरवा, जुनवानी, गाडर खेड़ा, धनपुरी, महारा, बीजापुरी, डूंडी, पहाड़ी खेड़ा, कुरारी, उमरिया, डूंगा, मेहगांव के विद्यालय शिक्षकों की मनमर्जी से खुल रहे हैं तथा बंद हो रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि जन शिक्षक, संकुल प्रचार्य और बीआरसी द्वारा विद्यालयों के नियमित निरीक्षण ना करने से बच्चों को शिक्षा से वंचित होना पड़ रहा है।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE