स्नातक की परीक्षा मार्च अंत में, थ्योरी पेपर 80 के बजाए 70 नंबर का होगा

जीवाजी विवि इस बार नई शिक्षा नीति के तहत बीए, बीकाम, बीएससी प्रथम वर्ष की परीक्षा कराएगी। परीक्षाएं मार्च 2022 के अंत में यह परीक्षा संभावित है। इसको लेकर तैयारी भी शुरू कर दी है। इस बार थ्योरी का पेपर 80 नंबर की बजाए 70 नंबर का होगा। 30 नंबर का अंतरिक परीक्षा होगी। दोनों ही परीक्षाओं में 33 फीसद अंक लाने होंगे। अटेंडेस के 10 नंबर होंगे, लेकिन कोविड-19 के चलते कक्षाएं नहीं लगी हैं। ऑनलाइन अटेंडेस को ही मान्य किया जाएगा। विद्यार्थी को एक साल में 40 क्रेडिट पूरी करनी होगी, उसके बाद ही विद्यार्थी पास माना जाएगा। मध्य प्रदेश सरकार ने सत्र 2021-22 से नई शिक्षा नीति को लागू कर दिया है।

इसके लागू होने से कालेजों में स्नातक प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के इसके अनुसार ही परीक्षा देनी होगी। द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों को पुरानी व्यवस्था के अनुसार ही पेपर देने होंगे। जेयू ने स्नातक प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए नई शिक्षा नीति की स्कीम लागू कर दी है। स्नातक प्रथम वर्ष में 50 हजार विद्यार्थी परीक्षा में बैठ सकते हैं। महीने के अंतर में परीक्षा फार्म भी भरवाना शुरू करा सकती है। फार्म भरने के लिए 15 दिन का समय मिल सकता है। 30 नंबर की आंतरिक परीक्षा होगी, पास होने के लिए 33 फीसदी लाना होंगे। इनका कहनाह स्नातक प्रथम वर्ष की परीक्षा नईशिक्षा नीति के तहत कराई जाएगी। इसकी तैयारी शुरू कर दी है। मार्च के अंत में परीक्षा कराने कार्यक्रम तैयार कियाजा रहा है। विद्यार्थी को चालीस क्रेडिटपूरी करनीहोगी, तभी पासमाना जाएगा। प्रो. डीएन गोस्वामी, परीक्षा नियंत्रकजेयू.

Table of Contents

Join

ऐसे किया जाएगा मूल्यांकन –

थ्योरी के अंक 70 रहेंगे। थ्योरी के पेपर में लघु उत्तरीय, दीर्घ उत्तरीयव वस्तुनिष्ठप्रश्न रहेंगे। छात्रों को पास होने के लिए 33 फीसदी अंक यानि 70 में से 23 अंक लाने पर पास होंगे। -आंतरिक मूल्यांकन के 30 अंक  होंगे। इन अंको को कालेज स्तर पर हासिल करना होगा। आंतरिक परीक्षा में 10 अंक में पास होंगे। नईशिक्षानीति के तहत जो स्कीम बनाई है, आंतरिक मूल्यांकन में 10 अंक अटेंडेस के रहेंगे। विद्यार्थी की उपस्थितपर भी 10 अंक मिलेंगी। 10 अंक कक्षा में होने वाले टेस्ट के रहेंगे। 10 अंक असाइनमेंट के रहेंगे।

Graduate Exam 2022 Related News
Graduate Exam 2022 Related News

40 क्रेडिट पूरी करनी होगी:-

नई शिक्षा नीति में सालभर में विद्यार्थी को 40 क्रेडिट पूरी करनी होगी। तभी पासमाना जाएगा। मेजरवमाइनर विषयों को चयन करना होगा। मेजरमें विषय उसे माना जाएगा, जिसका उसने प्रमुखता से चयन किया है। जैसे कि किसी विद्यार्थी ने गणित विषय का चयन किया है, वह मेजर विषय में आएगा, जबकि अन्य विषय माइनर में आएंगे।  विद्यार्थी कोइंटर्नशिप भी पूरी करनी होगी। फाउंडेशन की क्रेडिट रहेगी। वोकेशनल व इलेक्टिव विषय भी रहेंगे। न्यू एजुकेशन पॉलिसी के तहत परीक्षा कराने की तैयारी की जा रही है।

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE