बोर्ड परीक्षाएं आज होंगी समाप्त 15 से मूल्यांकन का दूसरा चरण

मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की 17 फरवरी से शुरू हुई कक्षा बोर्ड परीक्षाएं शनिवार को खत्म हो जाएंगी हैं। बीते गुरुवार को दसवीं की परीक्षा में नेशनल स्किल्स क्वालिफिकेशन पेपर के साथ संपन्न हो गई है, वहीं अब बारहवीं में 12 मार्च को अंतिम पेपर संस्कृत का होगा। साथ ही इस बार परीक्षा जल्द शुरू होने से मूल्यांकन भी जल्द शुरू हो गया है। इसके लिए प्रदेशभर के करीब 30 हजार शिक्षकों को तैनात किया गया है। मूल्यांकन का दूसरा चरण पंद्रह मार्च से शुरू किया जाएगा। माशिमं ने 5 मार्च से 5 कापियों का मूल्यांकन शुरू कर दिया है। पहले चरण में 28 फरवरी तक हुए पेपरों की कॉपियां जांच रहे हैं।

इतने विद्यार्थी हैं इस बार-बारहवीं परीक्षा में कुल 7,14,932 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है, जबकि दसवी में कुल 10,66,791 परीक्षार्थी शामिल हुए। राजधानी में दसवीं की परीक्षा करीब 31538 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। बारहवीं में 24762 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है। कोरोना संक्रमण काल के दौरान आई परेशानियों से माशिमं ने सबक लेते हुए इस बार कई व्यवस्थाओं में बदलाव किया है। माशिमं में उच्च स्तर के अधिकारी पूरी प्रक्रिया पर नजर बनाए हुए हैं। विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं में प्रवेश के लिए सहूलियत हो इसके लिए माशिमं जल्द रिजल्ट जारी करने की तैयारी कर रहा है। माशिमं सूत्रों की माने तो मंडल द्वारा अप्रैल के अंतिम या मई के प्रथम सप्ताह में रिजल्ट घोषित करने की तैयारी की जा रही है। जिसमें पहले बारहवीं का रिजल्ट घोषित किया जा सकता है।

बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिका जांचने का नहीं बढ़ाया जाएगा शुल्क:-

इस साल पुरानी दरों पर ही बोर्ड की कॉपियां जांची जाएगी। 10वीं की कापी जांचने को मिलेंगे 12 रुपये और 12वीं की कापी जांचने को 13 रुपये माध्यमिक शिक्षा मंडल ने कक्षा 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाएं जांचने का शुल्क इस बार भी नहीं बढ़ाया है। मूल्यांकनकर्ताओं को चार साल पुरानी दर पर ही उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करना होगा। माशिमं के पीआरओ मुकेश मालवीय ने बताया कि इस साल भी मूल्यांकनकर्ताओं को 10वीं की कापी जांचने के 12 रुपये और 12वीं की कापी जांचने के 13 रुपये मिलेंगे।

Evaluation second step MP Board copy
Evaluation second step MP Board copy

चार साल पहले साल-2018 में मंडल ने मूल्यांकन शुल्क एक रुपये बढ़ाया था। मंडल की एक रिपोर्ट के अनुसार बीते वर्षों में हर तीन वर्ष में मूल्यांकन शुल्क बढ़ाया जाता रहा है। गुरुवार को कक्षा 10वीं की परीक्षाएं संपन्ना हो गई हैं। पहले चरण में 28 फरवरी तक हो चुकी 17 लाख विद्यार्थियों की परीक्षा की 60 लाख कापियों का मूल्यांकन 5 मार्च से शुरू करवा दिया है। इस बार जिला समन्वयक मूल्यांकन केंद्र स्तर पर ही मूल्यांकन की विषयवार जानकारी आनलाइन पोर्टल पर फीड कराई जा रही है। पहले ये जानकारी ओएमआर शीट पर भोपाल मुख्यालय मंगवाई जाती थी और भोपाल में नंबर आनलाइन चढ़ाए जाते थे। और इस साल भी ऑनलाइन रिजल्ट दिखाया जाएगा।

कैसे चेक करें मप्र बोर्ड 10वीं/12वीं का रिजल्ट 2021:-

  1. इसके लिए मप्र बोर्ड की वेबसाइट mpbse.nic.in पर जाएं।
  2. यहां मध्य प्रदेश बोर्ड 10वीं या 12वीं वीं एग्जाम रिजल्ट पर क्लिक करें।
  3. इसके बाद अपना रोल नंबर यहां इंटर करें।
  4. इसके बाद आपका मध्य प्रदेश बोर्ड रिजल्ट स्क्रीन पर आ जाएगा।
  5. रिजल्ट देखने के बाद स्क्रीन का प्रिंट अवश्य लें।

टीचर्स ने उठायी परीक्षा कैंसिल करने की मांग – जहां मध्य प्रदेश बोर्ड ने कुल 19 जरूरी विषयों की पेंडिंग परीक्षा कराने का निर्णय लिया, वहीं शिक्षकों ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इन परीक्षाओं को कैंसिल करने की मांग उठायी है. शिक्षकों के समूह की मांग है कि स्टूडेंट्स की सुरक्षा को देखते हुये कक्षा 10 और 12 की बची परीक्षाएं भी आयोजित नहीं होनी चाहिए. स्टूडेंट्स को इंटर्नल असेसमेंट के आधार पर अंक देकर पास कर देना चाहिए. सरकार ने इस संबंध में अभी कोई फैसला नहीं सुनाया है।

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE