भोपाल

कोरोना की तीसरी लहर आनी तय बूस्टर डोज पर फोकस होः विशेषज्ञ | covid 19 teesri lahar update

भोपाल : कोरोना महामारी को लेकर देश क एक जाने – माने स्वास्थय विशेषज्ञ ने सरकार को सजग किया है। विशेषज्ञ ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर आनी तय है और गंभीर रोंगों से ग्रस्त, कमजोर प्रतिरक्षा वालों और स्वास्थयकर्मियों की सुरक्षा को लेकर बूस्टर डोज के लिए रणनीतिक योजना बनाई जानी चाहिए।

कोरोना की तीसरी लहर आनी तय बूस्टर डोज पर फोकस होः विशेषज्ञ

Join

देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के मामले बढ़ने लगे है। वायरस के दूसरे वैरिएंट की तुलना में से बहुत संक्रामक भी माना जा रहा है। ऐस में फोर्टिस एस्काट्र्स हर्ट इंस्टीट्यूट के चेयरमैन डाॅ. अशोक सेठ ने कहा, यह अपरिहार्य है कि तीसरी लहर आने जा रही है। लोगों खासकर गंभीर बीमारियों से ग्रस्त, कमजोर प्रतिरक्षा वाले और स्वास्थयकर्मियों की सुरक्षा के लिए बूस्टर डोज की रणनीति बनाई जानी चाहिए।

चेतावनी : गंभीर रोगी व स्वास्थयकमियों की सुरक्षा के लिए योजना बनाई जानी चाहिए

देश में ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों पर उन्होंने कहा कि हम वास्तविक खतरे में और इसका सामना करे के लिए तैयारी करने की जरूरत हैं उन्होंने कहा कि यह वैरिएंट अत्यधिक संक्रामक है और प्रतिरक्षा को भी चकमा देता है। डाॅ. सेठ ने कहा, बीमारी की गंभीरता पूरी तरह से व्यक्ति की प्रतिरक्षा पर निर्भर है। भारत बहुत बड़ा देश है। और अगर इसकी आबादी का एक छोटा हिस्सा भी गंभीर रूप् से बीमार पड़ता है तो अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ जाएगी। ओमिक्रोन के संदर्भ में इंग्लैंड का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वहां जिन लोगों ने टीके नहीं लगवाएं हैं और जिनकी प्रतिरक्षा कमजोर है उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ रहा है।

covid 19 teesri lahar update
covid 19 teesri lahar update

कोरोना मौतों संबंधी मुआवजा पर उप्र सरकार को फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कोरोना से हुई मौतों के लिए मुआवजा राशि के वितरण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार को फटकार लगाई और कहा कि राज्य सरकार को इसे लेकर प्रत्येक जिले के सभी स्थानीय अखबारों में विज्ञापन देना चाहिए। शीर्ष अदालत ने महाराष्ट्ª में मुआवजा वितरण की धीमी गति पर नाराजगी जताई। वहीं इसका बेहतर ओर व्यापक रूप् से प्रचार करने के लिए गुजरात सरकार की सराहना की। कोरोना के चलते हुई मौतों के लिए विकसित एक पोर्टल के बारे में व्यापक प्रचार नहीं करने को लेकर पिछली सुनवाई में भी शीर्ष अदालत ने राज्यों को फटकार लगाई थी।

कोरोना संक्रमण में नरमी और सक्रिय मामलों में गिरावट जारी

देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में नरमी बनी हुई है। सक्रिय मामलों में भी गिरावट जारी है पिछले 24 घंटे के दौरान जहां सात हजार से कम नए मामले मिले हैं वहीं सक्रिय मामले भी करीब डेढ़ हजार कम हुए हैं। मरीजों के उबरने की दर बढ़ी है और दैनिक और साप्ताहित संक्रमण दर एक प्रतिशत से नीचे बरकरार है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बुधवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक सक्रिय मामले घटकर 87,562 रह गए हैं जो कुल मालों का 0.25 प्रतिशत है जो पिछले साल मार्च के बाद सबसे कम है। कोरोना महामारी के चलते 247 और मरीजों की जान भी गई है।

ओमिक्रोन के 12 और नए केस मिले, कुल संख्या 65 हुई

देश में कोरोना का ओमिक्रोन वैरिएंट तेजी से पांव पसारने लगा है। बुधवार को लगातार दूसरे दिन इसके 12 नए मामले मिले और कुल संक्रमितों की संख्या 65 तक पहुंच गई। एक दिन पहले भी महाराष्ट्र में आठ और दिल्ली में चार केस मिले थे। राष्ट्रीय राजधानी और महाराष्ट्र समेत 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तक यह वैरिएंट पहुंच गया है। महराष्ट्र और केरल में चार- चार केस मिले हैं। इनको मिलाकर महाराष्ट्र में ओमिक्रान के 32 मामले मिल चुके हैं जिनमें से 25 को तबीयत ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। केरल में संख्या बढ़कर पांच हो गई है।

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए आप लगातार physicshindi.com वेबसाईट पर विज़िट करते रहिए, तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल मत भूलिएगा।

You may also like

Comments are closed.