जनवरी से शुरू हो सकती तीसरी लहर | Covid 19 teesri lahar release from January

भोपाल : देश में कोरोना की तीसरी लहर जनवरी से शुरू हो सकती है और ओमिक्रोन वैरिएंट इसका प्रमुख कारण बन सकता है। देश में ओमिक्रोन के मरीजों की तेजी से बढ़ती संख्या को देखते हुए यह आशंका प्रबल हो गई है और इसकी कारण केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय कोरोना से जुड़े स्वास्थ्य ढांचे को फुलप्रूफ बनाने की कोशिश में जुट गया है। हालांकि ओमिक्रोन के कम घातक होने से मरीजों को दूसरी लहर की तरह अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ने की उम्मीद कम है।

कोरोना के सक्रिय मामलों में कमी, 343 और लोगों की मौत

देश में कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों में गिरावट जारी है। पिछले 24 घंटे के दौरान जहां 7974 नए मामले मिले हैं वहीं सक्रिय मामले 87,245 रह गए हैं। मरीजों के ठीक होने की दर बढ़ी है और दैनिक और साप्ताहिक संक्रमण दर एक प्रतिशत से नीचे बरकरार है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से गुरूवार सुबह आठ बजे जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक कोरोना महामारी के चलते 343 और मरीजों की जान भी गई है। इनमें केरल से 282 और बंगाल से 13 मौत का आंकड़ा इसलिए अधिक है क्योंकि राज्य में पहले हुई मौतों को नए आंकड़े के साथ मिला कर जारी किया जा रहा है।

Join

ओमिक्रोन की संक्रमित करने की क्षमता डेल्टा से 70 गुना अधिक

एक ताजा अध्ययन के अनुसार कोरोना का ओमिक्रोन वैरिएंट, डेल्टा और कोविड 19 के मूल स्ट्रेन सार्स-सीओवी 19 की तुलना में 70 गुना तेजी से संक्रमित करता है। लेकिन इसके कारण होने वाली बीमारी की गंभीरता बहुत कम होने की संभावना है। हांगकांग विवि के शोधकर्ताओं ने अध्ययन से पाया कि यह वैरिएंट श्वसन तंत्र को प्रभावित करता है। ओमिक्रोन मानव ब्रोन्कस में डेल्टा और मूल सार्स-सीओवी 2 की तुलना में 70 गुना तेजी से संक्रमित करता है।

नया खतरा: संक्रमण हल्का होने से दूसरी लहर की तरह तबाही की आशंका नहीं

covid 19 teesri lahar release from January
covid 19 teesri lahar release from January

113 देशों में भारत का टीकाकरण प्रमाण पत्र स्वीकार्यः सरकार

केंद्र सरकार ने गुरूवार को बताया कि 113 देश भारत के कोविड टीकाकरण प्रमाण पत्र को स्वीकार करते हैं। इनमें से कई देश तो टीकाकरण प्रमाण पत्र की परस्पर मान्यता के लिए भारत के साथ करार तक पहुंच चुके हैं, जबकि बाकी पूर्ण टीकाकृत लोगों के लिए अपने देश के प्रोटोकाॅलका अनुपालन करते हैं। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि सरकार भारतीय नागरिकों की विदेश यात्रा सुगम बनाना चाहती है।

अब तक 135 करोड़ से अधिक डोज़ लगाई गई

कोविड पोर्टल के शाम साढ़े छह बजे तक के आंकड़ो के मुताबिक देश में अब तक कोरोना रोधी वैक्सीन की कुल 135.84 करोड़ डोज लगाई जा चुकी है। इनमें 82.38 करोड़़ पहली और 53.45 करोड़ दूसरी डोज शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की और से बताया गया है कि केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक 141.80 करोड़ वैक्सीन की डोज सप्लाई की जा चुकी है। राज्यों के पास अभी 16.42 करोड़ अप्रयुक्त डोज शेष हैं जिन्हें लोगों को लगाया जाना है।

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए आप लगातार physicshindi.com वेबसाईट पर विज़िट करते रहिए, तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल मत भूलिएगा।