उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव की दो टूक College offline Exam नही होंगी

College offline Exam : मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने यहां स्पष्ट किया की इसी सत्र में परीक्षाएं ऑफलाईन होंगी. प्रदेश के किसी भी विश्वविद्यालय में ऑनलाईन परीक्षा नहीं होगी. जबलपुर में एक विवाह समारोह में शामिल होने आए उच्च शिक्षा मंत्री श्री यादव ने यह बात या पत्रकारों से आनोपचारिक चर्चा में कही. तो वहीं दूसरी ओर छात्र संगठनों ने सर्विसट हाऊस में उनका घेराव कर विरोध दर्ज कराया. उच्च शिक्षा मंत्री की दो टूक के बाद अब छात्र संगठनभी उग्र आंदोलनकी तैयारी में हैं. जबलपुर प्रवास पर आए उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने कहा हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती है शिक्षा की गुणवत्ता स्तर को बरकरार रखना।

College offline exam
Join

Table of Contents

College offline Exam को लेकर शिक्षा मंत्री ने क्या कहा जाने

हम बच्चों को केवल डिग्रियां ही नहीं बांटना चाहते। इसलिए हमारा प्रयास है कि अब किसी भी विश्वविद्यालय में आनलाइन परीक्षा नहों। मोहन यादव ने कहा कि उच्चशिक्षा प्राप्तकरने के बाद युवा नौकरी की तलाश में जुट जाते हैं। पांच से सात प्रतिशत युवा ही सरकारी सेवाओं में जा पाते हैं, शेष 90 प्रतिशत से ज्यादा युवा निजी क्षेत्र में पथ आजमाते हैं। निजी क्षेत्र में प्रतिस्पर्धास्वाभाविकतौर पर बढ़ जाती है, इसलिए सरकार नई पीढ़ी को डिग्रियां बांटनेकी बजाय उनकी योग्यता में गुणात्मक सुधार लाना चाहती है। इसलिए प्रदेश सरकार का प्रयास है कि मार्च में होने वाली महाविद्यालयीन परीक्षाओं में शामिल करीब 18 लाख परीक्षार्थी आफलाइन तरीके से शामिल हों। इसके लिए सभी अतिरिक्त संचालकों और विश्वविद्यालयों को आवश्यक निर्देश दिए जा रहे हैं। जो परीक्षार्थी कोरोना की वजहसे परीक्षाओं से वंचित रहगए थे उनको एक मौका और दिया जा रहा है।

Read More : एमपी बोर्ड परीक्षा पर आज की खबर-

Read More : एमपी कॉलेजों में अप्रैल में सकते हैं छात्रसंघ चुनाव

क्यों है offline Exam को लेकर 2 टूक बयान

योग्यता होगी चयन का आधार सरकार ने सैद्धांतिक रूपसे स्वीकार कर लिया है कि जिस तरह से दूसरे विभागों तदर्थमरखे गए लोगों को भतियों में प्राथमिकता दी गई, उसी प्रकार से सहायक प्राध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया में भी अतिथि विद्वानों को लाभ दिया जाए। लेकिन इसके लिए केवल उनकेअनुभव को आधार नहीं बनाया जाएगाअपित संबधित अतिथि विद्वानकी योग्यता का भी मूल्यांकन किया जाएगा।

छात्र संगठनों ने किया घेराव

रविवार सुबह नगर प्रवास पर पहुंचे उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव से मिलने बड़ी संख्या मे छात्र संगठनके प्रतिनिधि सर्किट हाउस पहुंचे।जबलपुर लॉ स्टूडेंट एसोसिएशन के बिलाल शाह ने बताय कि उच्च शिक्षा मंत्री के समक्ष कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुएओपन बुक पद्धति से विश्वविद्यालयों व कॉलेजों में परीक्षाएंआयोजित कराए जाने की मांग रखी। चर्चा के दौरान उच्च शिक्षा मंत्री ने बताया कि स्थिति पर लगातार नजर रखी जारही है।

JOIN WHATSAPP GROUPCLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUPCLICK HERE
PHYSICSHINDI HOMECLICK HERE