बीएससी का छात्र दूसरे की जगह दे रहा था 10वीं की परीक्षा, धराया

मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा संचालित 10वीं की परीक्षा में शुक्रवार को प्रदेश में आठ नकलची पकड़े गए। यहां शांति किशोर डीएलएड परीक्षा केंद्र पर एक फर्जी परीक्षार्थी को केंद्राध्यक्ष ने पकड़ लिया। ये परीक्षार्थी बीएससी का छात्र है, जोकि दसवीं का हिंदी का पेपर देने आया था। पकड़े गए फर्जी छात्र को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार सुबह भिण्ड के जनता शिवहरे हायर सेकंडरी स्कूल परीक्षा केंद्र शांति किशोर डीएलएड बनाया गया। यहां पढ़ने वाला दसवीं का छात्र रोमी निगम के स्थान पर नुन्हाटा का रहने वाले शिवम तोमर को परीक्षा में बैठाया गया। परीक्षा केंद्र पर जब हस्ताक्षर का मिलान किया जा रहा था। इसी दौरान फर्जी परीक्षार्थी को पकड़ा गया। जब केंद्रा अध्यक्ष राजकुमार दौहरे ने परीक्षार्थी से उसकी मां का नाम पूछा तो वो चुप रह गया। वो असली परीक्षार्थी की मां का नाम नहीं बता पाया। आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया।

असली छात्र पर भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसी प्रकार भिंड के ऊमरी स्थित शासकीय हायर सेकंडरी परीक्षा केंद्र में 10वीं के हिन्दी के पेपर में एक नकलची पकड़ा गया। वहीं मुरैना जिला शिक्षा धिकारी ने बताया कि पोरसा में दो नकल प्रकरण बनाये गए, जिनका रोलनंबर 121128158 और 121143060 है।  इधर ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय के परीक्षा भवन में सुबह की शिफ्ट में एमबीए हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की एक छात्रा को नकल करते हुए वीक्षक ने पकड़ा और उसका अनुचित साधन इस्तेमाल करने का प्रकरण बनाया। छात्रा के पास हाथ से लिखी पर्ची बरामद की गई। बैतूल में चार प्रकरण बने  कक्षा 10 वीं की परीक्षा में स्वाध्यायी परीक्षार्थियों के लिए बनाए गए परीक्षा केंद्र शासकीय मॉडल स्कूल भीमपुर में तीन एवं शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय चिचोली में चार छात्रों द्वारा अनुचित साधन अपनाए जाने संबंधी प्रकरण इन केंद्रों पर नियुक्त केंद्र अध्यक्षों के द्वारा पंजीबद्ध किए गए।

हाईस्कूल परीक्षा: कई केंद्रों पर बनी अव्यवस्था, बुलाना पड़ा पुलिस बल:-

भोपाल (आरएनएन)। प्रदेश में शुक्रवार से प्रारंभ हुई परीक्षा में अनेक अव्यवस्थाएं देखने को मिली हैं। राजधानी में जहां बच्चों को बैठक व्यवस्था से जूझना पड़ा, वहीं फीस जमा करने के बाद भी परीक्षा से वंचित विद्यार्थी थानों की देहरी पर न्याय की गुहार लगाते रहे। रायसेन में परीक्षा देने के लिए परेशान हुए बच्चों की पीड़ा मंडल ने समझी हैं। यहां जवाबदारों से स्पष्टीकरण मांगा जा रहा है। हाईस्कूल परीक्षाओं के दौरान कई जगह अवस्थाएं देखी गईं पुराना भोपाल क्षेत्र में फूल महल क्रमांक एक परीक्षा केंद्र पर बच्चों को बैठने की जगह की कमी रही। जहां पर कक्ष की कमी होने के कारण बच्चों को गैलरी में बैठाया गया तो सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया गया।  एक या दो दिन में बैठने की बेहतर व्यवस्था कर दी जाएगी। कमला नेहरू नवीन कन्या हमीदिया क्रमांक एक जैसे स्कूलों में भी सैनिटाइजेशन का आभाव पाया गया। केंद्राध्यक्षों को निर्देश दिए गए कि परीक्षाओं के दौरान कोरोना गाइडलाइन का भी पालन करना है। इस कारण हर केंद्र पर सैनिटाइजेशन होना जरूरी है।

BSC Student 10th Exam 2022 Related News
BSC Student 10th Exam 2022 Related News

बच्चों को छोड़कर भागा स्कूल संचालक होगी कार्रवाई:-

बंगरसिया के एक निजी स्कूल में कोई आधा दर्जन बच्चे स्कूल संचालक की लापरवाही के कारण परीक्षा देने से वंचित रह गए। जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने बताया कि एमजीएम कान्वेंट स्कूल संचालक द्वारा इन बच्चों को प्रवेश पत्र उपलब्ध नहीं कराए गए जबकि इनकी पूरी फीस जमा थी। उन्होंने बताया कि अभिभावकों की शिकायत पर स्कूल संचालक पर कार्यवाही की जा रही है। जानकारी है कि यह सभी बच्चे थाना भी पहुंचे। जहां फीस जमा करने की रसीदें पुलिस को बताई गई नाराज बच्चों के अभिभावकों द्वारा स्कूल में ताला जड़ दिया गया है। इनकी एक ही मांग थी कि स्कूल संचालक पर कठोर कार्रवाई की जाए।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

 

Leave a Comment