बोर्ड परीक्षा की तैयारी में जुटा शिक्षा विभाग, ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ा तो तिमाही व छमाही परीक्षा के आधार पर बनेगा रिजल्ट

इम्तिहान पर इस साल भी संकट शासन के निर्देश पर तिमाही व छमाही परीक्षाओं का रिजल्ट पोर्टल पर किया जा रहा फीड, बोर्ड परीक्षा की तैयारी में जुटा शिक्षा विभाग, ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ा तो तिमाही व छह माही परीक्षा के आधार पर बनेगा रिजल्ट

बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी के साथ-साथ दूसरे विकल्प भी किए जा रहे तैयार

आगामी 17 फरवरी माह से आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षाओं को लेकर शिक्षा विभाग तैयारियों के अंतिम रूप दिया जा रहा है। इस बार जिले में 83 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित कराई जाएगी। इनमें 5 संवेदनशील व 8 अतिसंवेदनशील केंद्र बनाए गए हैं। इस बार कक्षा 10वीं कुल 19480 एवं बारहवीं में 14 हजार 974 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। इधर परीक्षाओं पर ओमिक्रॉन वायरस का खतरा भी मंडराने लगा है।

पिछले कुछ दिनों से प्रदेश के महानगरों में ओमिक्रॉन तेजी से फैलने लगा है। ऐसे में 17 फरवरी तक यह वायरस प्रदेश के अनेक जिलों को अपनी चपेट में ले सकता है। ऑफलाइन परीक्षाएं कराने से हजारों बच्चों में वायरस फैल सकता है। इसी खतरे को भांपते हुए माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा समस्त जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर तिमाही एवं छमाही परीक्षाओं का रिजल्ट तत्काल ही पोर्टल पर लोड कराने के निर्देश किया गया है।

boards exam update 2022
boards exam update 2022

ताकि यदि ओमीक्रान के चलते परीक्षाएं टलती हैं तो तिमाही एवं छमाही परीक्षाओं के रिजल्ट के आधार पर कक्षा 9वीं से लेकर 12वीं तक के बच्चों का फाइनल रिजल्ट तैयार किया जा सका। इधर मंडल के निर्देश मिलते ही शिक्षा विभाग द्वारा हाल ही रिजल्ट को फीड करने का काम भी शुरू कर दिया है। अधिकारियों के मुताबिक तिमाही परीक्षाओं का रिजल्ट फीड भी हो चुका है, अब केवल छमाही परीक्षाओं का रिजल्ट फीड होना बाकी है।

गौरतलब है कि कोरोना के चलते बीते साल बोर्ड परीक्षाएं आयोजित नहीं की गई थी, जिससे बच्चों को तिमाही और अर्द्धवार्षिक परीक्षाओं के आधार पर जनरल प्रमोशन देकर पास किया गया था। लेकिन इस साल तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए फरवरी माह में ही बोर्ड परीक्षाएं कराई जा रहीं हैं।

पांच संवेदनशील, 8 अतिसंवेदनशील केंद्र

जिन केंद्रों पर नकल की ज्यादा संभावना रहती है वहां संवेदनशील व अतिसंवेदनशील केंद्र बनाए गए हैं। संवेदनशील केंद्रों में मडियादो, पटेरा, सिंग्रामपुर, बटियागढ़, स्वामी विवेकानंद बनवार शामिल है। वहीं अतिसंवेदनशील केंद्रों में उत्कृष्ट विद्यालय दमोह शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल इमलियाघाट, बटियागढ़, मॉडल स्कूल तेंदूखेड़ा, तेजगढ़, खड़ेरी, बनवार स्कूल शामिल हैं। बताया गया है कि बनवार, तेंदूखेड़ा, नोहटा, बालाकोट ऐसे केंद्र हैं, जहां पर नकल कराने के लिए कुछ दलालनुमा लोग छात्र छात्राओं से मोटी रकम लेते हैं। इसके बाद अधिकारियों से सेटिंग करके जमकर नकल कराई जाती है। इनमें केंद्राध्यक्षों व सहायक केंद्राध्यक्षों की भूमिका रहती है।

मंडल ने निर्देश जारी किए

” बोर्ड परीक्षाओं को लेकर हमारी तैयारियां लगभग पूर्ण हो चुकी हैं। शिक्षा विभाग दोनों तरह की तैयारियों में जुटा है। यदि स्थिति सामान्य रही तो परीक्षाएं अपने निर्धारित समय में पूर्ण कराई जाएंगी, और यदि ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ा तो फिर तिमाही व छमाही परीक्षाओं के आधार पर रिजल्ट तैयार होगा। हाल ही में माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आदेश जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि तिमाही व छमाही परीक्षाओं का रिजल शीघ्र ही पोर्टल में फीड किया जाए। – एसके मिश्रा, जिला शिक्षा अधिकारी

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUPCLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUPCLICK HERE
PHYSICSHINDI HOMECLICK HERE