बोर्ड एग्जाम की ऑनलाइन फीस जमा करवाने के नाम पर स्कूल संचालिका से ढाई लाख रुपए की ठगी।

कंपू थाना इलाके में स्थित स्कूल संचालिका को कियोस्क संचालक द्वारा बोर्ड एग्जाम की फीस ऑनलाइन फीस जमा करवाने के नाम पर ढाई लाख रुपए की चपत लगा दी गई। जब स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को फीस जमा नहीं होने के कारण प्रवेश पत्र नहीं मिले, तब संचालिका को इसका पता लगा, जिस पर उन्होंने थाने पहुंचकर शिकायत की। स्कूल संचालिका की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर उसे राउंडअप कर उससे पूछताछ शुरू कर दी है। कंपू थाना क्षेत्र में स्थित शंकुतला देवी मेमोरियल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की संचालिका रमा पनी वीरेंद्र पांडेय ने शिकायत की है, कि चूंकि अब बोर्ड एग्जाम की फीस ऑनलाइन ही जमा होती है।

जिससे उन्होंने अपने स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को ऑनलाइन फीस जमा करवाने सहित संबंधित अन्य कार्यों का जिम्मा ऑनलाइन कियोस्क सेंटर चालने वाले दीपक जैन को सौंपा हुआ था, जिसके चलते उन्होंने स्कूल में अध्ययनरत दसवीं और 12वीं के स्टूडेंट्स की एग्जाम फीस जमा करवाने को करीब ढाई लाख रुपए दीपक को दिए थे। जो उसने जमा नहीं करवाए। उन्होंने जब दीपक से इस संबंध में चर्चा की, तो हर बार कोई न कोई बहाना बनाकर उन्हें टालता रहा। अंततः परेशान होकर उन्हें थाने की मदद लेना पड़ रही है। स्कूल संचालिका की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है, जिस पूछताछ की जा रही है।

सता रही एग्जाम में नहीं बैठ पाने की चिता:-

फरियादिया के मुताबिक उन्होंने कुल 32 स्टूडेंट्स की फीस के पैसे दीपक को दिए थे, चूंकि आगामी 17 फरवरी से बच्चों की एग्जाम शुरू हो रही हैं, ऐसे में अबतक उनके प्रवेश पत्र नहीं आने से स्टूडेंट्स के साथ ही उनके पैरेंट्स को उनके एग्जाम में नहीं बैठ पाने की चिता सता रही है। कभी सर्वर डाउन, तो कभी पिता की बीमारी का बहाना फरियादिया के मुताबिक उन्होने कई बार दीपक सैफीस जमा करवाने की रिसीविंग मांगी, लेकिन कभी वह सर्वर डाउनबता देता, तो कभी पिता के बीमार होने का बहाना बनाकर टाल जाता। शका होने पर भोपाल से पता करनेपर ज्ञात हुआ कि उसने फीस की रकम जमा ही नहीं करवाई है।

Join
Board Exam in Online Fees Submit News
Board Exam in Online Fees Submit News

लेट फीस के नाम पर दस हजार रुपए भी वसूले:-

रमा देवी ने पुलिस को बताया है कि बच्चों की फीस जमा नहीं होने की जानकारी मिलने पर उन्होंने दीपक से चर्चा की, तोउसनेफीस जमा करने की निर्धारित तिथि निकल जाने की बात कहकर उनसेलेट फीसके लिए और मांगे। बच्चों के भविष्य को देखते हुए यह दस हजार रुपए भी उसे दे दिए, उसके बावजूद उसने फीस जमा नहीं करवाई। इनका कहना है । स्कूल संचालिका द्वारा आरोपी के खिलाफ बच्चों की फीस के पैसेहड़प लेने की शिकायत की गई है, जिसपर आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ीका प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

 

 

Leave a Comment