स्कूलों में विद्यार्थियों की सही से कॉपी चैक नहीं करते टीचर, 63 की रोकी वेतनवृद्धि।

राजधानी समेत भोपाल संभाग के सरकारी स्कूलों में शिक्षक विद्यार्थियों की कॉपी सही से चैक नहीं करते है। शिक्षक कॉपी चैक करने के दौरान गलतियां छोड़ देते है। राजधानी में ऐसे 63 शिक्षक व भोपाल संभाग में कुल 556 के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। दरअसल राज्य शिक्षा केंद्र ने संभागीय संयुक्त संचालकों को टीम बनाकर प्रायमरी व मिडिल स्कूलों का औचक निरीक्षण कर शैक्षणिक गुणवत्ता परखने के निर्देश दिए थे। निरीक्षण के दौरान अकादमिक गतिविधियों में कमियां पाए जाने पर तत्काल निरीक्षणकर्ता द्वारा स्थल पर ही कारण बताओ सूचना पत्र जारी करना था। भोपाल संभाग में जेडी राजीव तोमर ने भोपाल, विदिशा, सीहोर, रायसेन, राजगढ़ के डीईओ, डीपीसी, सहायक संचालक बीआरसीसी की टीमें गठित की भोपाल

संभाग में बीती 17 से 19 फरवरी के बीच 1995 स्कूलों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण दौरान छात्रों का अकादमिक स्तर तथा शिक्षकों द्वारा बच्चों की कॉपियों, अभ्यास पुस्तिकाओं को व्यवस्थित जांचा जा रहा है अथवा नहीं इसकी भी मानिटरिंग की गई। तीन दिन चले औचक निरीक्षण के दौरान 1365 स्कूलों में 556 शिक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई की गई। जबकि राजधानी में 220 स्कूलों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान 63 शिक्षकों पर कार्रवाई की गई है। इसमें 54 शिक्षकों की वेतनवृद्धि रोकी गई व 9 शिक्षकों का वेतन रोका गया है। तीन दिन के सघन निरीक्षण के दौरान 1995 स्कूलों का निरीक्षण किया गया। इन स्कूलों में से 1365 स्कूल ऐसे है, जिसमें विधिवत कॉपी जांच में 100 प्रतिशत त्रुटि सुधार पाया गया 630 ऐसे स्कूल मिले, जहां कॉपी जांचने का कार्य ही पूर्ण रूप से नहीं किया गया था। ऐसे स्कूलों के 556 शिक्षकों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। उन शिक्षकों को स्थल पर ही वेतन रोकने अथवा वेतन वृद्धि रोकने के कारण बताओ सूचना  जारी किए गए।

स्कूल शिक्षा विभाग संचालित करेगा श्रमोदय विद्यालय

भोपाल, मुप्र । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि स्कूल शिक्षा विशेषज्ञता का क्षेत्र है। स्कूल शिक्षा विभाग शिक्षा में गुणवत्ता, शिक्षक प्रशिक्षण, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति की भावना के अनुरूप आवश्यक गतिविधियों व स्मार्ट क्लासेज का संचालन कर रहा है। इस विशेषज्ञता का लाभ श्रमोदय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को भी मिले। यह आवश्यक है कि श्रमोदय आवासीय विद्यालयों का संचालन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा किया जाए। प्रदेश में संचालित श्रमोदय आवासीय विद्यालयों का एक पृथक वर्टिकल भी विभाग में स्थापित किया जाए। इसके संचालन का दायित्व स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में ख्याति प्राप्त विशेषज्ञ को सौंपा जाए। मुख्यमंत्री बुधवार को निवास कार्यालय में श्रमोदय आवासीय विद्यालयों के संचालन की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के श्रमोदय विद्यालयों में सीएम राइज स्कूल से बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। इन विद्यालयों का व्यापक प्रचार प्रसार सुनिश्चित किया जाए, जिससे प्रदेश के श्रमिक वर्ग के बच्चे अधिक से अधिक संख्या में इन विद्यालयों से जुड़ सकें। इन शालाओं से अध्ययन पूर्ण कर निकलने वाले विद्यार्थियों को आगे के अध्ययन के लिए भी मार्गदर्शन उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में श्रमिकों के बच्चों के लिए हो रही इस पहल को देश में मिसाल बनना चाहिए।

Board Exam Copy Checking 2022 News
                                                    Board Exam Copy Checking 2022 News

भोपाल संभाग में 556 शिक्षकों के विरुद्ध की गई कार्रवाई:-

भोपाल संभाग में निरीक्षण के दौरान 556 शिक्षकों का वेतन या वेतनवृद्धि रोकी गई है। इस प्रकार के सघन निरीक्षण भविष्य में संचालित होंगे। सभी शिक्षक नियमित रूप से स्कूल में उपस्थित  तथा छात्रों की वर्कबुक व कॉपियों की चैकिंग विधिवत रूप से करें। उनमें त्रुटि पाए जाने पर त्रुटि सुधार कर छात्रों को सही समझाईश दें। राजीव तोमर, संभागीय संयुक्त संचालक भोपाल संभाग।

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

Leave a Comment