एमपी बोर्ड परीक्षा बनी तमाशा, कक्षों में बेरोक-टोक पहुंच रही नकल सामग्री

एमपी बोर्ड परीक्षा में नकल पर नकेल कसने के लिए कलेक्टर सेवा एवं जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा किए जा रहे प्रयास एवं मेहनत में तथाकथित कुछ विभागीय जिम्मेदार कर्मचारी शिक्षा माफिया के चंगुल में फंसकर उच्च अधिकारियों के आदेश को धता बताते हुए खुलेआम नकल कराने में सहयोगी बने हुए हैं। नईगढ़ी विकासखंड अंतर्गत आने वाले उत्कृष्ट विद्यालय एवं मॉडल स्कूल जैसे परीक्षा सेंटरों को यदि अभिशाप के रूप में छोड़ दिया जाए तो नकल के लिए मशहूर परीक्षा केंद्र भीर में भी बरसों बाद इस साल सुधार की स्थिति निर्मित हुई है लेकिन शा. कन्या हायर सेकंडरी विद्यालय एवं बधवा में आज भी शिक्षा माफिया का बोलबाला चरम पर है। आलम यह है कि नईगढ़ी मुख्यालय स्तर पर प्राइवेट छात्रों के लिए बनाए गए परीक्षा केंद्र कन्या हायर सेकंडरी विद्यालय में परीक्षा दे रहे विद्यार्थियों के लिए अंदर ही नहीं बाहर से भी नकल सामग्री खुलेआम पहुंचाई जाती है। वैसे तो यहां के जिम्मेदार परीक्षा केंद्र में नकल होने जैसी बात को लेकर अपने तर्कों में सिरे से नकारते देखे गए।

लेकिन वाहवाही लूटने वाले तर्क बुधवार को उस समय झूठे साबित हुए जब मीडिया टीम परीक्षा केंद्र के आसपास की दुकानों सड़क किनारे बने टपरों सहित कुछ रिहायशी घरों के आसपास का जायजा लिया तो पाया कि दर्जनों स्थानों में खुलेआम गाइड किताबें लेकर निजी विद्यालय एवं कोचिंग संचालक अपने सहयोगियों के साथ प्रश्नों के उत्तर तैयार करते नजर आए। इतना ही नहीं परीक्षा केंद्रों के अंदर ड्यूटी रत कुछ कर्मचारियों एवं कोचिंग संचालकों सहित कुछ अभिभावक पुलिस की वर्दी पहने धड़ाने से परीक्षा कक्षों के अंदर नकल सामग्री पहुंचाते नजर आए। हालांकि मीडिया कर्मियों का कैमरा देख नकल माफिया मौके से रफूचक्कर हो लिए लेकिन जैसे ही मीडिया कर्मी इधर-उधर हुए वैसे ही पुरानी परंपरा अनुसार आसानी से किताबों के टुकड़े परीक्षा केंद्रों के मुख्य द्वार के रास्ते और खिड़कियों के सहारे बेरोकटोक पहुंचते रहे।

कैसे सड़कों तक पहुंचता है बोर्ड परीक्षा पेपर अपने आप की बेहतर :-

साबित करने के लिए वाहवाही लूटने वाले जिम्मेदारों की कार्यप्रणाली पर सबसे बड़ा सवाल उठने लगा है कि आखिर बोर्ड परीक्षाओं के बंडल खुलते ही सड़कों एवं सड़कों के किनारे बने टपरों दुकानों तक बोर्ड परीक्षा के पेपर में आए प्रश्न कैसे पहुंच जाते हैं। परीक्षा केंद्र के अंदर से प्रश्न बाहर आना जिसके आधार पर परीक्षा केंद्र के आसपास नकल सामग्री तैयार होना और आसानी से परीक्षा कक्ष तक पहुंचना कहीं न कहीं परीक्षा केंद्र की व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाते हैं। यह भी सवाल उठता है कि सड़कों के आसपास दुकानों एवं कार्यालयों में तैयार की गई नकल सामग्री बिना रोक-टोक के परीक्षा केंद्र के अंदर कैसे पहुंच रही है। सूत्रों की माने तो तथाकथित नकल के ठेकेदारों द्वारा की जा रही चाय नाश्ता एवं चंद लिफाफे की व्यवस्था के लालच में कुछ जिम्मेदार ही शिक्षा माफिया को उपकृत कर रहे हैं। कोचिंग संचालक एवं निजी विद्यालयों के कर्ता-धर्ता परीक्षा केंद्र के अंदर एवं बाहर धमाचौकड़ी मचाते हैं।

Join
Board Exam 2022 Cheating news
Board Exam 2022 Cheating news

नियम को दरकिनार कर लगाई गई पर पर्यवेक्षकों की ड्यूटी:-

बोर्ड परीक्षा सुचारू रूप से संपन्न हो जिसके लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा आदेश जारी किया गया की पर्यवेक्षक के रूप में जिन शिक्षकों को ड्यूटी लगाई जाए वह शिक्षक कम से कम दूसरे संकुल के हो जिससे नकल पर नकेल कसा जा सके। लेकिन यहाँ देखने में कुछ और ही स्थिति सामने आई उच्च अधिकारियों द्वारा परीक्षा को सुचारू रूप से संचालित करने हेतु दूसरे संकुल केंद्रों के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई लेकिन नईगढ़ी विकासखंड में बनाए गए बोर्ड परीक्षा केंद्रों में उसी विद्यालय के शिक्षक उसी विद्यालय में बोर्ड परीक्षा की ड्यूटी दे रहे हैं। पुष्ट सूत्रों की माने तो भीर संकुल में पदस्थ शिक्षकों की ड्यूटी कन्या हायर सेकंडरी विद्यालय में लगाई गई थी लेकिन एक योजनाबद्ध तरीके से उन शिक्षकों की ड्यूटी न लगा कर जिम्मेदारों द्वारा स्थानीय शिक्षकों से बतौर पर्यवेक्षक ड्यूटी कराई जा रही है।

आरोप ती यह भी लगे हैं कि शिक्षा माफिया को उपकृत करने के लिए सारे नियम कायदों को दरकिनार कर उसी विद्यालय एवं संकुल में पदस्थ शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है शायद इसी के चलते नकल पर नकेल कसने में जिम्मेदारों को भी परेशानियों भरे दौर से गुजरना पड़ रहा है। स्थिति चाहे जो हो लेकिन यह हकीकत है कि नईगढ़ी स्थित कन्या हायर सेकेंडरी परीक्षा केंद्र के आसपास की दुकानों घरों एवं झोपड़ियों में बोर्ड परीक्षा के समय खुलेआम नकल सामग्री तैयार की जाती है और बिना रोक-टोक के परीक्षा कक्षों के अंदर पहुंचना आम हो चुका है।

 

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE